Home /News /uttar-pradesh /

प्रियंका गांधी का योगी सरकार पर हमला, बोलीं- Corona से सबसे अधिक मृत्युदर वाले 15 जिलों में 4 जिले यूपी के

प्रियंका गांधी का योगी सरकार पर हमला, बोलीं- Corona से सबसे अधिक मृत्युदर वाले 15 जिलों में 4 जिले यूपी के

प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने ट्वीट कर कहा है कि कोरोना से सबसे अधिक मृत्युदर वाले 15 जिलों में 4 जिले यूपी के हैं.

प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने ट्वीट कर कहा है कि कोरोना से सबसे अधिक मृत्युदर वाले 15 जिलों में 4 जिले यूपी के हैं.

प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने ट्वीट कर कहा है कि कोरोना से सबसे अधिक मृत्युदर वाले 15 जिलों में 4 जिले यूपी के हैं.

    लखनऊ. कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने एक बार फिर कोरोना मृत्युदर (COVID-19 Death Rate) को लेकर प्रदेश की योगी सरकार (Yogi Government) पर निशाना साधा है. प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा है कि कोरोना से सबसे अधिक मृत्युदर वाले 15 जिलों में 4 जिले यूपी के हैं. प्रियंका ने यूपी में कोरोना संक्रमितों के आंकड़ों पर भी सवाल खड़े किए हैं.

    प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर यूपी के चार शहरों का मृत्युदर भी जारी किया हैं. उन्होंने लिखा है. झांसी जिले में 10 कोरोना पीड़ित में एक की मौत, मेरठ में हर 11 में एक कोरोना पीड़ित की मौत, आगरा और एटा में हर 14 कोरोना पीड़ित में एक की मौत हुई है. सोचने वाली बात है अगर केस बढ़ नहीं रहे तो मृत्युदर इतनी ज्यादा क्यों हैं?’

    गौरतलब है कि पिछले दिनों प्रियंका गांधी ने एक मीडिया रिपोर्ट का हवाला देते हुए आगरा में कोरोना से हुई मौत पर सवाल उठाए थे. जिस पर आगरा के डीएम प्रभु एन सिंह ने पलटवार देते हुए प्रियंका द्वारा जारी किए गए आंकड़ों को गलत बताया था. ठीक इसके बाद आगरा डीएम ने प्रियंका गांधी को नोटिस जारी करते हुए 24 घंटे में खंडन जारी करने को कहा था. डीएम ने नोटिस में कहा कि प्रियंका गांधी का ट्वीट भ्रामक और असत्य है, जिसकी वजह से कोरोना योद्धाओं का मनोबल कमजोर हुआ है.

    हालांकि, इसके बाद भी प्रियंका गांधी ने एक और मीडिया रिपोर्ट का हवाला देते हुए फिर ट्वीट किया. इस ट्वीट में उन्होंने लिखा, ‘आगरा में कोरोना से मृत्युदर डराने वाली है. यहां हर 15 में एक कोरोना पीड़ित की जान चली गई. यहां के 79 मरीजों में से 28 की मौत अस्पताल में भर्ती होने के 48 घंटे में होना बड़ी लापरवाही है. मुख्यमंत्रीजी, कृपया 48 घंटे में जांच रिपोर्ट जनता के सामने रखें.’

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर