लाइव टीवी

COVID-19: लॉकडाउन से लौटे चाचा चौधरी-साबू, नागराज और लोटपोट कॉमिक्स के दिन
Lucknow News in Hindi

MANISH KUMAR | News18 Uttar Pradesh
Updated: March 23, 2020, 1:49 PM IST
COVID-19: लॉकडाउन से लौटे चाचा चौधरी-साबू, नागराज और लोटपोट कॉमिक्स के दिन
नागराज और लोटपोट कॉमिक्स के लौटे दिन

कोरोना वायरस (Coronavirus) सरकार द्वारा यूपी के 16 जिलों में लॉकडाउन (Lock Down) किया गया है. लॉकडाउन ने 25 से 30 साल पहले यूथ के बीच अपनी पैठ रखने वाली कॉमिक्स के दिन फिर से लौटा दिए हैं.

  • Share this:
लखनऊ. कोरोना वायरस (Coronavirus) सरकार द्वारा यूपी के 16 जिलों में लॉकडाउन (Lock Down) किया गया है. लॉकडाउन ने 25 से 30 साल पहले यूथ के बीच अपनी पैठ रखने वाली कॉमिक्स के दिन फिर से लौटा दिए हैं. चाचा चौधरी और साबू, नागराज, इंद्रजाल, चंपक, लोटपोट, पिंकी और बिल्लू के कॉमिक्स लोग एक-दूसरे को व्हाट्सएप पर फॉरवर्ड कर रहे हैं. लॉकडाउन की वजह से घरों से बाहर निकलने की मनाही है. ऐसे में बच्चों के साथ-साथ नौकरी पेशा लोगों के लिए भी घर में समय काटना बड़ी चुनौती बन गया है.

कॉमिक्स को लेकर बच्चों और यूथ में क्रेज

लॉकडाउन के बीच समय बिताने के लिए इन कॉमिक्स का जमकर सहारा लिया जा रहा है. लखनऊ में रहने वाले दिशांत सिंह ने न्यूज 18 से बातचीत में बताया कि उन्होंने ढेरों कॉमिक्स अपने दोस्तों को फॉरवर्ड किए हैं, जो उन्हें पीडीएफ फाइल के रूप में व्हाट्सएप के जरिए मिले थे या मिल रहे हैं. बता दें कि 1990 के दौर में इन कॉमिक्स का बच्चों और यूथ के बीच बड़ा क्रेज था. लेकिन धीरे-धीरे मनोरंजन के दूसरे साधन मार्केट में उपलब्ध होने के साथ कॉमिक्स बाजार से गायब हो गए. लेकिन कोरोना वायरस की वजह से हुए लॉकडाउन से एक बार फिर इन कॉमिक्स का दौर लौटता दिख रहा है. भले ही यह तब तक ही कारगर हो जब तक लॉक डाउन चल रहा है. लेकिन लोगों को समय बिताने के लिए अच्छा साधन जरूर मिल गया है.

पूरी दिनचर्या का चार्ट बनाकर करें पालन



बरेली के रुहेलखंड विश्वविद्यालय के प्रोफेसर रहे और बच्चों पर 60 से ज्यादा किताबें लिख चुके मोहम्मद इदरीश सिद्दीकी ने लॉक डाउन के समय क्या-क्या करना चाहिए, इस पर न्यूज 18 से बात की. उन्होंने बताया कि हम जिस तरीके से ऑफिस जाने के लिए तैयार होते थे, अब भी इसी तरह बच्चों को तैयार करना चाहिए और खुद भी तैयार होना चाहिए. यह अलग बात है कि तैयार होकर घर में बैठें. बच्चों को तैयार करने के बाद उन्हें स्कूल की तरह ही कमरे में बैठा कर पढ़ाएं. इसके साथ-साथ उन्हें कुछ एक्सरसाइज करने की सलाह भी दें.

सिद्दीकी बताते हैं कि हम अपने रूटीन लाइफ में जो काम किया करते थे, उसका एक पूरा लिखित चार्ट बनाएं और घर पर रहते हुए इसका पालन करें. बच्चों के रूटीन के हिसाब से उनकी दिनचर्या का भी चार्ट बनाएं और वैसा ही पालन करने की कोशिश करें.

पीएम ने भी ट्वीट कर लॉकडाउन को गंभीरता से लेने की अपील की

इस बीच प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर कहा है कि लॉकडाउन को अभी भी कई लोग गंभीरता से नहीं ले रहे हैं. कृपया करके अपने आप को बचाएं, अपने परिवार को बचाएं, निर्देशों का गंभीरता से पालन करें. राज्य सरकारों से मेरा अनुरोध है कि वो नियमों और कानूनों का पालन करवाएं.

ये भी पढ़ें:

Janata Curfew: छात्रों ने AMU में थाली बजाकर सीएए-एनआरसी के खिलाफ की नारेबाजी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 23, 2020, 1:22 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर