लाइव टीवी

पुलिस का दावा: अवैध संबंधों के चलते हुई रंजीत बच्चन की हत्या, पत्नी के बॉयफ्रेंड ने दी थी सुपारी
Lucknow News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: February 6, 2020, 5:11 PM IST
पुलिस का दावा: अवैध संबंधों के चलते हुई रंजीत बच्चन की हत्या, पत्नी के बॉयफ्रेंड ने दी थी सुपारी
हिंदूवादी नेता रंजीत बच्चन की हत्या केस

पुलिस (Police) ने बताया कि दीपेंद्र और स्मृति दोनों ही रंजीत बच्चन (Ranjeet Bachchan) से छुटकारा पाना चाहते थे. 25 जनवरी को दीपेंद्र और स्मृति ने हत्या का प्लान बनाया.

  • Share this:
लखनऊ. यूपी पुलिस (UP Ploice) ने विश्व हिंदू महासभा (Vishwa Hindu Mahasabha) के अध्यक्ष रंजीत बच्चन (Ranjeet Bachchan) हत्याकांड में कई बड़े खुलासे किए हैं. पुलिस के मुताबिक हत्या में शामिल तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है. वहीं घटना में शामिल शूटर जीतेन्द्र अभी भी फरार है. पुलिस ने बताया कि रंजीत की दूसरी बीवी स्मृति के प्रेमी दीपेंद्र ही रंजीत का हत्यारा है. इस वारदात में स्मृति भी शामिल है क्योंकि वो रंजीत से छुटकारा पाकर दीपेंद्र के साथ रहना चाहती थी.

इससे पहले ससुरालवालों ने बताया था कि रंजीत एक ही घर में पत्नी और प्रेमिका दोनों को रखे हुए था. अवैध संबंधों को लेकर पति-पत्नी में अनबन भी हुई थी. अवैध संबंधों का विरोध करने पर रंजीत पहली पत्नी को धमकाता था जिससे परेशान होकर पत्नी ने महिला थाने में शिकायत भी की थी. उधर घटना के दौरान घायल रिश्तेदार आदित्य के मुताबिक, वह रात को अपने एक परिचित अभिषेक पटेल और उसकी पत्नी ज्योति पटेल के साथ गोरखपुर से चले थे.

पत्नी और बॉयफ्रेंड ने बनाया था हत्या का प्लान
पुलिस ने बताया कि दीपेंद्र और स्मृति दोनों ही रंजीत बच्चन से छुटकारा पाना चाहते थे. 25 जनवरी को दीपेंद्र और स्मृति ने हत्या का प्लान बनाया. दीपेंद्र विकासनगर के एक होटल में रुका था. 29 और 30 जनवरी को रंजीत की रेकी की गई. 1 फरवरी की रात रायबरेली से चलकर लखनऊ पहुंचे. हत्या में इस्तेमाल सफेद बलेनो कार बरामद कर ली गई.

रंजीत बच्चन की पहली पत्नी कालिंदी


पुलिस के पास हैं पुख्ता सबूत
पुलिस का दावा है कि उसके पास कार के मूवमेंट के पूरे सीसीटीवी फुटेज हैं. हत्यारे घटना को अंजाम देने के बाद रायबरेली भाग गए थे. यहां तक कि दीपेंद्र ने हत्या के दिन जो फोन, सिमकार्ड इस्तेमाल किया था वो बरामद कर लिया गया है. हत्या के दिन पहने गए जूते भी बरामद कर लिए गए हैं. पुलिस ने कहा कि ये हत्या घृणा के चलते की गई है हमारे पास पूरे सबूत हैं. पुलिस ने मीडिया के सामने कहा कि हत्या के आरोपियों ने अपना गुनाह कबूल लिया है. साथ ही दीपेंद्र को अभी लखनऊ लाया जा रहा है.4 संदिग्धों को हिरासत में लिया था
वहीं न्यूज़ 18 के पास घटना से जुड़ा एक सीसीटीवी (CCTV) फुटेज भी है. इसमें सफेद रंग की बलेनो कार से शूटर हजरतगंज में बीजेपी दफ्तर के पास उतरते दिखाई दे रहे हैं. इससे पहले मंगलवार को पुलिस ने चार संदिग्धों को हिरासत में लिया था. इस हत्याकांड की जांच कर रही पुलिस ने रंजीत बच्चन के संदिग्ध हत्यारों की फोटो जारी की थी. पुलिस को सीसीटीवी फुटेज में दो संदिग्ध हत्यारे नजर आए थे, जिनकी फोटो जारी की गई.

 

1 फरवरी को मारी थी गोली
रंजीत बच्‍चन हत्याकांड को लखनऊ के पॉश इलाकों में से एक हजरतगंज में अंजाम दिया गया.  मृतक रंजीत बच्चन की सामने आई पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट सामने के मुताबिक, हमलावरों ने हिंदूवादी नेता की नाक पर बेहद करीब से गोली मारी थी. अत्यधिक खून बहने के कारण उनकी मौत हो गई.

ये भी पढ़ें: 

यूपी में PFI की करतूतों पर क्यों चुप हैं अखिलेश यादव और प्रियंका वाड्रा?- BJP

रंजीत बच्चन हत्याकांड: पुलिस ने मुंबई से शूटर को उठाया, एक और CCTV फुटेज मिला

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 6, 2020, 4:42 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर