सोनभद्र नरसंहार- देखते देखते यूपी में मुख्य विपक्षी नेता बन गई प्रियंका, सीन से आउट हुईं SP-BSP !

इससे पहले प्रियंका गांधी ने चुनार के किले में शनिवार को सोनभद्र में मारे गए लोगों के परिवार से मिलने के बाद कहा कि वह अपने मकसद में कामयाब रहीं.

NAVEEN LAL SURI | News18Hindi
Updated: July 22, 2019, 2:06 PM IST
सोनभद्र नरसंहार- देखते देखते यूपी में मुख्य विपक्षी नेता बन गई प्रियंका, सीन से आउट हुईं SP-BSP !
प्रियंका गांधी ने 'सोनभद्र नरसंहार' से बदली हाशिए पर कांग्रेस की फिजा.
NAVEEN LAL SURI | News18Hindi
Updated: July 22, 2019, 2:06 PM IST
सोनभद्र में जमीन विवाद को लेकर हुए खूनी संघर्ष में 10 लोगों की मौत के बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के दौरे से एक बार सियासत को हवा मिली है. दरअसल लोकसभा चुनाव में प्रदेश में हुई शर्मनाक हार और उसके बाद कांग्रेस अध्यक्ष पद से राहुल गांधी के इस्तीफे के बाद से कांग्रेस नेता और कार्यकर्ता हताश हैं. निराश पार्टी कार्यकर्ताओं में उत्साह भरने के लिए प्रियंका खुद सड़क पर उतर कर सरकार के खिलाफ मोर्चा लिया. जहां एक तरफ सोनभद्र नरसंहार मामले में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी का शीर्ष नेतृत्व महज लखनऊ से बयानबाजी तक ही सीमित है, तब कांग्रेस की ओर से खुद प्रियंका गांधी ने जमीन पर उतर कर यूपी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला. नतीजन सूबे के कांग्रेसी उत्साहित हैं.

कांग्रेसियों में उत्साह

दरअसल कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी की सोनभद्र के पीड़ितों से मिलने की 26 घंटे तक चली जद्दोजहद हताश-नाउम्मीद कांग्रेसियों में उत्साह भरने में कामयाब रही है. साथ ही, भाजपा सरकार के खिलाफ विपक्षी दलों में कांग्रेस को फिलहाल बढ़त भी दिला गई है. इससे पहले प्रियंका गांधी ने चुनार के किले में शनिवार को सोनभद्र में मारे गए लोगों के परिवार से मिलने के बाद कहा कि वह अपने मकसद में कामयाब रहीं.

एसपी बीएसपी सोनभद्र मुद्दा उठा पाने में नाकाम रहीं, SP BSP Failed to raise Sonbhadra Murder सोनभद्र मुद्दे को उठा पाने में एसपी - बीएसपी पूरी तरह विफल रहीं



सदमे में सपा-बसपा

लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकार और राजनीतिक विश्लेषक रतन मणि लाल ने बताया कि अगर वर्तमान में किसी भी पार्टी की सरकार को हो, इस तरह की घटना होती हैं तो इसका फायदा विपक्ष को मिलेगा. लाल ने कहा कि सपा-बसपा गठबंधन टूटने के सदमे से उभर नहीं पाई है. जिसका सीधा फायदा कांग्रेस ने उठाया. प्रियंका गांधी के सोनभद्र दौरे से योगी सरकार एक बार जरूर बैकफुट पर आ गई. जिसका नतीजा सामने है.
Loading...

प्रियंका सोनभद्र मामले को लेकर धरने पर, Priyanka on Dharana on Sonbhadra Murder
प्रियंका ने साफ कह दिया मारे गए लोगों के परिजनों से मिले बगैर नहीं जाएंगी


कांग्रेस को नहीं मिलेगा राजनीतिक फायद

रतन मणि लाल कहते हैं कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने रविवार को पीड़ित परिवारों से मुलाकात के दौरान मुआवजे की राशि बढाने से लेकर हर संभव मदद का भरोसा देने वो खुद मौके पर गए. उन्होंने बताया कि कांग्रेस को आने वाले वक्त में कोई खास राजनीतिक फायद होने वाला नहीं हैं, क्योकि ये कोई जातिगत लड़ाई नहीं थी.

माहौल कायम रखने की चुनौती

इस मामले में यूपी कांग्रेस के प्रवक्ता हिलाल नकवी कहते हैं कि प्रिंयका गांधी का दौरा एक मानवीय दृष्टि को देखते हुए पीड़ित परिवारों के दर्द में शामिल होना था. उन्होंने कहा कि कांग्रेस कभी भी राजनीतिक लाभ लेने की मंशा नहीं रखती. फिलहाल प्रियंका सोनभद्र प्रकरण पर दूसरों पर भारी होती दिखीं. लेकिन मजबूत संगठन के अभाव में प्रियंका और कांग्रेस यह माहौल कब तक बनाये रखते हैं, यह उनके लिए किसी चुनौती से कम नहीं.

जमीनी विवाद में हुई थी 10 लोगों की मौत

गौरतलब है कि सोनभद्र के घोरावल थानाक्षेत्र के उम्भा-सपही गांव में 17 जुलाई को नरसंहार हुआ था. बीते बुधवार की दोपहर में सौ बीघा विवादित जमीन को लेकर गुर्जर और गोड़ बिरादरी में खूनी संघर्ष हो गया. इस दौरान फायरिंग के साथ जमकर लाठी-डंडे और फावड़े भी चले. इसमें 10 लोगों की मौत हो गई, जबकि 28 लोग घायल हो गए थे. जिसके बाद जिले में धारा 144 लागू कर दी गई.

ये भी पढ़ें:

यूपी में आकाशीय बिजली का कहर, 35 लोगों की मौत, दो दर्जन से ज्यादा घायल

60 साल के ससुर के थे बहू से नाजायज संबंध, तो बेटे ने रेत दिया गला

Exclusive: सोनभद्र नरसंहार का दिल दहलाने वाला VIDEO आया सामने
First published: July 22, 2019, 10:47 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...