• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • चाचा शिवपाल के मोर्चा बनाने से एक्टिव हुए अखिलेश यादव, कसने लगे संगठन के पेंच

चाचा शिवपाल के मोर्चा बनाने से एक्टिव हुए अखिलेश यादव, कसने लगे संगठन के पेंच

सपा मुखिया अखिलेश यादव की फाइल फोटो

सपा मुखिया अखिलेश यादव की फाइल फोटो

लंबे समय तक उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के संगठनात्मक ढांचे को मुलायम सिंह के अध्यक्ष रहते शिवपाल सिंह यादव ने मजबूती प्रदान करने में अहम भूमिका निभाई है.

  • Share this:
चाचा शिवपाल यादव के समाजवादी सेक्युलर मोर्चा बनाने के बाद समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव दबाव महसूस कर रहे हैं. यही वजह है कि अंदरखाने सुलह की कोशिशों के बीच अखिलेश पार्टी के संगठनात्मक ढांचे को चुस्त-दुरुस्त करने लगे हैं. इसी क्रम में अखिलेश ने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं और संगठन के पदाधिकारियों से मीटिंग भी की है.

दरअसल, लंबे समय तक उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के संगठनात्मक ढांचे को मुलायम सिंह के अध्यक्ष रहते शिवपाल सिंह यादव ने मजबूती प्रदान करने में अहम भूमिका निभाई है. यह भी कहा जाता है कि आज भी संगठन में पुराने सपाई मुलायम और शिवपाल की काफी इज्जत करते हैं. अब जब शिवपाल ने समाजवादी पार्टी में उपेक्षित और हाशिए पर ढकेले गए नेताओं को अपने मोर्चे से जोड़ने का ऐलान कर दिया है तो अखिलेश के सामने चुनौती भी खड़ी हो गई है. आशंका है कि शिवपाल के मोर्चे के साथ कुछ सीनियर नेता जुड़ सकते हैं. इसकी शुरुआत भी उसी दिन हो गई जब मोर्चे के ऐलान के बाद ही समाजवादी पार्टी के संस्थापक सदस्यों में शामिल रहे डुमरियागंज के पूर्व विधायक मलिक कमाल यूसुफ बसपा छोड़ शिवपाल यादव के साथ हो गए हैं. मंत्री रह चुके यूसुफ सपा में रहते हुए शिवपाल यादव के काफी करीब थे. पिछले विधानसभा चुनाव से पूर्व पार्टी में विवाद छिड़ने पर उन्होंने बसपा का दामन थाम लिया था. अब वह पुरानी दोस्ती को तरजीह देते हुए शिवपाल के नवगठित समाजवादी सेक्युलर मोर्चा में शामिल हो गए हैं.

वहीं, शिवपाल के सेक्युलर मोर्चा बनाने के पर सपा प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी कुछ भी बोलने से बचते नजर आए. हालांकि उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से लगातार बैठक कर रहे हैं. प्रदेश और राष्ट्रीय स्तर पर वरिष्ठ नेताओं के साथ उनकी कई बैठकें भी हो चुकी हैं. इतना ही नहीं उन्होंने मंगलवार से विश्वविद्यालय छात्र जागरूकता अभियान की भी शुरुआत की है. बुधवार को अखिलेश यादव यूथ ब्रिगेड के साथ बैठक कर रहे हैं.

उधर, मामले पर सत्तारूढ़ बीजेपी का कहना है कि अखिलेश यादव घर को तो एकजुट कर लें. बीजेपी एमएलसी विजय बहादुर पाठक ने कहा कि अखिलेश यादव घर के मोर्चे को एकजुट कर लें. उसके बाद बीजेपी के खिलाफ किसी तरह के मोर्चे के बारे में सोचें.

नहीं हो पा रही सुलह

सपा संरक्षक मुलायम सिंह अखिलेश और शिवपाल के बीच सुलह की कोशिशें कर रहे हैं, लेकिन नतीजा सिफार ही निकल रहा है. बुधवार को मुलायम ने लखनऊ में समाजवादी कुनबे में सुलह का प्रस्ताव रखा. मुलायम सिंह से शिवपाल यादव उनके निजी आवास पर मिले. मुलायम सिंह ने उनके सामने सुलह का प्रस्ताव रखा लेकिन शिवपाल यादव ने सेक्युलर मोर्चे को आगे बढ़ाने की बात कही. बता दें, सोमवार शाम अखिलेश यादव भी मुलायम सिंह के आवास पर पहुंचे थे.

यह भी पढ़ें:

यूपी PWD घोटाला: 6 अफसरों पर कसा शिकंजा, निलंबन की संस्तुति

यूपी: प्रतियोगी परीक्षाओं में पेपर लीक करने वालों पर लगेगा रासुका

Teachers' Day 2018: बेहाल हैं यूपी के 1.7 लाख शिक्षामित्र, 700 की गई जान

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज