Home /News /uttar-pradesh /

Opinion: मोदी- योगी के प्रयास से अब खुलेंगे पूर्वांचल में रोजगार के द्वार

Opinion: मोदी- योगी के प्रयास से अब खुलेंगे पूर्वांचल में रोजगार के द्वार

पीएम मोदी और सीएम योगी के कार्यकाल की एक बड़ी विशेषता है कि विकास योजनाएं समय सीमा में पूरी हो रही हैं.

पीएम मोदी और सीएम योगी के कार्यकाल की एक बड़ी विशेषता है कि विकास योजनाएं समय सीमा में पूरी हो रही हैं.

पूर्वांचल (Purvanchal) की पहचान तेजी से बदल रही है. इसके नाम के साथ लगा पिछड़ेपन (Backwardness) का दाग धुल रहा है. आधारभूत संरचनाओं (Infrastructure) के निर्माण के साथ ही अब इसके औद्योगिक विकास की तस्वीर (Industrial Development Road Map) भी साफ दिखने लगी है. जाहिर है अब रोजगार के व्यापक अवसर पैदा होने (Employment Generation) की संभावनाएं बलवती हो गयी हैं.

अधिक पढ़ें ...

लखनऊ. पूर्वांचल (Purvanchal) की पहचान तेजी से बदल रही है. इसके नाम के साथ लगा पिछड़ेपन (Backwardness) का दाग धुल रहा है. आधारभूत संरचनाओं (Infrastructure) के निर्माण के साथ ही अब इसके औद्योगिक विकास की तस्वीर (Industrial Development Road Map) भी साफ दिखने लगी है. जाहिर है अब रोजगार के व्यापक अवसर पैदा होने (Employment Generation) की संभावनाएं बलवती हो गयी हैं. यह सब हो रहा है पीएम मोदी और सीएम योगी (PM Narendra Modi- CM Yogi Adityanath) के डबल इंजन वाली सरकार के द्वारा, जो आजकल पूर्वांचल केन्द्रित विकास परियोजनाओं के सफल क्रियान्वयन के लिए देश-दुनिया में सुर्खियां बटोर रही हैं.

नये साल में खुलेंगे रोजगार के नये द्वार
पूर्वांचल के अहम इलाके गोरखपुर की बात करें, तो वहां नये साल में रोजगार के बड़े अवसर युवाओं का इंतजार कर रहे हैं. अकेले गोरखपुर औद्योगिक विकास प्राधिकरण ( गीडा) में हजारों लोगों को रोजगार मिलने की गारंटी है. 300 करोड़ की लागत से गीडा में लग रही अंकुर समूह की सरिया बनाने की एकीकृत फैक्ट्री में अप्रैल महीने से उत्पादन शुरू हो जाने की संभावना है. अकेले इस कारखाने से प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रुप से 5 हजार लोगों को रोजगार मिलेगा. फैक्ट्री में दो हजार इम्पलाई स्थाई तौर काम करेंगे और इससे दोगुने लोग अप्रत्यक्ष तरीके से लाभान्वित होंगे.

Varanasi news, PM modi in Varanasi, Kashi Temple, Kashi Vishwanath Corridor Inauguration, UP news, CM Yogi, Yogi government,

पीएम मोदी सबसे पहले काशी के कोतवाल कहे जाने वाले काल भैरव मंदिर में आशीर्वाद लेने पहुंचे.

एथेनॉल से बदलेगी किसानों की किस्मत
इसी तरह इंडिया ग्लाइकाल्स लिमिटेड (IGL) में अनाज से एथेनॉल बनाने का काम भी मार्च, 2022 में आरंभ हो जाएगा. साल के पहले महीने से ही किसानों से चावल की खरीदारी शुरू होने वाली है. बाजार दर पर किसानों को इसके पैसे मिलेंगे. करीब 100 करोड़ की लागत से स्थापित हो रहे प्लांट से प्रतिदिन एक लाख लीटर एथेनॉल उत्पादन का लक्ष्य है. फैक्ट्री से करीब 500 लोगों को रोजगार मिलेगा. अनुमान के अनुसार प्रतिवर्ष 90 हजार टन टूटे चावल की खरीद होगी, यह वो खुद्दी होगा, जिसे बाजार में कोई पूछता नहीं था. क्षेत्र के चीनी मिलों में भी एथेनॉल प्लांट लगाये जा रहे हैं, जहां गन्ने की पत्ती, पुआल, धान की भूसी,गेहूं और मक्के के डंठल से एथेनाल तैयार किया जाएगा. मतलब साफ है कि इलाके के किसानों को आम के आम और गुठली के भी दाम मिलने वाले हैं.

