पीडब्ल्यूडी इंजीनियर खींचेंगे 'सेल्फी', तब जारी होगी अगली किश्त

ETV UP/Uttarakhand
Updated: October 12, 2017, 7:26 PM IST
पीडब्ल्यूडी इंजीनियर खींचेंगे 'सेल्फी', तब जारी होगी अगली किश्त
लोक निर्माण विभाग
ETV UP/Uttarakhand
Updated: October 12, 2017, 7:26 PM IST
उत्तर प्रदेश सरकार भ्रष्टाचार पर नकेल कसने के लिए तरह-तरह की कोशिशें कर रही है. इसी क्रम में प्रदेश के लोक निर्माण विभाग ने भ्रष्टाचार पर नकेल कसने का नया तरीका निकाला है.

भ्रष्ट अधिकारियों व ठेकेदारों पर शिकंजा कसने के लिए एक ऐसा शासनादेश जारी किया गया है. जिसके तहत अब प्रदेश भर में बनने वाली सड़कों के निर्माण के समय मौके से अधिकारी सेल्फी खींचेंगे और उसे प्रमाणपत्र के साथ लोकनिर्माण विभाग को भेजेंगे. इसके बाद ही कार्य की धनराशि की अगली किश्त जारी की जाएगी.

इस संबंध में उत्तर प्रदेश शासन के अपर मुख्य सचिव सदाकांत की तरफ से प्रदेश के लोक​ निर्माण विभाग के अध्यक्ष एवं प्रमुख अभियंता विकास को आदेश दिया गया है. इस आदेश के बाद से विभाग में हड़कंप मचा है.

आदेशों में कहा गया है कि प्राय: यह देखने में आ रहा है कि राज्य सड़क निधि, पूर्वांचल विकास निधि, बुंदेलखंड विकास निधि एवं लोक निर्माण विभाग की अन्य योजनाओं में सड़क और पुल के निर्माण में धनराशि के लिए फोटोग्राफ्स उपलब्ध नहीं कराए जाते हैं.

अब सम्बंधित अधिकारी निर्माण स्थल पर पहुंचकर उसकी गुणवत्ता और वर्तमान स्थिति जानेगा. इसके बाद उन्हें निर्माण स्थल पर कार्य के साथ सेल्फी खींचनी होगी.

(रिपोर्ट: अजीत सिंह)
First published: October 12, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर