लोकसभा चुनाव 2019: महागठबंधन में होगी प्रियंका गांधी की बड़ी भूमिका!

फाइल फोटो-प्रियंका गांधी.
फाइल फोटो-प्रियंका गांधी.

सपा-बसपा जहां सामने आकर बीजेपी का मुकाबला करेंगी, वहीं कांग्रेस परदे के पीछे रहते हुए महागठबंधन के धर्म को निभाएगी.

  • Share this:
2019 लोकसभा चुनाव के लिए यूपी में बनने वाले महागठबंधन के लिए मंच तैयार हो चुका है. सपा-बसपा का चुनाव के लिए गठबंधन हो चुका है. लेकिन इस गठबंधन में प्रियंका गांधी की भी अहम भूमिका होगी. महागठबंधन में सपा-बसपा जहां सामने आकर बीजेपी का मुकाबला करेंगी, वहीं कांग्रेस पर्दे के पीछे रहते हुए गठबंधन के धर्म को निभाएगी.

सूत्रों की मानें तो सपा-बसपा की शर्तों के अनुसार, कांग्रेस महागठबंधन में खुलकर सामने नहीं आएगी. कांग्रेस को सामने लाकर सपा-बसपा बीजेपी को हमलावार होने का कोई मौका नहीं देना चाहती है. पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के एक बेहद करीबी और न्यूज चैनल पर हमेशा साय की तरह उनके साथ रहने वाले सपा के एक कद्दावार नेता की मानें तो कांग्रेस की ओर से गठबंधन अमली जमा प्रियंका गांधी पहनाएंगी. वहीं सूत्रों का कहना है कि गठबंधन की बातचीत के लिए प्रियंका गांधी के दूत सलमान खुर्शीद होंगे.

बीजेपी से बचने को ये होगा सपा-बसपा का ‘कांग्रेस प्लान’
2019 के लोकसभा चुनावों में हार से बचने के लिए सपा-बसपा ने सीटों के बंटवारे का एक खास प्लान तैयार किया है. सूत्रों की मानें तो यूपी में कांग्रेस अपने उम्मीदवार वहीं उतारेगी जहां उसे जीत का पक्का भरोसा होगा. मतलब ऐसे क्षेत्र जहां कांग्रेस पहले भी जीत हासिल करती रही है.
वहीं सपा-बसपा गठबंधन के सामने कांग्रेस अपना उम्मीदवार बीजेपी के ऐसे नेता को बनाएगी जिसकी टिकट बीजेपी ने काट दी हो और वो बीजेपी से नाराज हो. सपा-बसपा ने ये रणनीति बीजेपी का वोट काटने के लिए तैयार की है. दूसरी ओर चर्चा ये भी है कि गठबंधन में रालोद (राष्ट्रीय लोकदल पार्टी) भी शामिल रहेगी. रालोद को यूपी में तीन से चार सीट दी जा सकती हैं.



ये भी पढ़ें- 

कुंभ स्पेशल: जूना अखाड़े में सबसे खास हैं ‘मुल्लाजी’, साधुओं के साथ 30 साल से कर रहे हैं कुंभ

इंदौर से सलमान खान को क्यों चुनाव लड़वाना चाहती है कांग्रेस, जानें- इसके पीछे की ये पांच वजह!
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज