लखनऊ में 1 सितंबर से पॉलिथीन बैन सख्ती से लागू करने की तैयारी, ये है जुर्माना

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की राजधानी लखनऊ (Lucknow) में 1 सितंबर से पॉलिथीन पर प्रतिबंध लागू हो रहा है. इसको लेकर यूपी शासन से लेकर जिला प्रशासन और पुलिस ने व्यापक तैयारी कर ली है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 31, 2019, 6:36 PM IST
लखनऊ में 1 सितंबर से पॉलिथीन बैन सख्ती से लागू करने की तैयारी, ये है जुर्माना
लखनऊ में एक सितंबर से कोई भी शख्स प्रतिबंधित पॉलिथीन के साथ पकड़ा गया तो उस पर जुर्माना लगेगा.
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 31, 2019, 6:36 PM IST
उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की राजधानी लखनऊ (Lucknow) में 1 सितंबर से पॉलिथीन पर प्रतिबंध लागू हो रहा है. इसको लेकर यूपी शासन से लेकर जिला प्रशासन और पुलिस ने व्यापक तैयारी कर ली है. आदेश के एक अनुसार अगर एक सितंबर से कोई भी व्यक्ति प्रतिबंधित पॉलिथीन बैग या प्लास्टिक के सामान के साथ पाया गया तो उसे एक हजार रुपये से लेकर 25 हजार रुपये तक का जुर्माना देना पड़ सकता है.

वैसे ये प्रतिबंध पिछले साल 2018 में ही लागू हो गया था लेकिन इसे अब सरकार ने सख्ती से लागू करने की तैयारी की है. अब सिर्फ व्यापारी नहीं प्रतिबंधित वस्तु का इस्तेमाल करने वाले किसी भी शख्स के खिलाफ आईपीसी की धारा 188 के तहत कार्रवाई होगी. इसमें जुर्माने के अलावा एक माह तक की सजा का भी प्रावधान है.

यही नहीं प्रतिबंध को सख्ती से लागू करने के लिए उत्तर प्रदेश शासन की तरफ से आदेश भी जारी किया गया है आदेश के अनुसार किसी क्षेत्र में प्रतिबंधित पॉलिथीन बिकने पर थानाध्यक्ष, नगर निगम के क्षेत्रीय अधिकारी और वाणिज्य कर के अफसरों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी.

मामले में गृह विभाग के प्रमुख सचिव अवनीश अवस्थी ने इस संबंध में पिछले सोमवार ही आदेश जारी किया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि 31 अगस्त के बाद अगर लखनऊ के किसी भी क्षेत्र में प्रतिबंधित प्लास्टिक बेचे जाने की खबर मिली तो संबंधित थानाध्यक्ष, नगर निगम के क्षेत्रीय अधिकारी, वाणिज्य कर के क्षेत्रीय अफसर तथा सम्बन्धित क्षेत्र के मजिस्ट्रेट एवं क्षेत्राधिकारी को संयुक्त रूप से जिम्मेदार मानते हुए उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.

यही नहीं अवनीश अवस्थी ने लखनऊ के जिलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिए कि वे सम्बन्धित मजिस्ट्रेट/क्षेत्राधिकारी से उनके क्षेत्र में पॉलिथीन की बिक्री रोकने के लिए समुचित कार्रवाई करने और विक्रय पूरी तरह रोकने के बारे में रिपोर्ट भी तलब की थी. प्रमुख सचिव ने कहा कि व्यापार मण्डल को लिखित रूप से प्लास्टिक पर प्रतिबंध के बारे में बताकर उनसे सहमति ले ली जाए. इसके अलावा, सम्बन्धित जन प्रतिनिधि को भी इस बारे में अवगत कराया जाए.

अवनीश अवस्थी ने कहा कि रोक के बावजूद राजधानी के चौक, ठाकुरगंज, कैसरबाग, अलीगंज, अमीनाबाद, आशियाना, नगराम, गोसाईगंज, मलीहाबाद और काकोरी क्षेत्रों में पॉलिथीन की चोरी-छुपे बिक्री हो रही है. एक सितबंर से वह खुद इन क्षेत्रों में जाकर देखेंगे कि पाबंदी का पालन किया जा रहा है या नहीं.

2018 में लागू हुआ था प्रतिबंध
Loading...

15 जुलाई 2018 को इलाहाबाद उच्च न्यायालय के निर्देश के अनुसार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पॉलिथीन और प्लास्टिक उत्पादों पर प्रतिबंध लगाने का आदेश दिया था. उन्होंने कहा था कि प्रदेश को पॉलिथीन और प्लास्टिक मुक्त करने के साथ ही 2 अक्टूबर को थर्मोकाल पर भी प्रतिबंध लगा दिया जाएगा.

अधिकारियों को निर्देश दिए गए थे कि प्लास्टिक के गिलास और पॉलीथिन थैली किसी भी सूरत में बाजार में नहीं दिखने चाहिए. आदेश में 50 माइक्रान से कम मोटाई वाली पॉलीथिन बनाने वाली फैक्ट्रियों को सील करने के भी निर्देश दिए गए थे. सरकार ने आश्वस्त किया था कि इसका विकल्प जल्द ही उपलब्ध कराया जाएगा. हालांकि कुछ दिनों की सख्ती के बाद अधिकारियों का रुख ढीला पड़ा और पॉलिथीन से बाजार फिर से गुलजार हो गए.

ये भी पढ़ें:

अगले माह से पॉलीथिन बिकी तो थानाध्यक्ष और अन्य अफसरों पर होगी कार्रवाई

UP: दरोगा भर्ती में महिलाओं के क्वालीफाइंग मार्क्स 50 से घटाकर 35 प्रतिशत करने की तैयारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 31, 2019, 6:32 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...