क्या कहते हैं उद्यमी
गीडा के सीईओ पवन अग्रवाल बताते हैं- गोरखपुर उद्यमियों का पसंदीदा क्षेत्र बनता जा रहा है. यहां 4 सालों में 259 उद्योगपतियों ने कारखाना लगाने के लिए जमीन ली है.1000 करोड़ का निवेश हो चुका है. करीब 1,500 करोड़ रुपए का निवेश इस साल के अंत तक होगा. इनमें आदित्य बिड़ला ग्रुप और कोकाकोला कंपनी भी शामिल हैं. यहां प्लास्टिक पार्क और टेक्सटाइल पार्क की स्थापना और लैटेड फैक्टरी पर भी काम शुरू हो गया है. गीडा में 2017 से अब तक 259 छोटे बड़े उद्योगपतियों ने भीटी रावत औद्योगिक क्षेत्र में अपनी यूनिट लगायी हैं. हालिया निवेश से 5 हजार लोगों को स्थायी रोजगार मिला है. पहले से आवंटित 68 भूखंडों में कुछ लोगों ने फैक्ट्री लगाने का काम शुरू कर दिया है. फैक्ट्रियों की स्थापना से रोजगार के नये अवसर सृजित होंगे और बड़े पैमाने पर बेरोजगारों को काम मिलेगा”.

Kashi Vishwanath Temple, Kashi Vishwanath Dham, Kashi Vishwanath Corridor, Kashi Vishwanath Launch, Varanasi News, Narendra Modi, Narendra Modi Varanasi, Kashi Vishwanath Attractive Photos, Uttar Pradesh News, UP News, UP Latest News, Yogi Adityanath, दिखने लगी काशी विश्वनाथ मंदिर परिसर की आकर्षक झलक,

साल के पहले महीने से ही किसानों से चावल की खरीदारी शुरू होने वाली है.

पूर्वांचल के उत्पाद को वैश्विक पहचान
पूर्वांचल के किसान अपनी उपज को लेकर सीधे अंतरराष्ट्रीय बाजार में भेजने लगे हैं. दो साल पहले ही सरकार ने इशानी एग्रो प्रोड्यूसर कंपनी चंदौली के डायरेक्टर किसान अजय सिंह को लाइसेंस प्रदान किया था. इसी तरह गाजीपुर में शिवांश एग्रो, वाराणसी में जया एग्रो और मिर्जापुर में नवचेतना एग्रो प्रोड्यूसर को लाइसेंस दिया गया था. चंदौली के प्रसिद्ध काला नमक चावल 80 मीट्रिक टन और 532 मीट्रिक टन क्षेत्रीय चावल जून-दिसंबर, 2020 में कतर निर्यात किये गये.

सब्जी निर्यात का हब बना पूर्वांचल
पूर्वांचल क्षेत्र सब्जियों के निर्यात हब के रूप में उभर रहा है. कोविड -19 महामारी के बावजूद ताजी हरी सब्जियों की बड़ी खेप पूर्वांचल से खाड़ी देशों में भेजी गई. विस्तार में जाएं तो इस साल अक्टूबर में प्रयागराज, भदोही और वाराणसी से दो मीट्रिक टन सब्जियों को विमान से दुबई और शारजाह भेजा गया था. खाद्य उत्पाद निर्यात प्राधिकार के प्रभारी सीबी सिंह बताते हैं कि पिछले साल वाराणसी से केवल अप्रैल में तीन मीट्रिक टन और जून में एक मीट्रिक टन से अधिक लंगड़ा आम लंदन भेजा गया था. मई में दुबई को लगभग तीन मीट्रिक टन हरी मिर्च और यूके, कतर और यूएई को काला नमक चावल का निर्यात भी किया था.

Lucknow news, PM Modi, pm narendra modi, amit shah, CM Yogi, Yogi government, UP police, UP Election 2022, akhilesh yadav, UP news,

किसानों को मिलेगी सनफ्रिज की सौगात
पूर्वांचल क्षेत्र के किसानों को बहुत जल्द बड़ी सौगात मिलने वाली है. अब उन्हें अपनी उपज को सुरक्षित रखने के लिए बड़े-बड़े कोल्ड स्टोरेज के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे. आईएआरआई पूसा ने सोलर एनर्जी से चलने वाले छोटे-छोटे कोल्ड स्टोरेज गांव-गांव में बनाने की तैयारी की है, जिसे पूसा सनफ्रिज नाम दिया गया है. इसका खर्च बहुत कम होगा और छोटे किसानों के लिए बहुत फायदेमंद साबित हो सकता है.

