Rajya Sabha Election 2020: यूपी में बदलेगा समीकरण, क्या आसान होगी बीजेपी की जीत?

BJP ने जारी की 6 प्रत्याशियों की सूची (file photo)
BJP ने जारी की 6 प्रत्याशियों की सूची (file photo)

उत्तर प्रदेश में राज्यसभा की 10 सीटों के लिए चुनाव की घोषणा भारत निर्वाचन आयोग (Election Commission of India) ने कर दी है. चुनाव आयोग ने जारी अपने पत्र में उत्तर प्रदेश की 10 राज्यसभा सीटों के लिए 9 नवंबर का मतदान का समय तय किया गया है.

  • Share this:
लखनऊ. राज्यसभा के चुनाव (Rajya Sabha Election 2020) के साथ ही संसद के ऊपरी सदन का समीकरण बदलेगा. माना जा रहा है कि 10 सीटों के लिए होने वाले चुनाव में पलड़ा बीजेपी (BJP) का भारी है. 10 सीटों में 8 पर तो बीजेपी आसानी से जीत दर्ज कर सकती है. नौ नवंबर को दस सीटों के लिए मतदान होगा. हालांकि 1990 के बाद से उच्च सदन में किसी एक पार्टी को बहुमत नहीं मिल सका है. 403 विधानसभा वाली उत्तर प्रदेश की विधानसभा में विधायकों की मौजूदा संख्या 394 है. 8 सीटें खाली हैं. यूपी विधानसभा की मौजूदा स्थिति के आधार पर होने वाले राज्यसभा चुनाव में जीत के लिए हर सदस्य को करीब 37 वोट चाहिए.

तकनीकी खेल में ये संख्या 39 तक जा सकती है. ऐसे में बीजेपी यूपी विधानसभा में अपनी मौजूदा ताकत के आधार पर आठ राज्यसभा सदस्य भेज सकती है. बीजेपी के पास अपने 304 विधायक हैं. ऐसे में इस संख्याबल के दम पर भाजपा 10 में से 8 सदस्यों को चुनकर उच्च सदन में आसानी से भेज सकती है और अगर उसे अतिरिक्त समर्थन मिल गया तो यह संख्या 9 तक पहुंच सकती है.

कुछ ऐसा हो सकता है समीकरण



विधायकों की संख्या के मुताबिक 1 सीट समाजवादी पार्टी के पाले में जा सकती है क्योंकि समाजवादी पार्टी के पास 48 विधायक हैं. बहुजन समाज पार्टी के पास 18, बीजेपी की सहयोगी अपना दल के 9, कांग्रेस के 7, सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के 4, राष्ट्रीय लोकदल के 1 और 3 निर्दलीय विधायक हैं. दसवीं सीट पूरी तौर पर राजनीतिक गुणा भाग और विपक्षी एका पर निर्भर करेगा कि किसके पास जाएगा. 245 सदस्यों वाली राज्यसभा में इस वक्त भारतीय जनता पार्टी के पास अपने कुल 86 सांसद हैं.
ये भी पढ़ें: Earthquake in Himachal: शिमला में कांपी धरती, रिक्टर स्केल पर 3.1 तीव्रता का भूकंप

उत्तर प्रदेश से आठ सीटें मिलने पर ये एनडीए का आंकड़ा बहुमत के करीब होगा. वैसे 1990 के बाद से उच्च सदन में कोई भी एकलौता दल बहुमत में नहीं रहा है. 25 नवंबर को यूपी से जिन राज्यसभा सांसदों का कार्यकाल खत्म होने जा रहा है, उनमें अरुण सिंह, जावेद अली खान, पीएल पुनिया, राम गोपाल यादव, राजाराम, वीर सिंह, चंद्रपाल सिंह यादव, नीरज शेखर, रवि प्रकाश वर्मा और हरदीप सिंह पुरी शामिल हैं. बता दें कि 20 अक्टूबर से नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी. 9 नवंबर को दस सीटों के लिए मतदान होने जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज