लाइव टीवी

BJP को संसद से सड़क तक घेरेंगे प्रियंका गांधी की 'पाठशाला' से निकले नेता

Rajeev P Singh | News18 Uttar Pradesh
Updated: October 10, 2019, 9:03 PM IST
BJP को संसद से सड़क तक घेरेंगे प्रियंका गांधी की 'पाठशाला' से निकले नेता
कांग्रेस की इस पाठशाला में प्रियंका गांधी की मौजूदगी में नेताओं को पार्टी की विचारधारा और संगठन से जुड़े तमाम मुद्दों की जानकारी दी जाएगी.

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में बीते कई दशकों से सत्ता से बेदखल कांग्रेस (Congress) अब एक नई टीम (New Team) और रणनीति के साथ अपनी खोई सियासी जमीन को हासिल करने की तैयारी कर रही है.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में बीते कई दशकों से सत्ता से बेदखल कांग्रेस (Congress) अब एक नई टीम (New Team) और रणनीति के साथ अपनी खोई सियासी जमीन को हासिल करने की तैयारी कर रही है. कांग्रेस आलाकमान ने 2022 विधानसभा चुनाव (Assembly Election 2022) में बीजेपी (BJP) को टक्कर देने के लिए प्रदेश कांग्रेस (State Congress) की नई टीम के साथ न सिर्फ सलाहकार और वर्किंग कमेटी का ऐलान कर दिया है बल्कि हर मोर्चे पर सियासी जंग लड़ने के लिए यूपी कांग्रेस की नई टीम में शामिल नेताओं के लिए 3 दिनों की पाठशाला भी आयोजित की जा रही है.

यूपी कांग्रेस कमेटी के नेताओं की यह पाठशाला (प्रशिक्षण शिविर) आगामी 14, 15 और 16 अक्टूबर को रायबरेली में लगेगी. जिसका शुभारंभ कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और पूर्वी यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी करेंगी. कांग्रेस की इस पाठशाला में प्रियंका गांधी की मौजूदगी में नेताओं को पार्टी की विचारधारा और संगठन से जुड़े तमाम मुद्दों की जानकारी दी जाएगी. सूबे की सत्ताधारी सरकार को सड़क से लेकर सदन तक घेरने के गुर सिखाए जाएंगे. और साथ ही प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक से लेकर सोशल मीडिया तक के गुर सिखाकर विपक्ष को हर मोर्च पर घेरने के तौर-तरीके भी बताए जाएंगे.

कांग्रेस की इस पाठशाला में प्रियंका गांधी की मौजूदगी में नेताओं को पार्टी की विचारधारा और संगठन से जुड़े तमाम मुद्दों की जानकारी दी जाएगी.


नई टीम को कांग्रेस के राष्ट्रीय स्तर के नेता प्रशिक्षित करेंगे

इस नई टीम को कांग्रेस के राष्ट्रीय स्तर के नेता प्रशिक्षित करेंगे. जिसमें राष्ट्रीय कांग्रेस के प्रशिक्षण विभाग के प्रमुख सचिन राव से लेकर सोशल मीडिया विभाग के प्रमुख रोहन गुप्ता कांग्रेस की इस नई टीम को प्रशिक्षित करते नजर आएंगे. कांग्रेस प्रवक्ता सुरेंद्र राजपूत के मुताबिक 'जिस तरह सभी पार्टियां अपने तय कार्यक्रम, नीति-नियम और सिद्धांत अपने कार्यकर्ताओं तक पहुंचाने के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम रखती हैं. उसी तरह कांग्रेस भी इस तरह के कार्यक्रम को विभिन्न जगहों पर रखती है'.

प्रियंका गांधी करेंगी नई टीम के पदाधिकारियों और सदस्यों के साथ बैठक
प्रियंका गांधी इस दौरान अपनी नई टीम के पदाधिकारियों और सदस्यों के साथ बैठक करेंगी. इसमें प्रियंका गांधी उनकी भी बातों और सुझावों को सुनेंगी और साथ ही एक नए जोश और उत्साह के साथ कांग्रेस के संगठन को जमीनी स्तर पर मजबूत करने के लिए एक विशेष रणनीति के तहत कार्य किए जाने का निर्देश जारी करेंगी.
Loading...

जिसके पहले कांग्रेस अपने नये जिलाध्यक्षों के नाम का भी ऐलान कर नई कमेटियों का गठन करेगी. इसके बाद कांग्रेस, जल्द ही इन नए जिलाध्यक्षों को भी प्रशिक्षत कर, अपने संगठन को मजबूत करने के साथ ही सूबे की सत्ताधारी पार्टी को भी हर मोर्चे पर घेरती नजर आयेगी.

प्रियंका गांधी इस दौरान अपनी नई टीम के पदाधिकारियों और सदस्यों के साथ बैठक करेंगी.


कांग्रेस प्रवक्ता सुरेन्द्र राजपूत के मुताबिक प्रदेश अध्यक्ष और प्रदेश की कमेटी का नाम एक साथ आ चुका है, जल्द ही जोश और उत्साह से भरपूर जमीनी स्तर पर संघर्ष करने वाली कांग्रेस की जिला, शहर और नगर अध्यक्षों की भी कमेटी मिल जाएगी.

सियासी, जातीय और क्षेत्रीय समीकरण का पूरा ख्याल
क्योंकि इस बार कांग्रेस की नई टीम में यूपी के सियासी, जातीय और क्षेत्रीय समीकरण का पूरा ख्याल रखते हुए खास तौर पर युवाओं, संघर्षशील और जमीनी नेताओं को तरजीह दी गई है. जिसमें कुशीनगर के तमकुहीराज से विधायक अजय कुमार लल्लू को प्रदेश अध्यक्ष और प्रतापगढ़ जिले के रामपुर खास से विधायक आराधना मिश्रा को विधायक दल का नेता बनाया गया है.

इस बार कांग्रेस की नई टीम में यूपी के सियासी, जातीय और क्षेत्रीय समीकरण का पूरा ख्याल रखते हुए खास तौर पर युवाओं, संघर्षशील और जमीनी नेताओं को तरजीह दी गई है.


वहीं वीरेंद्र चौधरी, पंकज मलिक, ललितेश पति त्रिपाठी और दीपक कुमार नये प्रदेश उपाध्यक्ष बनाए गए हैं. इसके अलावा 12 महासचिव और 24 सचिवो के साथ 18 वरिष्ठ नेताओं की एडवाइजरी काउंसिल और 8 वरिष्ठ नेताओ को स्ट्रैटेजी एंड प्लानिंग कमेंटी में जगह दी गई है. ये टीम प्रियंका गांधी के लिये सलाहकार और रणनीतिकार की भूमिका निभाएगी. एक लंबे अरसे के बाद प्रियंका गांधी ने जिस तरह सड़कों पर उतरकर संघर्ष करने की पहल की है, उससे कहीं न कहीं कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं का भी मनोबल बढ़ा है.

'प्रियंका गांधी हर एक मुद्दे को उठा रही हैं'
इसलिये कांग्रेस प्रवक्ता सुरेन्द्र राजपूत कहते है कि आज की तारीख में प्रियंका गांधी के नेतृत्व में ही सिर्फ कांग्रेस, बीजेपी की सरकार को चुनौती दे पा रही है. फिर चाहे सोनभद्र की घटना हो, उन्नाव रेपकांड हो, 2 अक्टूबर की संदेश यात्रा हो या फिर बेरोजगारी... बीएड-टीईटी और कानून-व्यवस्था जैसे मुद्दे हों, प्रियंका गांधी हर एक मुद्दे को उठा रही हैं. उनके नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ता ऊर्जावान महसूस कर रहा है'. ऐसे में देखना यह होगा कि प्रियंका की यह नई टीम यूपी में कांग्रेस के संगठन को मजबूत कर, 2022 तक कांग्रेस को एक मजबूत विकल्प के तौर पर पेश कर पाने में किस हद तक सफल हो पायेगी.

ये भी पढ़ें:

दीवाली पर यूपी के 14 लाख कर्मचारियों को बोनस का तोहफा देने की तैयारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 10, 2019, 6:46 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...