समय सीमा में पूरी हो रही हैं योजनाएं
पीएम मोदी और सीएम योगी के कार्यकाल की एक बड़ी विशेषता है कि विकास योजनाएं समय सीमा में पूरी हो रही हैं. उदाहरण स्वरुप जुलाई 2018 में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास पीएम मोदी ने किया था. 19 महीने कोरोना काल के बावजूद समय सीमा के भीतर इसके निर्माण में सफलता मिली है. श्री काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का मसला भी ऐसा ही है. नरेंद्र मोदी ने मंदिर के विस्तारीकरण और पुनरोद्धार के लिये 8 मार्च, 2019 को विश्वनाथ मंदिर कॉरीडोर का शिलान्यास किया था और 13 दिसम्बर, 2021 को उसका लोकार्पण भी कर दिया. मतलब कि जिस योजना का योगी-मोदी शिलान्यास कर रहे हैं, उसका उदघाटन-लोकार्पण भी कर रहे हैं. इससे विकास के प्रति उनके समर्पण और संकल्पशक्ति का आभास मिलता है. आम जनता में इसका बेहद सकारात्मक संदेश जा रहा है कि यह सरकार जो कहती है, वो कर के दिखा देती है.

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे से विकास को पंख
पीएम मोदी बार बार कहते रहे हैं कि एक्सप्रेस-वे से पूर्वी यूपी की आर्थिक रीढ़ मजबूत होगी. सूबे की अर्थव्यवस्था तेजी के साथ आगे बढ़ेगी. नौजवानों को रोजगार और नौकरी मिलेगी. सीएम योगी कहते हैं कि पूर्वी उत्तरप्रदेश में विकास-रोजगार की संभावनाओं को आगे बढ़ाने का काम निरंतर किया जा रहा है. उनके मुताबिक पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के दोनों ओर औद्योगिक क्लस्टर का निर्माण किया जाएगा. देश भर की नामी गिरामी कंपनियां और बड़े कारोबारी यहां उद्योग लगाएंगे. इससे क्षेत्र में युवाओं के लिये रोजगार के अवसर पैदा होंगे.

वाराणसी, Varanasi news, PM Modi, Kashi Vishwanath Temple, UP news, CM Yogi, Yogi government,

Varanasi: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश की सभी नदियों के जल से बाबा विश्वनाथ का जलाभिषेक करेंगे.

ये भी पढ़ें: Pushpraj Jain News: कन्नौज में अखिलेश की PC से पहले ही पुष्पराज जैन के घर पर पड़ा छापा, सपा बोली- जनता सब देख रही

काशी कॉरिडोर से जगी उम्मीदें
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा श्रीकाशी विश्वनाथ धाम का लोकार्पण किए जाने के साथ ही पर्यटन उद्योग से जुड़े लोगों में एक नई उम्मीद जगी हैं. उनका मानना है कि लोकार्पण के बाद देश भर के पर्यटकों की नजरें काशी पर आकर टिक गईं हैं. ऐसे में काशी के हस्तशिल्प के उत्पाद का सेक्टर भी उड़ान भरेगा. शिवाला घाट स्थित राजगुरु मठ के पीठाधीश्वर स्वामी अनंतानंद सरस्वती कहते हैं- काशी विश्वनाथ धाम देखने के लिए देश के कोने-कोने से पर्यटक आने लगे हैं. नये स्वरुप में बाबा धाम का नया कलेवर देखने की छटपटाहट लोगों में बढ़ गई है. बाबा विश्वनाथ के दर्शन पूजन और भ्रमण को लेकर पर्यटकों की आवाजाही बढ़ी है. खिड़किया घाट का भव्य रूप भी पर्यटकों को आकर्षित कर रहा है. काशी के प्राचीन मठ-मंदिरों के प्रति भी दुनिया का नजरिया बदला है. (नोट- ये लेखक के निजी विचार हैं)

Tags: Chief Minister Yogi Adityanath, Cm yogi adityanath news, PM Modi, Pm narendra modi, Purvanchal Politics

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर