2019 लोकसभा चुनाव को लेकर सहयोगी ओम प्रकाश राजभर की है ये रणनीति
Lucknow News in Hindi

2019 लोकसभा चुनाव को लेकर सहयोगी ओम प्रकाश राजभर की है ये रणनीति
कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर की फाइल फोटो.

राजभर ने सीधे तौर पर संकेत देते हुए कहा कि आज भी कुछ ऐसी समस्य है जिसका समाधान होना बाकी है. कैबिनेट मंत्री ने कहा कि योगी सरकार से नाराजगी को लेकर उन्होंने बीते दिनों अमित शाह से दिल्ली में मुलाकात की थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 27, 2018, 9:30 AM IST
  • Share this:
योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने न्यूज18 से खास बातचीत में खुलासा किया कि आगामी 10 अप्रैल को बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के यूपी दौरे के दौरान वो सार्वजनिक तौर पर अपना पक्ष रखेंगे. उन्होंने बताया कि इस बैठक के बाद भारतीय समाज पार्टी 2019 लोकसभा चुनाव को लेकर अपना अंतिम फैसला लेगी. बीजेपी अध्यक्ष की इस बैठक में सीएम योगी आदित्यनाथ और संगठन के वरिष्ठ पदाधिकारी मौजूद रहेंगे.

योगी सरकार को लेकर नहीं है नरम रुख
राजभर ने सीधे तौर पर संकेत देते हुए कहा कि आज भी कुछ ऐसी समस्या है जिसका समाधान होना बाकी है. कैबिनेट मंत्री ने कहा कि योगी सरकार से नाराजगी को लेकर उन्होंने बीते दिनों अमित शाह से दिल्ली में मुलाकात की थी, लेकिन आज भी उनके दिल में योगी सरकार को लेकर नज़रिया नरम नहीं है. राजभर का कहना है कि अभी भी दिल में गुस्सा है. आगामी 10 अप्रैल को अमित शाह से मुलाकात के दौरान बैठक में सार्वजनिक मंच पर अपना पक्ष रखेंगे.

नहीं सुनी जाती गरीबों की आवाज़



गठबंधन के सवाल पर राजभर कहते है जिस उद्देश्य के लिए गरीबों ने उनकी पार्टी को वोट दिया है. योगी सरकार उनकी बात को तो सुने, लेकिन अफसोस है कि उनकी कोई सुनवाई नहीं हो रही है, आज भी उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं और गरीब वोटरों की आवाज़ को दबाया जाता है. 10 अप्रैल को शाह से मुलाकात के बाद अब अंतिम फैसला पार्टी के कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों के साथ बातचीत करके लेंगे.



 प्रदेश बीजेपी ने कभी अपना नहीं समझा
उन्होंने बताया कि बीजेपी की यूपी इकाई ने कभी उन्हें अपना नहीं माना जबकि उनकी पार्टी ने गठबंधन के तहत बीजेपी को समर्थन दिया है. राजभर ने कहा कि राष्ट्रपति और राज्यसभा चुनाव में उन्होंने और उनकी पार्टी के विधायकों ने बीजेपी के पक्ष में वोट किया.

राज्यसभा चुनाव के दौरान मंच पर बैठे मंत्री ओमप्रकाश राजभर की फाइल फोटो.


पहली बार मिली मंच पर जगह
राजभर ने कहा कि बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात के बाद पहली बार राज्यसभा चुनाव के दौरान उन्हें मंच पर जगह दी गई. उन्होंने कहा कि इससे पहले कभी भी किसी भी बैठक में उन्हें व उनकी पार्टी के विधायकों को यथोचित सम्मान नहीं दिया गया. राजभर ने बताया कि 27 मार्च को पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों की बैठक बुलाई गई है, जहां अमित शाह के साथ होने वाली बैठक के मुद्दों पर बातचीत होगी. उन्होंने दावा किया पार्टी के हर छोटे-बड़े कार्यकर्ता के विचारों को बीजेपी के  राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के सामने 10 अप्रैल को रखेंगे.

क्रॉस वोटिंग वाले विधायकों पर होगी कार्रवाई
उन्होंने दावा किया है कि राज्यसभा चुनाव के दौरान दल के किसी विधायक ने बीजेपी के खिलाफ क्रॉस वोटिंग नहीं की है. हालांकि मीडिया रिपोर्ट व विरोधी दल के नेताओं के बयान को देखते हुए दल के दो विधायकों को कारण बताओ नोटिस जारी कर उनसे जवाब मांगा गया है. राजभर कहते है कि जवाब आने के बाद कार्रवाई की जाएगी.

बीजेपी पर लगा चुके हैं अनदेखी का आरोप
यूपी की योगी सरकार में सहयोगी पार्टी के रूप में शामिल सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यश्र ओम प्रकाश राजभर को कैबिनेट मंत्री भी बनाया गया है. बावजूद इसके राजभर खुलेआम बीजेपी सरकार पर ज्यादा सीटें मिलने के नशे में गठबंधन धर्म नहीं निभाने के आरोप लगाते आ रहे हैं. साथ ही, बीजेपी पर अपनी पार्टी की अनदेखी के आरोप भी लगाते आ रहे हैं.

यह भी पढ़े:
योगी के मंत्री बोले- राज्यसभा चुनाव में समर्थन के लिए सपा-बसपा ने किया संपर्क

अमित शाह से मिलकर नरम पड़े योगी के मंत्री राजभर, राज्यसभा चुनाव में देंगे साथ

मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने दिए गठबंधन तोड़ने के संकेत, सीएम योगी पर लगाए ये आरोप

योगी सरकार के मंत्री बोले, उपचुनाव में BJP ने नहीं ली हमारी पार्टी की मदद
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading