बदायूं में सामूहिक दुष्कर्म पर महिला आयोग की सदस्य का बयान शर्मनाक: प्रियंका गांधी

बदायूं में सामूहिक दुष्कर्म पर आयोग की सदस्य का बयान शर्मनाक (File photo)

बदायूं में सामूहिक दुष्कर्म पर आयोग की सदस्य का बयान शर्मनाक (File photo)

बदायूंग गैंगरेप केस: उत्‍तर प्रदेश पुलिस (Police) ने गुरुवार देर रात घटना को अंजाम देने वाले मुख्‍य आरोपी महंत सत्‍यनारायण को गिरफ्तार कर लिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 8, 2021, 9:04 PM IST
  • Share this:
बदायूं. उत्‍तर प्रदेश के बदायूं जिले में सामूहिक दुष्कर्म (Gang Rape) मामले में कांग्रेस की उत्तर प्रदेश की प्रभारी और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने राष्ट्रीय महिला आयोग (NWC) की सदस्य के बयान को शर्मनाक बताया है. शुक्रवार को प्रियंका गांधी ने अपने पोस्ट में कहा, 'क्या इस व्यवहार से हम महिला सुरक्षा सुनिश्चित कर पाएंगे. महिला आयोग की सदस्य बलात्कार के लिए पीड़िता को दोषी ठहरा रही हैं.' कांग्रेस महासचिव ने आगे लिखा कि बदायूं प्रशासन को ये चिंता है कि इस केस का सच सामने लाने वाली पीड़िता की पोस्टमार्टम लीक कैसे हुई.

प्रियंका गांधी ने कहा कि याद रखिए कि इस समय एक और भयावह बलात्कार के मामले में मुरादाबाद की पीड़िता मौत से जंग लड़ रही है. महिलाएं इस प्रशासनिक प्रणाली को व इस बदजुबानी को माफ नहीं करेंगी. इसके साथ ही उन्होंने एक खबर पोस्ट की है, जिसमें कहा गया है कि राष्‍ट्रीय महिला आयोग की सदस्‍य चंद्रमुखी देवी ने गुरुवार को पीड़ित परिवार से मिलने के बाद कहा कि पीड़िता शाम के वक्त बाहर नहीं जाती तो सामूहिक दुष्कर्म नहीं होता.

Youtube Video


मामले में पुलिस ने गुरुवार देर रात घटना को अंजाम देने वाले मुख्‍य आरोपी महंत सत्‍यनारायण को गिरफ्तार कर लिया. शुक्रवार को बदायूं के जिलाधिकारी कुमार प्रशांत ने बताया कि जिले में कानून-व्यवस्था नियंत्रण में है. पीड़ित परिवार को हर संभव मदद जिला प्रशासन की तरफ से दी जा चुकी है. उन्होंने बताया कि मुख्‍य आरोपी के खिलाफ पुलिस जल्द ही कोर्ट में चार्जशीट दाखिल करेगी. डीएम ने इस मामले को फास्‍ट ट्रैक कोर्ट में चलाने का निर्देश दिया है.
इसके साथ ही घटनास्‍थल पर पुलिसबल की तैनाती भी कर दी गई है. बदायूं गैंगरेप और मर्डर कांड की भयावहता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि पीड़ि‍ता की पसलियां तक टूट गई थीं. उनके दोनों पैर भी तोड़ डाले गए थे. इस घटना ने दिल्‍ली के निर्भया कांड के वक्‍त हुई क्रूरता की याद दिला दी थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज