काशी को हिसाब देकर पीएम मोदी ने राहुल गांधी के सामने कुछ ऐसे खींची बड़ी लकीर

पीएम मोदी द्वारा अपना रिपोर्ट कार्ड पेश करने से भारतीय जनता पार्टी के सांसदों में भी खलबली मची हुई है. संगठन से मिली जानकारी के अनुसार 2019 लोकसभा चुनाव में टिकट पाने में सांसदों का अपने क्षेत्र में किए गए कार्य का रिपोर्ट कार्ड अहम भूमिका निभाएगा.

Ajayendra Rajan | News18Hindi
Updated: September 19, 2018, 1:33 PM IST
काशी को हिसाब देकर पीएम मोदी ने राहुल गांधी के सामने कुछ ऐसे खींची बड़ी लकीर
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पीएम मोदी की फाइल फोटो
Ajayendra Rajan
Ajayendra Rajan | News18Hindi
Updated: September 19, 2018, 1:33 PM IST
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने दो दिन के दौरे में मंगलवार को संसदीय क्षेत्र वाराणसी में चार साल के किए कामों का हिसाब रख दिया. इस दौरान उन्होंने सपा और बसपा के बीच बन रहे गठबंधन को विकास की चुनौती देकर कुंद करने की कोशिश की. वहीं ​पीएम मोदी ने लगातार हमलावर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के लिए भी उनके संसदीय क्षेत्र अमेठी में विकास के रिपोर्ट कार्ड को लेकर बड़ी लकीर खींच दी है.

वैसे पीएम मोदी द्वारा अपना रिपोर्ट कार्ड पेश करने के बाद भारतीय जनता पार्टी के सांसदों में भी खलबली मची हुई है. संगठन से मिली जानकारी के अनुसार 2019 लोकसभा चुनाव में टिकट पाने में सांसदों का अपने क्षेत्र में किए गए कार्य का रिपोर्ट कार्ड अहम भूमिका निभाएगा. इससे बीजेपी सांसदों पर दबाव बढ़ा गया है. प्रदेश में ऐसे सांसदों की कमी नहीं है, जिन पर कार्य तो छोड़िए क्षेत्र के दौरे तक की संख्या पर सवाल उठते रहते हैं.

उधर अमेठी में कांग्रेस जिलाध्यक्ष योगेंद्र मिश्रा कहते हैं कि सांसद राहुल गांधी अमेठी के विकास को लेकर चिंतित रहते है. वह अमेठी के समग्र विकास का खाका खींच चुके हैं. सांसद निधि के अतिरिक्त विभिन्न मंत्रालयों से कुशल पैरवी कर उन्होंने अरबों के राष्ट्रीय महत्व के संस्थान, संसदीय क्षेत्र में स्थापित किए हैं. शिक्षण केन्द्रों से लेकर उद्योग, महिला स्वालंबन एवं किसानों के उत्थान के लिए विभिन्न योजनाएं उनके प्रयास से यहां शुरू की गई, लेकिन जन विरोधी वर्तमान सरकार ने अमेठी के साथ पक्षपात किया है.

योगेंद्र मिश्रा कहते हैं कि बदले की राजनीति में राहुल गांधी के ड्रीम प्रोजक्ट फूड पार्क, हिन्दुस्तान पेपर मिल, ट्रिपल आईटी, नैट्रिप, डिस्कवरी पार्क, एम्स सैटेलाइट सेन्टर जैसे संस्थानों को अमेठी से एक-एककर छीन लिया गया. इन योजनाओं से यहां के किसानों और नौजवानों को फायदा मिलता. इसके बाद भी हमारे सांसद अमेठी के लोगों के चेहरे पर मुस्कान लाने के लिए लगातार प्रयासरत हैं. सांसद निधि से अब तक लगभग 23 करोड़ से अधिक के कार्य कराया गया है. साल 2014 से अब तक काफी काम कराए गए है.

इस संबंध में यूपी बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता शलभ मणि ​त्रिपाठी कहते हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक सांसद के तौर पर काशी के लिए जो काम किए हैं, वैसा काम गांधी परिवार अपनी परंपरागत सीटों रायबरेली और अमेठी में पिछले 70 सालों में नहीं कर सका है. वहीं जहां तक बीजेपी सांसदों की बात है तो खुद पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र के लिए जिस सेवाभाव और जिम्मेदारी की भावना का इजहार किया है, वह सभी के लिए नजीर है. बीजेपी क्या देश के सभी सांसदों को इससे प्रेरणा लेनी चाहिए. उन्हें ये देखना होगा कि अपने क्षेत्र में वह बेहतरी के लिए कैसे कार्य कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें: 

मिस्र की महिला के हनीट्रैप में फंसा बीएसएफ जवान, जासूसी के आरोप में यूपी ATS ने दबोचा
Loading...

अखिलेश के Tweet पर नीति आयोग के एडवाइजर ने उठाए सवाल, दिया ये जवाब

यूपी में भ्रष्ट अफसरों की खैर नहीं, अब हर विभाग में तैनात होंगे ​विजिलेंस अफसर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 19, 2018, 1:33 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...