अपना शहर चुनें

States

69000 शिक्षक भर्ती मामला: Facebook Live में स्‍टूडेंट्स से बोलीं प्रियंका गांधी, हम सब मिलकर खड़े होंगे तभी बदलाव होगा

प्रियंका गांधी   (file photo)
प्रियंका गांधी (file photo)

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi vadra) ने अपने फेसबुक लाइव (Facebook Live) में 69000 शिक्षक भर्ती मामले को लेकर यूपी सरकार पर कई बड़े आरोप लगाए हैं.

  • Share this:
लखनऊ. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi vadra) ने 69000 शिक्षक भर्ती मामले को लेकर उत्‍तर प्रदेश की योगी सरकार (Yogi Government) पर हमलावर हो गई हैं. उन्‍होंने अपने फेसबुक लाइव में इसे उत्‍तर प्रदेश सरकार का व्‍यापम घोटाला (Vyapam Scam) करार दिया है. उन्‍होंने कहा, '69000 शिक्षक भर्ती में गड़बड़ी के तथ्‍य सामान्‍य नहीं हैं. डायरियों में छात्रों के नाम, पैसे का लेनदेन, परीक्षा केंद्रों में बड़ी हेराफेरी आदि यह दर्शाता है कि इन गड़बड़ियों के पीछे कोई रैकेट काम कर रहा है.' कांग्रेस नेता ने कहा कि छात्र-छात्राओं के आक्रोश और मीडिया रिपोर्ट्स से इस बात का पता चलता है कि शिक्षक भर्ती में बड़ा घोटाला हुआ है. इससे यह भी साफ होता है कि इसके तार कई जगहों से जुड़े हैं.

साथ ही उन्‍होंने कहा कि अगर योगी सरकार ने शिक्षक भर्ती में पारदर्शिता बरती थी तो ये मामला अब तक लटक क्‍यों रहा है. यही नहीं, सरकार छात्रों की आवाज दबाने की कोशिश क्‍यों कर रही है. इसके साथ उन्‍होंने कहा कि जब से मैं यूपी में कांग्रेस का प्रचार कर रही हूं तब ये देखने में आता है कि यहां परीक्षाओं में घोटाले, नियम बदलाव और भ्रष्‍टाचार की चर्चा होती रहती है. मैंने कई छात्राओं से बातचीत की तो पता चला है कि वे 200-300 किलोमीटर दूर परीक्षाएं देने गई थीं और तीन-तीन परीक्षाएं देने के बाद उन्‍हें कामयाबी मिली है, लेकिन सरकार की वजह से सब कुछ अटक गया. मुझे ये बात सुनकर बहुत दुख होता है. प्रियंका ने कहा कि अगर सरकार सब कुछ ठीक होने का दावा कर रही है तो ये हंगामा क्‍यों हो रहा है. अगर सिर्फ कुछ सेंटर पर दिक्‍कत हुई तो बाकी छात्रों के साथ ये अन्‍याय क्‍यों हो रहा है. उन्‍होंने छात्र-छात्राओं से अपील की है कि जब हम सब मिलकर खड़े होंगे तभी बदलाव होगा.

कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने कही ये बात
अपने फेसबुक लाइव में कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने शिक्षक भर्ती में कथित अनियमितता को लेकर कहा, 'मेहनत करने वाले युवाओं के साथ अन्‍याय नहीं होना चाहिए. सरकार अगर न्‍याय नहीं दे सकी तो इसका जवाब आंदोलन से दिया जाएगा. 69000 शिक्षकों की भर्ती में व्‍यापक पैमाने पर धांधली हुई है. इसके बावजूद सब लोग चुप क्‍यों बैठे हैं? उत्‍तर प्रदेश सरकार को मामले की जांच करानी चाहिए.' यही नहीं, उन्‍होंने अपने फेसबुक लाइव में छात्रों को भरोसा दिया है कि कांग्रेस हर तरीके से उनके साथ और जरूरत पड़ी तो आंदोलन भी करेगी.
कांग्रेस नेता ने कहा कि 68500 भर्ती मामले में भी बड़े पैमाने पर गड़बड़ी हुई थी. युवाओं के आवाज उठाने के बाद पुनर्मूल्यांकन में लगभग 5000 अभ्यर्थी पास हुए थे. अब 69000 में भी भारी हेरफेर सामने आई है. उन्होंने कहा कि सरकार को युवाओं की आवाज को भर्ती प्रक्रियाओं में भ्रष्टाचार खत्म करने की मांग के बतौर देखना चाहिए, लेकिन योगी सरकार छात्रों की बात सुनने के बजाए उन्‍हें गिरफ्तार कर रही है. उन्‍होंने कहा कि हमने सीएए और एनआरसी पर भी छात्रों की आवाज के साथ अपनी आवाज मिलाई थी और इस बार भी हम हर तरीके से छात्रों के साथ खड़े हैं.



ये भी पढ़ें :-

यूपी में सरकारी भर्तियों को लेकर अखिलेश यादव का सीएम योगी पर तंज, किया ये ट्वीट

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज