UP News: माफिया डॉन मुख्तार अंसारी को लेकर थोड़ी देर में निकलेगी यूपी पुलिस, 16 घंटे में पहुंचेगा बांदा जेल

मुख़्तार अंसारी की आज होगी घर वापसी

मुख़्तार अंसारी की आज होगी घर वापसी

Mukhtar Ansari Shifting to Banda Jail: सोमवार को दो सीओ और 100 पुलिसकर्मियों की भारी भरकम पुलिस टीम बांदा से पंजाब के रोपड़ जेल के लिए रवाना हुई थी. यूपी पुलिस की टीम मंगलवार सुबह 4 बजे के करीब रोपड़ पुलिस लाइन पहुंची.

  • Share this:

लखनऊ. पंजाब के रोपड़ जेल में बंद माफिया डॉन मुख्तार अंसारी (Mafia Don Mukhtar Ansari) को लेकर यूपी पुलिस (UP Police) की भारी-भरकम टीम बस कुछ ही देर में निकलेगी. जानकारी के मुताबिक सुबह 6 बजे के बाद पंजाब पुलिस मुख्तार अंसारी को यूपी पुलिस को सौंपेगी. इसके बाद सड़क मार्ग से मुख़्तार अंसारी को लेकर यूपी पुलिस कड़े सुरक्षा घेरे में बांदा जेल के लिए रवाना होगी. अनुमान के मुताबिक 16 घंटे में मुख़्तार अंसारी 882 किमी की दूरी तय कर बांदा जेल पहुंचेगा.

इससे पहले सोमवार को दो सीओ और 100 पुलिसकर्मियों की भारी-भरकम पुलिस टीम बांदा से पंजाब के रोपड़ जेल के लिए रवाना हुई थी. यूपी पुलिस की टीम मंगलवार सुबह 4 बजे के करीब रोपड़ पुलिस लाइन पहुंची. कहा जा रहा है कि अगर यूपी पुलिस 6 बजे के बाद रोपड़ जेल पहुंचती है तो कागजी कार्रवाई के बाद उसे सौंप दिया जाएगा.


LIU भी हुई एक्टिव

गौरतलब है कि इससे पहले पंजाब पुलिस ने सोमवार को मुख़्तार का मेडिकल चेक अप करवाया था. यूपी पुलिस के साथ भी वरिष्ठ डॉक्टर के नेतृत्व में एक टीम भी मौजूद है. स्थानीय डॉक्टर्स की टीम एक बार फिर मंगलवार सुबह मुख़्तार की जांच करेगी. इसके अलावा यूपी पुलिस की लोकल इंटेलिजेंस यूनिट भी रोपड़ में एक्टिव है, ताकि सुरक्षा में किसी तरह की कोई चूक न हो.

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद हो रही वापसी

बता दें कोर्ट के आदेश के बाद 8 अप्रैल तक मुख्तार अंसारी को बांदा सेंट्रल जेल में शिफ्ट करना है. इस बाबत रविवार को पंजाब पुलिस की तरफ से यूपी पुलिस को पत्र भेजकर मुख़्तार को ले जाने की बात कही थी. गौरतलब है कि 2019 में रंगदारी से जुड़े एक मामले में पंजाब पुलिस बांदा जेल से लेकर गई थी, लेकिन उसके बाद से वह लगतार पैतरेबाजी के सहारे यूपी आने से बचता रहा. दो साल में 8 बार यूपी पुलिस की टीम पंजाब के रोपड़ जेल पहुंची, लेकिन हर बार उसके ख़राब सेहत का हवाला देकर पंजाब पुलिस ने मुख़्तार को सौंपने से इनकार कर दिया, जिसके बाद यूपी सरकार ने मुख़्तार के खिलाफ दर्ज मामले की सुनवाई में देरी को लेकर सुप्रीम कोर्ट दरवाजा खटखटाया था और उसे यूपी लाने की अनुमति मांगी थी. जिस पर सुप्रीम कोर्ट ने 12 अप्रैल तक मुख्तार अंसारी को यूपी भेजने का आदेश दिया था.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज