लाइव टीवी

यूपी विधानसभा उपचुनाव: पोलिंग पार्टियां हुई रवाना, 21 अक्टूबर को डाले जाएंगे वोट

News18 Uttar Pradesh
Updated: October 20, 2019, 9:35 AM IST
यूपी विधानसभा उपचुनाव: पोलिंग पार्टियां हुई रवाना, 21 अक्टूबर को डाले जाएंगे वोट
यूपी विधानसभा उपचुनाव: कड़ी सुरक्षा के बीच पोलिंग पार्टियां हुई रवाना (फाइल फोटो)

दरअसल राजनीतिक नजरिये से ये उपचुनाव कई मायनों में अहम हो गए हैं. लंबे समय बाद प्रदेश के सभी प्रमुख राजनीतिक दल अलग-अलग चुनाव लड़ रहे हैं. जाहिर है, इनके नतीजे न सिर्फ हर दल की प्रदेश में मौजूदा जमीनी पकड़-पहुंच बताएंगे, बल्कि उनके परस्पर दावों को भी परखेंगे.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश की 11 विधानसभा (Uttar Pradesh Assembly Election)  सीटों के उपचुनाव (By-election) के लिए रविवार को कड़ी सुरक्षा के बीच पोलिंग पार्टियां रवाना होना शुरू हो गई है. सोमवार यानी 21 अक्टूबर को सुबह 7 से शाम 6 बजे तक वोट डाले जाएंगे. इन सीटों पर 110 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं. सबसे अधिक 13 प्रत्याशी लखनऊ कैण्ट और जलालपुर सीटों पर हैं. घोसी में 12 उम्मीदवार मैदान में हैं जबकि गंगोह, प्रतापगढ़ और बलहा में ग्यारह ग्यारह प्रत्याशी हैं. गोविन्दनगर और मानिकपुर में नौ-नौ, रामपुर, इगलास और जैदपुर में सात सात प्रत्याशी किस्मत आजमा रहे हैं.
वोटों की गिनती 24 अक्तूबर को होगी.

दरअसल राजनीतिक नजरिये से ये उपचुनाव कई मायनों में अहम हो गए हैं. लंबे समय बाद प्रदेश के सभी प्रमुख राजनीतिक दल अलग-अलग चुनाव लड़ रहे हैं. जाहिर है, इनके नतीजे न सिर्फ हर दल की प्रदेश में मौजूदा जमीनी पकड़-पहुंच बताएंगे, बल्कि उनके परस्पर दावों को भी परखेंगे. बता दें कि जिन विधानसभा सीटों पर उपचुनाव हो रहा है उनमें गंगोह, रामपुर, इगलास (सुरक्षित), लखनऊ कैण्ट, गोविन्दनगर, मानिकपुर, प्रतापगढ, जैदपुर (सुरक्षित), जलालपुर, बलहा (एससी) और घोसी शामिल हैं.

बीजेपी का है 'क्लीन स्वीप' का प्रयास

जिन 11 सीटों पर उपचुनाव हो रहे हैं, उनमें से आठ पर भाजपा का कब्जा था. प्रतापगढ़ सीट पर भाजपा की सहयोगी अपना दल जीती थी. जबकि रामपुर और जलालपुर (आंबेडकरनगर) सीटों पर  सपा और बसपा ने जीत दर्ज की थी. उत्तर प्रदेश विधानसभा में कुल 403 सीटें हैं. ये चुनाव इस लिहाज से भी महत्वपूर्ण हैं कि इनसे ही 2022 के विधानसभा चुनाव की जमीन तैयार होगी. उपचुनाव में भाजपा जहां 'क्लीन स्वीप' का प्रयास कर रही है वहीं, विपक्षी दल भी कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहे हैं.

कमलेश तिवारी की हत्या से गर्माया माहौल
लखनऊ में हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की शुक्रवार को हुई हत्या से राज्य का चुनावी तापमान बढ़ गया था. एक चुनावी सभा के दौरान उत्तर प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता अशोक सिंह ने तिवारी की हत्या को लेकर भाजपा सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि यह घटना राज्य में कानून व्यवस्था की लचर स्थिति को उजागर करती है.
Loading...

ये भी पढ़ें:

कमलेश तिवारी हत्‍याकांड: अखिलेश ने योगी सरकार पर कसा तंज, बोले- किसी को पता नहीं कि किसे ठोकना है

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 20, 2019, 9:35 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...