होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /यूपी में 69000 शिक्षक भर्ती रोकने के लिए हो रही राजनीति- बेसिक शिक्षा मंत्री

यूपी में 69000 शिक्षक भर्ती रोकने के लिए हो रही राजनीति- बेसिक शिक्षा मंत्री

बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी (फाइल फोटो)

बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी (Satish Dwivedi) का कहना है कि 69000 शिक्षक भर्ती प्र ...अधिक पढ़ें

    लखनऊ. उत्तर प्रदेश में प्राइमरी स्कूलों के लिए 69000 सहायक शिक्षक भर्ती (69000 Assistant Teacher Recruitment) से जुड़े फर्जीवाड़े, सुप्रीम कोर्ट की रोक के अलावा कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय की शिक्षिका अनामिका शुक्ला मामले पर योगी सरकार ने अपना पक्ष रखा है. प्रदेश के बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी का कहना है कि 69000 शिक्षक भर्ती प्रकिया हाईकोर्ट के आदेश के बाद स्थगित हुई है. 69 हजार शिक्षक भर्ती को रोकने के लिए राजनीति की जा रही है.

    धांधली की जांच यूपी एसटीएफ को सौंपी गई है

    उन्होंने कहा कि मई में शिक्षक भर्ती में लेन-देन की शिकायत की गई थी. शिकायत पर केएल पटेल समेत 11 लोगो को गिरफ्तार किया गया था. गिरफ्तारी के बाद प्रयागराज के एक परीक्षा केंद्र पर धांधली का खुलासा हुआ था. परीक्षा में धांधली के बाद 69 हजार शिक्षक भर्ती की एसटीएफ को जांच सौंपी गई. मंत्री ने कहा कि एक सामान्य श्रेणी के अभ्यर्थी के ओबीसी वर्ग में चयन होने पर सवाल उठा है. लेकिन अभी संबंधित अभ्यर्थी की कॉउंसिलिंग नहीं हुई थी. दस्तावेजों की जांच के लिए कॉउंसलिंग कराई जाती है. 69 हजार शिक्षक भर्ती में आरक्षण प्रक्रिया पर भी कई सवाल उठे हैं. 50 प्रतिशत से ज्यादा अनारक्षित वर्ग में सभी वर्ग के अभ्यर्थियों का चयन हुआ है. हाईकोर्ट के निर्देश पर ही अभ्यर्थियों के जिले का चयन हुआ है.

    सरकार का पक्ष सुनने के बाद सुप्रीम कोर्ट सुनाएगा अंतिम फैसला

    वहीं सुप्रीम कोर्ट द्वारा शिक्षामित्रों के पदों पर नियुक्ति रोके जाने के आदेश पर शिक्षा मंत्री ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में अभी सरकार का पक्ष नहीं सुना गया है. सरकार का पक्ष सुनने के बाद सुप्रीम कोर्ट को अपना अंतिम फैसला देगा.

    प्रेरणा ऐप के जरिए अनामिका शुक्ला का फर्जीवाड़ा सामने आया

    वहीं कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय की शिक्षिका अनामिका शुक्ला मामले पर मंत्री ने कहा कि प्रेरणा ऐप के जरिये अनामिका शुक्ला के फर्जीवाड़ा का खुलासा हुआ. अनामिका शुक्ला के नाम पर 6 विद्यालयों से 12 लाख 700 रुपये का भुगतान हुआ. अब ऐसे लोगों के डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन की फुलप्रूफ व्यवस्था हो रही है. उन्होंने कहा कि योगी सरकार में भ्रष्टाचार के मामले पर बड़े स्तर पर कार्रवाई की जा रही है. शिक्षा विभाग में भ्रष्टाचार से जुड़े मामले पर बड़े स्तर पर कार्रवाई हुई है.

    इनपुट: राजीव पी सिंह

    ये भी पढ़ें:

    69000 शिक्षक भर्ती फर्जीवाड़ा: DGP ने यूपी एसटीएफ को सौंपी मामले की जांच

    69 हजार शिक्षकों की भर्ती में गड़बड़ी पर मायावती ने की CBI जांच की मांग

    आपके शहर से (लखनऊ)

    Tags: Government teacher job, Lucknow news, UP news updates, Uttarpradesh news, Yogi government

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें