Home /News /uttar-pradesh /

यूपी में कांग्रेस के वोट बैंक की 'घर वापसी' कराने में जुटीं प्रियंका गांधी, ऐसे बना रही हैं पैठ

यूपी में कांग्रेस के वोट बैंक की 'घर वापसी' कराने में जुटीं प्रियंका गांधी, ऐसे बना रही हैं पैठ

प्रियंका गांधी के यूपी फॉमूले को अगर राजस्थान  के आगामी विधानसभा चुनाव में लागू किया जाता है तो यहां 80 सीटों पर महिलाओं की दावेदारी हो जायेगी.

प्रियंका गांधी के यूपी फॉमूले को अगर राजस्थान के आगामी विधानसभा चुनाव में लागू किया जाता है तो यहां 80 सीटों पर महिलाओं की दावेदारी हो जायेगी.

UP Political News: आगरा की घटना हो या फिर लखीमपुर खीरी कांड, जिस तरह से प्रियंका गांधी हर जाति, धर्म और उनसे जुड़े लोगों के पास पहुंच रही हैं, उससे साफ़ है कि वे कांग्रेस के आधार वोट बैंक को सहेजने में लगी हैं.

लखनऊ. किसी समय में ब्राह्मण, दलित और मुस्लिम वोट कांग्रेस के आधार वोट बैंक माने जाते थे, लेकिन मंडल और कमंडल की राजनीति के बाद दलित वोट बैंक बहुजन समाज पार्टी के पास चला गया, वहीं मुसलमान वोट बैंक समाजवादी पार्टी के खाते में चला गया. रही बात ब्राह्मण की तो वो भी घूमता-फिरता भारतीय जनता पार्टी के खाते में शिफ्ट हो चुका है. यही कारण रहा कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस 2017 के विधानसभा चुनाव में दस विधायक भी नहीं जिता पाई. वर्ष 1989 के बाद ब्राह्मण तो 1992 के बाद यूपी का मुसलमान मानो कांग्रेस से पूरी तरह से नाराज हो गया. नतीजा, कभी दशकों तक यूपी की सत्ता पर कब्जा जमाने वाली कांग्रेस पार्टी 2017 में महज 7 सीटों और 6.25% वोट शेयर तक सिमट गई थी.

प्रियंका गांधी 2019 के लोकसभा चुनाव से उत्तर प्रदेश की राजनीति में सक्रिय नजर आ रही हैं. उंभा, उन्नाव, हाथरस, लखीमपुर, आगरा की घटना के बाद प्रियंका जिस तरह से सक्रिय हुईं हैं, उसे देखकर आसानी से समझा जा सकता है कि वो अपने परंपरागत वोट बैंक को सहेज रही हैं. किसान आंदोलन का समर्थन करने के बहाने हर जाति-धर्म के पास पहुंच रही हैं, वहीं वाल्मीकि वोट बैंक के सहारे वो दलितों में पैठ बनाना शुरु कर चुकी हैं. कांग्रेस के नेता सबसे अधिक ब्राह्मण मुख्यमंत्री देने की बात कह ब्राह्मणों को करीब लाने की कोशिश कर रहे हैं. वहीं कांग्रेस एनआरसी के मुद्दे पर सामने आकर मुसलमानों को भी सोचने को विवश कर रहे हैं.

एक नज़र यूपी के वोटों की गणित पर…

निर्वाचन आयोग के आंकड़ों के मुताबिक उत्तर प्रदेश में कुल 14,43,16,893 वोटर हैं. राजनीति के जानकार बताते हैं कि यूपी के कुल मतदाताओं में से सबसे ज्यादा 20% अति पिछड़ा वर्ग के मतदाता हैं, इसके बाद दूसरे नंबर पर आता है मुस्लिम वोट बैंक जो कि कुल वोट का 19.3% है. जाटव वोट 13%, अन्य पिछड़ा वोट 12% और ब्राह्मण वोट 11% हैं. इसके बाद बारी आती है यादव वोटबैंक की, जो कि 9% हैं, जाटव को हटाकर अन्य अनुसूचित जातियों का वोट प्रतिशत 8 फीसदी है, जबकि ब्राह्मणों को छोड़कर अन्य सवर्ण वोट 7.7% हैं. ऐसे में कांग्रेस अपने परंपरागत वोटो को मजबूत करने में जुटी है.

Tags: Priyanka gandhi, Priyanka Gandhi Politics, UP Assembly Election 2022, UP Assembly Elections 2022

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर