जानें कौन हैं राज्यसभा के लिए मनोनीत यूपी के राम सकल

नवमनोनीत चार सदस्यों में एक राम सकल की छवि जननेता की है और दलित समाज की भलाई के लिए जीवन लगा देने वाले समाजसेवी के तौर पर उनको जाना जाता है.

News18Hindi
Updated: July 14, 2018, 2:25 PM IST
जानें कौन हैं राज्यसभा के लिए मनोनीत यूपी के राम सकल
A view of the Parliament building.
News18Hindi
Updated: July 14, 2018, 2:25 PM IST
उत्तर प्रदेश के मशहूर किसान नेता और समाजसेवी राम सकल को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की ओर से ऊपरी सदन यानी राज्यसभा के लिए मनोनीत किया गया है. इसकी घोषणा शनिवार (14 जुलाई) को की गई. नवमनोनीत चार सदस्यों में शामिल राम सकल की छवि जननेता की रही है और दलित समाज की भलाई के लिए जीवन लगा देने वाले समाजसेवी के तौर पर उनको जाना जाता है.

जमीनी कार्यकर्ता के तौर पर गांव, तहसील, जिला, प्रदेश से होते हुए राष्ट्रीय राजनीति में भी चार दशक से ज्यादा समय तक सक्रिय राम सकल यूपी के रॉबर्ट्सगंज सीट से तीन बार संसद सदस्य भी रह चुके हैं.

भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर साल 1996, 1998 और 1999 में लोकसभा के लिए चुने गए सदस्य के तौर पर सदन में अपने जमीनी कार्यकर्ता रहने के दौरान मिले अनुभवों का परिचय करवाया था.

लोकसभा सदस्य रहने के दौरान राम सकल श्रमिक और कल्याण, ऊर्जा, कृषि, पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस से संबंधित संसद की समितियों के सदस्य भी रहे हैं.

Ram Shakal ( file photo)


गोरखपुर यूनिवर्सिटी से जुड़े केवीपीजी कॉलेज, मिर्जापुर से राजनीति विज्ञान से मास्टर्स की पढ़ाई करने वाले राम सकल को किसानों, मजदूरों और प्रवासियों के हितों के लिए काम करनेवाले जननेता के तौर पर जाना जाता है.

सोनभद्र जिले के शिल्पी गांव में साल 1963 में जन्मे राम सकल ने अपनी सार्वजनिक जीवन की शुरुआत राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के तहसील प्रचारक के तौर पर की थी.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर