उत्‍तर प्रदेश के इन 14 जिलों में आज रात तक आंधी और बारिश की आशंका
Amethi News in Hindi

उत्‍तर प्रदेश के इन 14 जिलों में आज रात तक आंधी और बारिश की आशंका
यूपी में आज मौसम में तेजी से बदलाव होने की संभावना है. (प्रतीकात्मक फोटो)

जिन जिलों में मौसम का मिजाज आज (सोमवार) शाम से रात तक बिगड़ सकता है, उनमें बहराइच (Behraich), श्रावस्ती, सीतापुर, बलरामपुर, अयोध्या, गोंडा, अंबेडकरनगर, बस्ती, संत कबीर नगर, रायबरेली, अमेठी (Amethi), प्रतापगढ़, सुल्तानपुर, आजमगढ़ (Azamgarh) शामिल हैं.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में मौसम का मिजाज अचानक अलग-अलग इलाकों में बदलता दिख रहा है. पिछले दिनों कई जिलों में अंधड़ (Storm) और बारिश (Rainfall) हुई. मौसम विभाग (Met Department) के अनुसार ये सिलसिला अगले 1 हफ्ते तक जारी रह सकता है. ताजा अनुमान के मुताबिक अगले कुछ घंटों में प्रदेश के लगभग दर्जन भर जिलों में मौसम का मिजाज बिगड़ जाएगा. इन जिलों में 60 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से आंधी चलने का अनुमान लगाया गया है. इसके साथ ही इन जिलों में गरज चमक के साथ बारिश की भी संभावना जताई गई है.

जिन जिलों में मौसम का मिजाज आज (सोमवार) शाम से रात तक बिगड़ सकता है, उनमें बहराइच, श्रावस्ती, सीतापुर, बलरामपुर, अयोध्या, गोंडा, अंबेडकरनगर, बस्ती, संत कबीर नगर, रायबरेली, अमेठी, प्रतापगढ़, सुल्तानपुर, आजमगढ़ शामिल हैं.

बुधवार से पूर्वांचल में बिगड़ेगा मौसम



मौसम विभाग के निदेशक जेपी गुप्ता ने बताया कि कल यानी मंगलवार को मौसम साफ रहेगा, लेकिन अगले दिन बुधवार को पूर्वाचल के जिलों में मौसम फिर से खराब हो जाएगा. इस दौरान वाराणसी, गोरखपुर, गाजीपुर, बलिया, मऊ जिलों में आंधी-पानी की संभावना है. मौसम के बदले रुख का असर अगले 1 हफ्ते तक जारी रह सकता है.
बिगड़े मौसम से रबी और आम की फसल को नुकसान

बता दें इन दिनों रबी फसलों की कटाई का सीजन है. ज्यादातर जिलों में या तो गेहूं की कटाई चल रही है या कटाई हो चुकी है और अनाज खलिहान में पड़ा है. इसके अलावा चना, मटर, उड़द, मसूर इन दलहनी फसलों की भी कटाई का सीजन चल रहा है. ऐसे में बारिश होने से किसानों के सामने गंभीर समस्या खड़ी हो गई है. पिछले दो-तीन दिनों में प्रदेश के अलग-अलग जिलों में हुई बारिश से गेहूं के फसल के भीग जाने की खबरें आई थी. अब पूर्वांचल के जिलों के किसानों पर इसका संकट छा गया है.

वहीं दूसरी तरफ आम की फसल को भी आंधी से काफी नुकसान की आशंका है. पेड़ों पर आम के लगे फल बेहद छोटे हैं. ऐसे में आंधी और बारिश से उनके झड़ने का हमेशा खतरा बना रहता है.

ये भी पढ़ें:

UP के 52 जिलों में 1176 लोग कोरोना पॉजिटिव, मऊ, एटा, सुल्तानपुर में नए मरीज

Lockdown खुलते ही शुरू होगा राम मंदिर निर्माण, ट्रस्ट को मिले दस्तावेज
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading