Lucknow news

लखनऊ

अपना जिला चुनें

'मिशन 2022' की चुनावी रणनीति बनाने में जुटीं प्रियंका गांधी, पंचायत चुनाव में नहीं खुला कांग्रेस का खाता!

'मिशन 2022' की चुनावी रणनीति बनाने में जुटीं प्रियंका गांधी, पंचायत चुनाव में नहीं खुला कांग्रेस का खाता!

'मिशन 2022' की चुनावी रणनीति में जुटी प्रियंका गांधी (File photo)

Priyanka Gandhi Organizing Training Camp In UP: कांग्रेस (Congress) के प्रवक्ता अंशु अवस्थी ने बताया कि प्रियंका गांधी लगातार प्रशिक्षण शिविरों के जरिए कार्यकर्ताओं को टिप्स देकर अपना अनुभव साझा कर रही है.

SHARE THIS:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में अगामी विधानसभा चुनाव के पहले कांग्रेस (Congress) ने इन दिनों युद्धस्तर पर अपनी चुनावी तैयारियां शुरू कर दी है. इसी कड़ी में कांग्रेस महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) यूपी में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले एक रणनीति के तहत कांग्रेस कार्यकर्ताओं को मंत्र दे रही हैं. रविवार को पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी ने सूबे की राजधानी लखनऊ और मथुरा के प्रशिक्षण शिविरों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित किया. इन शिविरों में कांग्रेस के अलग-अलग पदाधिकारी मौजूद रहे. राज्य में जमीनी स्तर पर मजबूत पकड़ बनाने के लिए कांग्रेस महासचिव ने खुद प्रशिक्षण शिविर की कमान संभाल ली है.

प्रशिक्षण जोन वार हो रहा है, जिसमें ब्लॉक, अध्यक्ष, जिला, शहर, स्थानीय अध्यक्ष और प्रदेश के तमाम पदाधिकारी शामिल हो रहे हैं, जिससे कांग्रेस के स्थानीय नेतृत्व का मनोबल अच्छा हो और चुनावों के लिए कार्यकर्ता बेहतर जमीन पार्टी के लिए तैयार करें. यूपी में जमीन खोती कांग्रेस के लिए यह एक बड़ा कदम साबित होगा. लेकिन सबसे खास बात है कि जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में उनकी पार्टी का खाता भी नहीं खुला.

15 जुलाई के बाद प्रियंका का यूपी दौरा संभव
कांग्रेस के प्रवक्ता अंशु अवस्थी ने बताया कि प्रियंका गांधी लगातार प्रशिक्षण शिविरों के जरिए कार्यकर्ताओं को टिप्स देकर अपना अनुभव साझा कर रही है. उन्होंने बताया कि 15 जुलाई के बाद प्रियंका उत्तर प्रदेश के दौरे पर आ सकती हैं. अवस्थी के मुताबिक 2022 चुनाव से पहले कांग्रेस किसानों, दलितों, बेरोजगारों और कानून व्यवस्था के मुद्दे को लेकर जनता में जाएंगी. पंचायत चुनाव में एक भी सीट हासिल न करने के सवाल पर अंशु अवस्थी ने बताया कि जो जनता के द्वारा सदस्य चुने गए थे, उसमे 271 कांग्रेस के विजयी हुए हैं, बाकी 511 सीटों पर हम दूसरे स्थान पर रहे.





जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में जमकर हुई धांधली
उन्होंने कहा कि बीजेपी ने जिस तरह से शासन-प्रशासन, डीएम, एसपी, दारोगा, सिपाही और तहसीलदार का जिला पंचायत अध्यक्ष चुनने में दुरूपयोग किया है, यह न तो अब तक हुआ था, और न भविष्य में होगा. डीएम-एसपी के जरिये बीजेपी ने जिला पंचायत अध्यक्ष तो अपने बना लिए हैं. लेकिन वो जनता या बीजेपी के प्रति जवाबदेह नहीं होंगे. आने वाले समय में जनता इन सभी बातों का उचित जवाब देगी.

कांग्रेस-बसपा का नहीं खुला खाता
उधर राष्ट्रीय पार्टी कांग्रेस और बसपा का चुनाव में खाता भी नहीं खुला. एक भी सीट न जीतने वाली कांग्रेस और बसपा की रणनीति भविष्य में उसकी मुश्किलें और बढ़ा सकती है. कांग्रेस की बात करें तो वह कहीं मैदान में भी नजर नहीं आई. कांग्रेस का कोई बड़ा नेता जीत के लिए कोशिश भी करता नजर नहीं आया. अमेठी, रायबरेली के साथ ही कोंग्रे प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू के कुशीनगर और विधानमंडल की नेता आराधना मिश्रा के क्षेत्र प्रतापगढ़ में भी कांग्रेस कहीं नजर नहीं आई.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

UP Elections: 300 यूनिट फ्री करने से ज्यादा आसान है बिजली सस्ती करना: उपभोक्ता परिषद

UP Elections: 300 यूनिट फ्री करने से ज्यादा आसान है बिजली सस्ती करना: उपभोक्ता परिषद

UP News: उत्तर प्रदेश राज्य विद्युत उपभोक्ता परिषद ने दोनों विकल्पों फ्री बिजली और सस्ती बिजली के निर्णय पर अध्ययन कर बताया कि सस्ती बिजली सभी उपभोक्ताओं के लिए ज्यादा कारगर है, जबकि फ्री बिजली का विकल्प दूरगामी नहीं है.

SHARE THIS:

लखनऊ. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (UP Assembly Elections-2022) में सस्ती और फ्री बिजली (Free Electricity) मुख्य मुद्दा होगा, यह बात बिलकुल तय है. सभी राजनीतिक पार्टियां अभी से बिजली के मुद्दे पर लामबंदी में लग गई हैं. आम आदमी पार्टी (Aam Admi Party) ने 300 यूनिट तक घरेलू उपभोक्ताओं के लिए सत्ता में आने पर फ्री बिजली देने व किसानों को भी फ्री बिजली देने का एलान किया है. इससे पहले पश्चिम बंगाल के चुनाव में बीजेपी (BJP) ने कहा था कि उनकी सरकार बनी तो 200 यूनिट फ्री होगी. इसके बाद उत्तराखंड में बीजेपी सरकार के ऊर्जा मंत्री ने कहा कि 100 यूनिट बिजली जल्द होगी फ्री. जानकारों का मानना है कि फ्री बिजली सरकारें एक निश्चित समय के लिए दे सकती हैं, वह भी सब्सिडी देकर. लेकिन सस्ती बिजली लम्बे समय तक सभी उपभोक्ताओं को सरकारें दे सकती हैं. उत्तर प्रदेश राज्य विद्युत  उपभोक्ता परिषद का मानना है कि सस्ती बिजली सभी को आसानी से प्रदेश में दी जा सकती है.

परिषद का कहना है कि सभी पार्टियां चुनाव आते ही बड़ी-बड़ी बातें करती हैं लेकिन उसके पीछे कोई प्रस्ताव नहीं घोषित करती हैं. उपभोक्ता परिषद ने दोनों विकल्पों फ्री और सस्ती पर जब अध्ययन किया तो जो स्थिति सामने आई, उसमें सस्ती बिजली सभी उपभोक्ताओं के लिए ज्यादा कारगर साबित हुई. क्योंकि फ्री बिजली का विकल्प दूरगामी नहीं है.

34 प्रतिशत सस्ती हो सकती है बिजली दरें

उत्तर प्रदेश राज्य विद्युत उपभोक्ता परिषद के अध्यक्ष व राज्य सलाहकार समिति के सदस्य अवधेश कुमार वर्मा ने कहा कि वैसे देश में उत्तर प्रदेश पहला राज्य है, जहां प्रदेश के उपभोक्ताओं का बिजली कम्पनियों पर उदय व ट्रूप में अब तक कुल लगभग 20596  करोड़ रुपया निकल रहा है. जिसके एवज में उपभोक्ता परिषद् ने नियामक आयोग में बिजली दरों में एक साथ 34 प्रतिशत. और यदि एक साथ न सम्भव हो तो अलग-अलग वर्षों में अगले 5 वर्षों तक 6.8 प्रतिशत बिजली दरों में कमी किए जाने की याचिका दाखिल की है. जाहिर है यूपी सरकार आज चाहे तो प्रदेश के उपभोक्ताओं की बिजली दरों में कमी हो सकती है.

AAP यूपी में लाई दिल्‍ली का फॉर्मूला, सिसोदिया का बड़ा ऐलान- हमारी सरकार बनी तो 300 यूनिट बिजली फ्री

अवधेश वर्मा आगे कहते हैं कि अब सवाल उठता है कि क्या प्रदेश में 300 यूनिट तक बिजली फ्री दी जा सकती है? तो यह सरकारों को तय करना है क्योंकि फ्री बिजली देने का मतलब सरकार उसके एवज में सब्सिडी बढ़ाये.

300 यूनिट बिजली फ्री करने पर सरकार पर बढ़ जाएगा बोझ

पूरे प्रदेश में वर्ष 2021 -22 के आकड़ों पर गौर करें तो प्रदेश में कुल लगभग 2 करोड़ 75 लाख घरेलू उपभोक्ता हैं, जिनसे कुल राजस्व, जो विद्युत नियामक आयोग द्वारा अनुमोदित किया गया, वह लगभग 26741 करोड़ है. वर्तमान में सरकार द्वारा कुल घोषित सब्सिडी लगभग 11 हजार करोड़ है. अब सवाल यह उठता है कि अगर 300 यूनिट तक घरेलू उपभोक्ताओं को प्रदेश में फ्री बिजली दी जाय तो उनकी कुल संख्या लगभग 2 करोड़ 43 लाख के करीब होगी और उनसे वर्तमान में जो राजस्व अनुमोदित है, वह लगभग 21186 करोड़ है. यानी फ्री बिजली देना है तो लगभग 21182 करोड़ की अतिरिक्त सब्सिडी देनी होगी.

वहीं किसानों की बात करें तो उनकी कुल संख्या लगभग 13 लाख है. उनका जो कुल राजस्व अनुमोदित है, वह लगभग 1845 करोड़ है. यानी किसानों की बिजली फ्री करने के लिए अतिरिक्त लगभग 2000 करोड़ की सब्सिडी सरकार को देना होगा.

UP Lekhpal Recruitment 2021: क्या यूपी लेखपाल भर्ती परीक्षा में कठिन प्रश्न पूछे जाएंगें? जानें यहां

UP Lekhpal Recruitment 2021: क्या यूपी लेखपाल भर्ती परीक्षा में कठिन प्रश्न पूछे जाएंगें? जानें यहां

UP Lekhpal Recruitment 2021: उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (UPSSSC) ने प्रदेश में राजस्व लेखपाल के 7,882 पदों पर भर्ती कराने की घोषणा की थी. जिसके लिए नंवबर 2021 में परीक्षा आयोजित की जाएगी.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 16, 2021, 17:13 IST
SHARE THIS:

नई दिल्ली. UP Lekhpal Recruitment 2021: उत्तर प्रदेश लेखपाल भर्ती परीक्षा के लिए, युवा बड़ी बेसब्री से अधिसूचना का इंतजार कर रहे हैं. गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (UPSSSC) ने प्रदेश में राजस्व लेखपाल के 7,882 पदों पर भर्ती कराने की घोषणा की थी. जिसके लिए नंवबर 2021 में परीक्षा आयोजित की जाएगी.

हालांकि आयोग ने पहले ही ये स्पष्ट कर दिया है कि केवल वे ही उम्मीदवार इस भर्ती के लिए आवेदन कर सकेंगें जो UPSSSC PET 2021 में सफल होंगे. आयोग द्वारा निकाली जाने वाली ग्रुप सी पदों पर भर्ती के लिए लागू की गई PET परीक्षा 24 अगस्त 2021 को आयोजित की गई थी. अक्टूबर माह में इसके रिजल्ट जारी होने की उम्मीद की जा रही है.

UP Lekhpal Recruitment 2021: क्या होगा प्रश्नों का स्तर
गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में लेखपाल भर्ती साल 2018 की बाद अब आयोजित की जा रही है. ऐसे में परीक्षा में शामिल होने जा रहे उम्मीदवारों के मन में ये सवाल पैदा हो रहा है कि इसमें पूछे जाने वाले प्रश्नों के कठिनाई का स्तर क्या रहने वाला है. तो बता दें कि 2018 में आयोजित अंतिम लेखपाल भर्ती परीक्षा में 12वीं लेवल के प्रश्न उम्मीदवारों से पूछे गए थे. ऐसे में संभावना जताई जा रही है कि लेखपाल भर्ती परीक्षा में भी इसी स्तर के सवाल पूछे जाएंगें.

ये भी पढ़ें-
Sarkari Naukri: इन सरकारी विभागों में निकली हैं बंपर नौकरियां,यहां देखिए डिटेल
Railway Jobs : उत्तर रेलवे में 10वीं पास के लिए 3000 से अधिक नौकरियां

Sarkari Naukri : उत्तराखंड, राजस्थान, यूपी, झारखंड और पंजाब में 16000 से अधिक नौकरियां, टीचर सहित इन पदों के लिए करें आवेदन

Sarkari Naukri : उत्तराखंड, राजस्थान, यूपी, झारखंड और पंजाब में 16000 से अधिक नौकरियां, टीचर सहित इन पदों के लिए करें आवेदन

Sarkari Naukri : पंजाब, राजस्थान, यूपी, झारखंड और उत्तराखंड में ग्रजुएट से लेकर 10वीं पास तक के लिए नौकरियां हैं. उत्तराखंड में चल रही टेक्नीशियन स्टाफ भर्ती के लिए आवेदन की अंतिम तिथि बढ़ गई है.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 16, 2021, 17:08 IST
SHARE THIS:

नई दिल्ली. Sarkari Naukri : सरकारी नौकरियों के लिए प्रयासरत युवाओं के लिए बंपर भर्तियां निकली हैं. पंजाब, राजस्थान, उत्तराखंड और झारखंड में ही 16500 से अधिक नौकियां हैं. यहां टीचर से लेकर कुक, चौकरीदार, डाक सेवक, टेक्नीशियन और वीडियो जैसे पदों पर भर्तियां हो रही हैं. इस तरह हाई स्कूल पास से ग्रेजुएट तक के लिए नौकरियां हैं. इन सब पदों के लिए आवेदन की अंतिम तिथि नजदीक है. हालांकि पंजाब में अभी भर्ती शुरू होने वाली है. शानदार सरकारी नौकरी के सपने पूरे करने का यह अच्छा मौका है. न्यूनतम योग्यता की शर्तें पूरी कर रहे हैं तो तुरंत आवेदन कर दें.

बात उत्तराखंड से शुरू करें तो यहां मेडिकल कॉलेजों में टेक्नीशियन स्टाफ के पदों पर भर्ती निकली है. उत्तराखंड मेडिकल सर्विस सेलेक्शन बोर्ड द्वारा जारी नोटिफिकेशन के अनुसार कुल 306 वैकेंसी है. इसके लिए आवेदन की अंतिम तिथि 15 सितंबर थी. जिसे बढ़ाकर अब 15 अक्टूबर कर दिया गया है. टेक्नीशियन स्टाफ भर्ती के अंतर्गत लैब टेक्नीशियन, ओटी टेक्नीशियन और रेडियोथेरेपी टेक्नीशियन के साथ सीएसएसडी टेक्नीशियन, ईसीजी टेक्नीशियन, ऑडियोमेट्री टेक्नीशियन, डेंटल टेक्नीशियन, फिजियोथेरेपिस्ट, रिसेप्शनिस्ट और रेडियो ग्राफिक टेक्नीशियन पदों पर भर्ती होगी. पूरी

झारखंड में टीचर से लेकर चौकीदार तक की नौकरियां

झारखंड शिक्षा परियोजना परिषद ने प्रदेश के आवासीय कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों में टीचर, अकाउंटेंट कम कंप्यूटर ऑपरेटर, कुक और चौकीदार के पदों पर भर्ती निकली है. इसके तहत कुल 479 वैकेंसी है. इन पदों पर सिर्फ महिलाओं की भर्ती होगी. इसके लिए आवेदन की अंतिम तिथि 27 सितंबर 2021 है. इसके लिए आवेदन ऑफलाइन करना है.

Sarkari Naukri : टीचर से लेकर चौकीदार तक 450 से अधिक नौकरियां, तुरंत करें आवेदन

पंजाब में टीचर्स की 8000 से अधिक वैकेंसी

पंजाब शिक्षा विभाग ने प्री प्राइमरी टीचर्स की 8393 पदों पर भर्ती निकाली है. इसके लिए आवेदन की प्रक्रिया 11 अक्टूबर 2021 से शुरू होगी. इसके लिए आवेदन पंजाब स्कूल शिक्षा विभाग की वेबसाइट educationrecruitmentboard.com परा जाकर किया जा सकेगा. प्री प्राइमरी शिक्षक पद के लिए न्यूनतम शैक्षिक योग्यता 12वीं पास मांगी गई है. आवेदन के 12वीं में न्यूनतम 45% अंक होने चाहिए. इसके अलावा नर्सरी टीचर एजुकेशन प्रोग्राम में डिप्लोमा या सर्टिफिकेट भी जरूरी है.

प्री प्राइमरी टीचर्स की 8000 से अधिक वैकेंसी

राजस्थान में ग्राम विकास अधिकारी के पदों पर वैकेंसी

राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड ने ग्राम विकास अधिकारी के 3896 पदों पर भर्ती निकाली है. इसके लिए आवेदन 09 अक्टूबर तक किया जा सकता है. आवेदन र्थी चयन बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट www.rsmssb.rajasthan.gov.in पर जाकर करना है. राजस्थान ग्राम विकास अधिकारी भर्ती 2021 में कुल रिक्त पदों की दो फीसदी सीटें खिलाड़ियों के लिए आरक्षित की गई हैं. खिलाड़ियों को आक्षण क्षैतिज रूप में मिलेगा यानी अभ्यर्थी जिस वर्ग (सामान्य/इडब्लूएस/एससी/एसटी /ओबीसी/एमबीसी) का होगा उसे उसी वर्ग के अंर्गत समायोजित किया जाएगा.

ग्राम विकास अधिकारी के पदों पर करें आवेदन

यूपी में 4000 से अधिक वैकेंसी

उत्तर प्रदेश में भारतीय डाक विभाग ग्रामीण डाक सेवक पदों पर बंपर भर्तियां कर रहा है. इसके लिए आवेदन की अंतिम तिथि 22 सितंबर है. ग्रामीण डाक सेवक भर्ती के तहत असिस्टेंट ब्रांच पोस्ट मास्टर और ब्रांच पोस्ट मास्टर के 4000 से अधिक पदों पर भर्ती होगी. इसके लिए आवेदन ऑनलाइन करना है. इसके लिए न्यूनतम शैक्षिक योग्यता 10वीं पास मांगी गई है.

डाक विभाग में 10वीं पास के लिए 4000 से अधिक नौकरियां

ये भी पढ़ें-
Sarkari Naukri : बीटेक से 12वीं पास तक के लिए नौकरियां, 78 हजार तक मिलेगी सैलरी
UPCET Counselling 2021: यूपीसीईटी काउंसलिंग 2021 स्थगित, नई तिथि जल्द

Sarkari Naukri: यूपी और उतराखंड के इन बंपर भर्तियों की लास्ट डेट नजदीक, 10वीं पास करें अप्लाई

Sarkari Naukri: यूपी और उतराखंड के इन बंपर भर्तियों की लास्ट डेट नजदीक, 10वीं पास करें अप्लाई

India Post GDS Recruitment 2021: उम्मीदवारों को ध्यान देना चाहिए कि भर्ती के लिए आवेदन की अंतिम तिथि नजदीक है. इसलिए उन्हें जल्द से जल्द भारतीय डाक की वेबसाइट पर जाकर आवेदन कर लेना चाहिए.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 16, 2021, 17:03 IST
SHARE THIS:

नई दिल्ली. India Post GDS Recruitment 2021: उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में भारतीय डाक विभाग द्वारा आयोजित ग्रामीण डाक सेवक के पदों पर भर्ती जारी है. गौरतलब है कि इन प्रदेशों में ग्रामीण डाक सेवक के 4845 पदों पर भर्तियां निकाली गई हैं. जिनके लिए हाईस्कूल पास युवा भी आवेदन कर सकते हैं. खास बात यह है कि भर्ती के लिए किसी प्रकार की परीक्षा नहीं ली जाएगी. उम्मीदवारों का चयन केवल 10वीं की मेरिट लिस्ट के आधार पर किया जाएगा.

बता दें कि भारतीय डाक विभाग आवेदन प्रक्रिया संपन्न होने के बाद मेरिट लिस्ट जारी कर देगा. उम्मीदवारों को ध्यान देना चाहिए कि भर्ती के लिए आवेदन की अंतिम तिथि नजदीक है. इसलिए उन्हें जल्द से जल्द भारतीय डाक की वेबसाइट पर जाकर आवेदन कर लेना चाहिए.

India Post GDS Recruitment 2021: वैकेंसी डिटेल
भर्ती के लिए जारी आधिकारिक अधिसूचना के अनुसार उत्तर प्रदेश में 4264 और उत्तराखंड में 581 ग्रामीण डाक सेवक के पदों पर भर्ती निकाली गई है. अधिक जानकारी के लिए उम्मीदवार भारतीय डाक की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं.

India Post GDS Recruitment 2021: महत्वपूर्ण तारीखें
आवेदन प्रक्रिया की शुरूआत- 23 अगस्त 2021
आवेदन करने की अंतिम तिथि- 22 सितंबर 2021
आवेदन फीस भरने की अंतिम तिथि- 22 सितंबर 2021
मेरिट लिस्ट जारी होने की तिथि- फिलहाल घोषित नहीं हुई है

ये भी पढ़ें-
Sarkari Naukri: इन सरकारी विभागों में निकली हैं बंपर नौकरियां,यहां देखिए डिटेल
Railway Jobs : उत्तर रेलवे में 10वीं पास के लिए 3000 से अधिक नौकरियां

AAP यूपी में लाई दिल्‍ली का फॉर्मूला, सिसोदिया का बड़ा ऐलान- हमारी सरकार बनी तो 300 यूनिट बिजली फ्री

AAP यूपी में लाई दिल्‍ली का फॉर्मूला, सिसोदिया का बड़ा ऐलान- हमारी सरकार बनी तो 300 यूनिट बिजली फ्री

Uttar Pradesh Assembly Election: उत्तर प्रदेश चुनाव से छह महीने पहले आम आदमी पार्टी ने बड़ा ऐलान किया कि उप्र में सरकार आते ही लोग अपने भारी भरकम बिजली बिल फाड़कर फेंक दें क्योंकि सबके बकाया बिजली बिल माफ कर दिए जाएंगे.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 16, 2021, 16:45 IST
SHARE THIS:

लखनऊ. दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने गुरुवार को बड़ा ऐलान करते हुए उत्तर प्रदेश की चुनावी राजनीति में एक खलबली मचा दी. लखनऊ पहुंचे सिसोदिया ने ऐलान करते हुए कहा कि उप्र की जनता अगर आम आदमी पार्टी को वोट देती है, तो आप की सरकार बनने के 24 घंटों के भीतर घरेलू बिजली फ्री कर दी जाएगी, जिस तरह दिल्ली में केजरीवाल सरकार ने यह कीर्तिमान रचकर दिखाया है. घरेलू उपयोग के लिए 300 यूनिट तक की बिजली मुफ्त देने का ऐलान करते हुए सिसौदिया ने कहा कि यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार के कार्यकाल में लोग महंगे बिजली बिलों से परेशान हैं और खासकर किसान दुखी हैं, जिन्हें महंगी बिजली मिल रही है. सिसोदिया ने कहा कि ‘आपका वोट इस समस्या को सुलझा सकता है. अगर आप हमें वोट देंगे तो इस समस्या से निजात मिलेगी.’

सिसोदिया ने यह भी कहा कि अगर आम आदमी पार्टी सत्ता में आती है तो राज्य के हर किसान को खेती के लिए बिजली का कोई शुल्क नहीं देना होगा. बड़ा ऐलान करते हुए उन्होंने कहा, ‘चाहे जितनी भी बिजली की ज़रूरत हो, किसानों का बिजली बिल ज़ीरो आएगा.’ सिसोदिया ने कहा कि उप्र में 5 से 10 हज़ार कमाने वाले लोगों के यहां बिजली बिल लाखों रुपये के आ रहे हैं और लोग सुसाइड तक कर रहे हैं. ऐसे सैकड़ों लोग हैं, जो इस तरह से त्रस्त हैं.

सिसोदिया ने एक वीडियो जारी करते हुए अपना पूरा बयान दिया और उप्र के कई मामलों का हवाला देते हुए बताया कि किस तरह लोग बिजली बिलों के चक्कर में आत्महत्या कर रहे हैं. उन्होंने यह भी कहा कि दिल्ली में सिर्फ बिजली बिलों की ही नहीं बल्कि पावर कट की समस्या भी सुलझी है. केजरीवाल सरकार का यही कारनामा आप उप्र में भी करके दिखाएगी.

UPSSSC PET 2021: जानें कितना रह सकता है कट-ऑफ, रिजल्ट को लेकर ये है लेटेस्ट अपडेट  

UPSSSC PET 2021: जानें कितना रह सकता है कट-ऑफ, रिजल्ट को लेकर ये है लेटेस्ट अपडेट  

UPSSSC PET Result 2021: उम्मीदवारों के मन में इस बात को लेकर चिंता बढ़ रही है कि कितने नंबर लाने पर वे परीक्षा पास कर लेंगें. यानी की इस परीक्षा का कट ऑफ स्कोर क्या रहने वाला है. इसे लेकर महत्वपूर्ण जानकारी नीचे साझा की जा रही है.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 16, 2021, 16:37 IST
SHARE THIS:

नई दिल्ली. UPSSSC PET Result, Cut Off 2021: उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग द्वारा 24 अगस्त 2021 को प्रारंभिक पात्रता परीक्षा (UPSSSC PET 2021) का आयोजन किया गया था. परीक्षा में शामिल होने वाले उम्मीदवारों को अब इसके रिजल्ट का बेसब्री से इंतजार है. गौरतलब है कि UPSSSC द्वारा आगे निकाली जाने वाली ग्रुप-C पदों पर भर्तियों के लिए UPSSSC PET 2021 में उतीर्ण होना अनिवार्य है. ऐसे में यह परीक्षा और भी महत्वपूर्ण हो जाती है.

चूंकि आयोग ने भविष्य की भर्तियों के लिए PET में पास होना अनिवार्य कर दिया है. ऐसे में उम्मीदवारों के मन में इस बात को लेकर चिंता बढ़ रही है कि कितने नंबर लाने पर वे परीक्षा पास कर लेंगें. यानी की इस परीक्षा का कट ऑफ स्कोर क्या रहने वाला है. इसे लेकर महत्वपूर्ण जानकारी नीचे साझा की जा रही है.

UPSSSC PET Result, Cut Off 2021: कितना रह सकता है कट-ऑफ
बता दें कि फिलहाल आयोग ने इस बात को लेकर कोई जानकारी नहीं दी है कि कितना नंबर लाने पर उम्मीदवारों को परीक्षा में सफल माना जाएगा. लेकिन एक्सपर्ट्स और कई मीडिया रिपोर्ट्स द्वारा परीक्षा में उपस्थित होने वाले उम्मीदवारों की संख्या के आधार पर ये अनुमान लगाया जा रहा है कि UPSSSC PET 2021 का कट ऑफ 70 अंकों के आस-पास रह सकता है. उम्मीदवारों को सलाह दी जाती है कि वे रिजल्ट और कट ऑफ सम्बन्धी अपडेट के लिए आयोग की आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करते रहें.

ये भी पढ़ें-
Sarkari Naukri: इन सरकारी विभागों में निकली हैं बंपर नौकरियां,यहां देखिए डिटेल
Railway Jobs : उत्तर रेलवे में 10वीं पास के लिए 3000 से अधिक नौकरियां

PM Modi Birthday: PM मोदी के जन्मदिन 17 सितंबर को खास बनाने के लिए UP, बिहार सहित इन राज्यों ने ये लक्ष्य निर्धारित किया

PM Modi Birthday: PM मोदी के जन्मदिन 17 सितंबर को खास बनाने के लिए UP, बिहार सहित इन राज्यों ने ये लक्ष्य निर्धारित किया

PM Modi Birthday: पीएम मोदी के जन्मदिन (PM Modi's Birthday) को खास बनाने के लिए कई राज्यों ने खास तैयारी की है. उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और उत्तराखंड सहित कई गैरबीजेपी शासित राज्यों में भी पीएम मोदी का जन्मदिन खास तरह से मनाया जाएगा. इस बार पीएम मोदी के जन्मदिन पर देश के तकरीबन सभी राज्यों ने कोरोना वैक्सीनेनशन के लिए पहले की तुलना में ज्यादा लक्ष्य निर्धारित किया है.

SHARE THIS:

नई दिल्ली. पीएम मोदी के जन्मदिन (PM Modi’s Birthday) को खास बनाने के लिए कई राज्यों ने खास तैयारी की है. उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और उत्तराखंड सहित कई गैरबीजेपी शासित राज्यों में भी पीएम मोदी का जन्मदिन खास तरह से मनाया जाएगा. इस बार पीएम मोदी के जन्मदिन पर देश के तकरीबन सभी राज्यों ने कोरोना वैक्सीनेनशन के लिए पहले की तुलना में ज्यादा लक्ष्य निर्धारित किया है. इसके लिए राज्य सरकारें स्वास्थ्य विभाग को अलर्ट कर दिया है. स्वास्थ्य विभाग ने भी इसे चैलेंज के तौर पर ले कर काम शुरू कर दिया है. बता दें कि पीएम मोदी का जन्मदिन 17 सितंबर को है. इस दिन को ऐतिहासिक बनाने के लिए राज्य सरकारों ने रिकॉर्ड कोविड वैक्सीनेशन का लक्ष्य तय निर्धारित किया है. माना जा रहा है कि पीएम मोदी के जन्मदिन के मौके पर देश देश में टीकाकरण का एक नया रिकॉर्ड बनाएगा, जो पिछले सारे रिकॉर्ड को तोड़ देगा.

अगर बिहार की बात करें तो पीएम मोदी के जन्मदिन को खास बनाने के लिए नीतीश सरकार ने स्वास्थ्य विभाग को एक दिन में यानी 17 सितंबर को 30 लाख से अधिक लोगों को वैक्सीन देने का लक्ष्य निर्धारित किया है. वहीं, उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने भी 50 लाख से ज्यादा लोगों को एक दिन में वैक्सीनेशन का लक्ष्य निर्धारित किया है. इसी तरह मध्य प्रदेश, गोवा, उत्तराखंड, हरियाणा, असम, गुजरात और कर्नाटक सहित कई बीजेपी शासित राज्यों ने अपने यहां कोविड वैक्सीनेशन का लक्ष्य पहले की तुलना में ज्यादा तय कर रखा है.

Narendra Modi Birthday, pm modi bithday celebrations, 17th september, bihar, uttar pradesh, haryana, himachal pradesh, पीएम नरेंद्र मोदी जन्मदिन, नरेंद्र मोदी का जन्मदिन कब होता है, कोविड वैक्सीनेशन, बिहार, उत्तर प्रदेश, योगी सरकार, नीतीश सरकार, हरियाणा सरकार, इन राज्यों में ऐसे मनाया जाएगा पीएम मोदी का जन्मदिन, कोविड वैक्सीनेशन, कोरोना टीकाकरण अभियान,

पीएम मोदी के जन्मदिन यानी 17 सितंबर को बिहार में 30 लाख से अधिक लोगों को वैक्सीन देने का लक्ष्य. 

बिहार और यूपी ने ये लक्ष्य निर्धारित किया
बिहार में 17 सितंबर को राज्य के 15 हजार टीकाकरण केंद्रों पर तकरीबन 50 हजार स्वास्थ्यकर्मी इस महाअभियान को सफल बनाने के लिए सुबह से शाम तक लगे रहेंगे. बिहार के स्वास्थ्य मंत्री ने इसके लिए जिलों के सभी सिविल सर्जनों और मेडिकल कॉलेज अस्पतालों के प्राचार्यों को विशेषतौर पर निर्देश जारी किया है. दो दिन पहले ही राज्य के सीएम नीतीश कुमार ने इसको लेकर चर्चा की थी.

स्वास्थ्यकर्मियों को पीएम मोदी के जन्मदिन पर मिलेगा खास तोहफा
बिहार के स्वास्थ्य विभाग की सूत्रों की मानें तो इस दिन कोरोना टीकाकरण अभियान में शामिल होने वाले सभी टीकाकर्मियों, पहचानकर्ताओं और वाहन चालकों को विशेष भत्ता दिया जाएगा. टीकाकर्मियों और पहचानकर्ताओं को 150-150 रुपये अतिरिक्त और वाहन चालकों को 100 रुपये अधिक भोजन के मद में भुगतान किया जाएगा. राज्य के सभी जिलाधिकारियों के इसके लिए विशेष निर्देश जारी किए गए हैं.

Narendra Modi Birthday, pm modi bithday celebrations, 17th september, bihar, uttar pradesh, haryana, himachal pradesh, पीएम नरेंद्र मोदी जन्मदिन, नरेंद्र मोदी का जन्मदिन कब होता है, कोविड वैक्सीनेशन, बिहार, उत्तर प्रदेश, योगी सरकार, नीतीश सरकार, हरियाणा सरकार, इन राज्यों में ऐसे मनाया जाएगा पीएम मोदी का जन्मदिन, कोविड वैक्सीनेशन, कोरोना टीकाकरण अभियान,

भारत में बीते 16 जनवरी से कोविड टीकाकरण अभियान की शुरुआत हुई थी.  (फाइल फोटो: Shutterstock)

देश में हर रोज तकरीबन 86 लाख लोगों का हो रहा है वैक्सीनेशन
गौरतलब है कि भारत में बीते 16 जनवरी से कोविड टीकाकरण अभियान की शुरुआत हुई थी. सरकार की तरफ से सोमवार को जारी किए गए आंकड़े बताते हैं कि प्रतिदिन औसतन सबसे ज्यादा टीके लगाने के मामले में भारत तेजी से आगे बढ़ रहा है. भारत में हर दिन हो रहे औसतन टीकाकरण की संख्या 18 बड़े देशों से भी ज्यादा है. केंद्र सरकार के आंकड़े बताते हैं कि देश में प्रतिदिन 85.4 लाख डोज लगाए जा रहे हैं. वहीं, अमेरिका, ब्रिटेन, इटली समेत कई देश इस मामले में काफी पीछे चल रहे हैं.

ये भी पढ़ें: न किरायेदार ने छोड़ा, न मालिक ने बेचा मकान, जानें 6 गज में बनी दिल्ली की सबसे छोटी इमारत का अब क्या है हाल

बता दें कोविड वैक्सीनेश में यूपी नंबर वन में पहुंच चुका है. यूपी में अभी तक 9 करोड़ से ज्यादा लोगों को कोरोना वैक्सीनेशन का टीका लग चुका है, जो अपने आप में एक रिकॉर्ड है. पीएम मोदी के जन्मदिन पर योगी सरकार ने विशेष तैयारी की है. देश में कोरोना टीकाकरण का आंकड़ा अब 76 करोड़ के आंकड़े को पार कर गया है. अब तक 58 करोड़ से ज्यादा लोगों को पहले डोज लगाए जा चुके हैं. वहीं, दूसरे डोज की संख्या 19 करोड़ पार कर चुकी है. टीकाकरण के मामले में उत्तर प्रदेश शीर्ष पर है. इसके बाद महाराष्ट्र में टीकाकरण की संख्या 7 करोड़ पहुंची है.

UP: 1992 बैच के 12 पीपीएस अफसर बने IPS, देखिए पूरी लिस्ट

UP: 1992 बैच के 12 पीपीएस अफसर बने IPS, देखिए पूरी लिस्ट

UP News: नई दिल्ली में हुई डीपीसी के दौरान उत्तर प्रदेश के 1992 बैच के 12 पीपीएस अफसरों को आईपीएस में प्रमोशन मिल गया है.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 16, 2021, 15:42 IST
SHARE THIS:

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के पुलिस महकमे में तैनात 1992 बैच के 12 पीपीएस अफसरों (12 PPS Officers) की आईपीएस (IPS) संवर्ग में पदोन्नति की डीपीसी आज दिल्ली में संपन्न गई है. संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की बैठक में शामिल होने के लिए प्रदेश सरकार के मुख्य सचिव राजेंद्र तिवारी, अपर मुख्य सचिव गृह, अवनीश अवस्थी, अपर पुलिस महानिदेशक कार्मिक सहित आला अफसर दिल्ली में मौजूद रहे. डीपीसी के दौरान 1992 बैच के पीपीएस अफसरों को आईपीएस में प्रमोशन मिल गया है.

इन अफसरों में राजेश द्विवेदी, राजेश कुमार श्रीवास्तव, जय प्रकाश सिंह, दिनेश त्रिपाठी, त्रिभुवन सिंह के नाम शामिल हैं. इनके अलावा शशिकांत, रामसेवक गौतम, अजीत कुमार सिन्हा, अवधेश सिंह, पंकज कुमार पांडे, श्रवण कुमार सिंह और सदानंद सिंह यादव पीपीएस से आईपीएस प्रमोट हो गए हैं.

IPS प्रमोट होने वाले अफसर

राजेश द्विवेदी

राजेश कुमार श्रीवास्तव

जय प्रकाश सिंह

दिनेश त्रिपाठी

त्रिभुवन सिंह

शशिकांत

रामसेवक गौतम

अजीत कुमार सिन्हा

अवधेश सिंह

पंकज कुमार पांडे

श्रवण कुमार सिंह

सदानंद सिंह यादव

इनपुट: अनामिका सिंह

लखनऊ: भारी बारिश को देखते हुए जिला प्रशासन ने जारी की एडवाइजरी, हेल्पलाइन नंबर

लखनऊ: भारी बारिश को देखते हुए जिला प्रशासन ने जारी की एडवाइजरी, हेल्पलाइन नंबर

Lucknow News: जिला प्रशासन के अनुसार किसी भी तरह की समस्या के होने पर 6389300137/138/139 पर मदद के लिए फ़ोन करें. राजधानी लखनऊ निवासी इमरजेंसी की अवस्था में 0522-4523000 पर फोन करें.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 16, 2021, 14:58 IST
SHARE THIS:

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के कई जिलों में लगातार भारी बारिश (Heavy Rainfall) ने जन-जीवन बुरी तरह अस्त-व्यस्त कर दिया है. कई जगह मकान गिरने, पेड़ गिरने आदि से जानमाल का भी नुकसान हुआ है. इस बीच लखनऊ (Lucknow) में जारी भारी बारिश को देखते हुए जिला प्रशासन ने एडवाइजरी की है. साथ ही हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए हैं.

एडवाइजरी में जिला प्रशासन ने कहा है कि राजधानीवासी बेवजह घरों से निकलने से बचें. बहुत ज्यादा जरूरी होने पर ही घरों से बाहर निकलें. भीड़भाड़ वाले इलाके और ट्रैफिक जाम से लोग बचे. इसके अलावा खुले सीवर, बिजली के तार, खंभों से बचकर रहें.

जिला प्रशासन के अनुसार किसी भी तरह की समस्या के होने पर 6389300137/138/139 पर मदद के लिए फ़ोन करें. राजधानी लखनऊ निवासी इमरजेंसी की अवस्था में 0522-4523000 पर फोन करें.

बता दें लखनऊ में लगातार तेज हवाओं के साथ बारिश के चलते कई इलाकों में पेड़ गिरने और जगह जगह जलभराव से यातायात में दिक्कतें आ रही हैं. लखनऊ में बुधवार की सुबह से गुरुवार की सुबह तक 107 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है. मौसम विभाग का अनुमान है कि अगले 24 घंटे तक यह सिलसिला जारी रह सकता है.

लखनऊ जिला प्रशासन की एडवाइजरी

advisory, Lucknow rainfall

लखनऊ जिला प्रशासन की एडवाइजरी

स्थिति ये है कि कई मुख्य मार्ग पेड़ गिरने से बंद हो गए हैं. कपूरथला और निरालानगर में पेड़ गिरने से सड़कें बंद हो गई हैं. गोमतीनगर और सरोजनीनगर सहित कई कालोनियों में बारिश का पानी भर गया है, जिससे लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.

कई जिलों में तेज बारिश का सिलसिला जारी

प्रदेश के चार ऐसे जिले हैं जहां पिछले 24 घण्टों में 100 मिलीमीटर से ज्यादा बारिश हो चुकी है. लखनऊ में बुधवार से अभी तक 107 मिलीमीटर, रायबरेली में 186 मिमी, सुल्तानपुर में 118 मिमी और अयोध्या में 104 मिमी बारिश हो चुकी है. रायबरेली में तो स्कूलों में छुट्टी कर दी गयी है. इसके अलावा पिछले 24 घण्टों में गोरखपुर में 96.6 मिमी, वाराणसी में 88 मिमी, बाराबंकी में 94 मिमी और बहराइच में 30 मिमी बारिश दर्ज की गयी है.

UP JEECUP Counselling 2021: यूपी जेईई पॉलिटेक्निक काउंसलिंग की पहली सीट अलॉटमेंट लिस्ट आज, ऐसे करें चेक

UP JEECUP Counselling 2021: यूपी जेईई पॉलिटेक्निक काउंसलिंग की पहली सीट अलॉटमेंट लिस्ट आज, ऐसे करें चेक

UP JEECUP Counselling 2021: आज पहली सीट अलॉटमेंट लिस्ट में शॉर्टलिस्ट किए गए स्टूडेंट्स को 17 सितंबर से 19 सितंबर के बीच जिला सहायता केंद्रों पर फ्रीज, फ्लोट विकल्प चयन और दस्तावेजों को सत्यापित कराना होगा. दूसरे राउंड के लिए सीट अलॉटमेंट लिस्ट 20 सितंबर को जारी की जाएगी.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 16, 2021, 14:20 IST
SHARE THIS:

नई दिल्ली. UP JEECUP Counselling 2021: उत्तर प्रदेश, संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद (UP JEECUP) आज यानी 16 सितंबर को जेईई (पॉलिटेक्निक) काउंसलिंग की पहली सीट अलॉटमेंट लिस्ट जारी करेगा. बता दें कि 14 सितंबर से ग्रेजुएट पॉलिटेक्निक कार्यक्रमों में एडमिशन के लिए पहले दौर की काउंसलिंग शुरू हुई थी. वहीं आज पहली सीट अलॉटमेंट लिस्ट में शॉर्टलिस्ट किए गए स्टूडेंट्स को 17 सितंबर से 19 सितंबर के बीच जिला सहायता केंद्रों पर फ्रीज, फ्लोट विकल्प चयन और दस्तावेजों को सत्यापित कराना होगा.

बता दें कि पहले राउंड की काउंसलिंग प्रक्रिया पूरी होने के बाद दूसरे राउंड के लिए सीट अलॉटमेंट लिस्ट 20 सितंबर को जारी की जाएगी. इसी प्रकारी दूसरे राउंड की काउंसलिंग प्रक्रिया पूरी होने का बाद 23 सितंबर को तीसरे राउंड के लिए सीट अलॉलमेंट लिस्ट जारी की जाएगी.

ये भी पढ़ें-
UPSC CMS 2021: परीक्षा का शेड्यूल जारी, जानें कब होगा एग्‍जाम
Sarkari Naukri: युवाओं के लिए सरकारी नौकरी का मौका, 10वीं पास से लेकर ग्रेजुएट तक करें अप्लाई

13 सितंबर को जारी हुए थे रिजल्ट
उत्तर प्रदेश संयुक्त पॉलिटेक्निक प्रवेश परीक्षा 2021 का आजोनन 31 अगस्त से 4 सितंबर के बीच किया गया था. इसका रिजल्ट 13 सितंबर को जारी किया गया था. परीक्षा में 187640 छात्र शामिल हुए थे. जिसमें से 174770 छात्र पास हुए हैं. मतलब रिजल्ट 93.11 फीसदी रहा है. यूपी पॉलिटेक्निक प्रवेश परीक्षा कुल 241810 सीटों के लिए हुई थी. जिसमें सिर्फ 187640 छात्र ही परीक्षा में शामिल हुए थे. ऐसे में 54170 सीटें रिक्त रहना तय है. UPJEECUP 2021 के लिए उत्तर कुंजी 7 सितंबर को जारी की गई थी.

UP JEECUP First Counselling 2021: ऐसे चेक करें काउंसलिंग की पहली सीट अलॉटमेंट लिस्ट

  • सबसे पहले यूपीजेईई की वेबसाइट jeecup.nic.in पर विजिट करें.
  • यहां होमपेज पर दिए गए लिंक ”Online Registration and Choice Filling 2021 for Round 1” पर क्लिक करें.
  • इसके बाद अब UPJEE रोल नंबर, जन्म तिथि और सुरक्षा पिन दर्ज करके सबमिट करें.
  • यहां सीट अलॉटमेंट की पहली लिस्ट स्क्रीन पर आ जाएगी.
  • अब इस लिस्ट को डाउनलोड करके भविष्य के लिए प्रिंट कर लें.
Load More News

More from Other District

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज