बुलंदशहर में साधुओं की हत्या पर प्रियंका गांधी का ट्वीट- अप्रैल के 15 दिनों में ही हुई 100 हत्याएं

प्रियंका गांधी को शिवराज की सलाह. (file photo)

प्रियंका गांधी को शिवराज की सलाह. (file photo)

प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा है कि अप्रैल के पहले 15 दिनों में ही 100 लोगों की हत्याएं हो चुकी हैं. मामले का राजनीतिकरण न करते हुए सरकार को निष्पक्ष जांच करानी चाहिए.

  • Share this:
लखनऊ. बुलंदशहर (Bulandshahr) के अनूपशहर के एक मंदिर में दो साधुओं की हत्या (Priest Murder) के बाद कांग्रेस (Congress) की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने ट्वीट कर सूबे की योगी सरकार (Yogi Government) पर हमला बोला है. प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा है कि अप्रैल के पहले 15 दिनों में ही 100 लोगों की हत्याएं हो चुकी हैं. मामले का राजनीतिकरण न करते हुए सरकार को निष्पक्ष जांच करानी चाहिए.



प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर लिखा, "अप्रैल के पहले 15 दिनों में ही यूपी में सौ लोगों की हत्या हो गई. तीन दिन पहले एटा में पचौरी परिवार के 5 लोगों के शव संदिग्ध परिस्थितियों में पाए गए. कोई नहीं जानता उनके साथ क्या हुआ? आज बुलंदशहर में एक मंदिर में सो रहे दो साधुओं को बेरहमी से मौत के घाट उतार दिया गया. ऐसे जघन्य अपराधों की गहराई से जांच होनी चाहिए और इस समय किसी को भी इस मामले का राजनीतिकरण नहीं करना चाहिए."









सीएम योगी ने दिए सख्त कार्रवाई के निर्देश
उधर, बुलंदशहर में सोमवार देर रात दो साधुओं की हत्या के मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) बेहद सख्त हैं. सीएम योगी आदित्यनाथ ने तत्काल घटना का संज्ञान लिया और जिले के वरिष्ठ अधिकारियों को मौके पर जाने का निर्देश दिया. उन्होंने बुलंदशहर के डीएम और एसएसपी सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारियों को मौके पर पहुंच कर घटना के संंबंध में पूरी रिपोर्ट देने को कहा है. साथ ही सीएम योगी ने दोषियों के विरुद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिए हैं.



हत्यारोपी गिरफ्तार



इधर, घटनास्थल पर पहुंचे एसएसपी बुलंदशहर संतोष कुमार सिंह ने बताया कि हत्यारोपी मुरारी को गिरफ़्तार कर लिया गया है, वह नशे में है. उससे पूछताछ की जा रही है. जानकारी के मुताबिक बुलंदशहर के अनूपशहर कोतवाली के गांव पगोना में स्थित शिव मंदिर पर पिछले करीब 10 वर्षों से साधु जगनदास उम्र (55) वर्ष और सेवादास (35) रहते थे. दोनों साधु मंदिर में रहकर पूजा-अर्चना में लीन रहते थे. सोमवार की देर रात मंदिर परिसर में ही दोनों साधुओं की धारदार हथियारों से प्रहार कर हत्या कर दी गई. मंगलवार सुबह जब ग्रामीण मंदिर में पहुंचे तो उन्हें साधुओं के खून से लथपथ शव पड़े मिले. इसे देखकर बड़ी संख्या में ग्रामीण मंदिर पर पहुंचे.



ये भी पढ़ें:



देवरिया: बीजेपी विधायक सुरेश तिवारी की सलाह- मुस्लिमों से न खरीदें सब्जी



Agra COVID-19 Update: 24 घंटे में 1 की मौत, 9 नए कोरोना पॉजिटिव केस
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज