राज्यसभा चुनाव: BJP और सपा प्रत्याशियों के नामांकन पाए गए सही, BSP और निर्दलीय प्रत्याशी होल्ड पर

वाराणसी के प्रकाश बजाज ने निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर किया है नामांकन, उन्हें सपा का समर्थन प्राप्त है.
वाराणसी के प्रकाश बजाज ने निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर किया है नामांकन, उन्हें सपा का समर्थन प्राप्त है.

राज्यसभा चुनाव (Rajyasabha Election): आपत्ति दर्ज कराने वाले विधायकों को 4 बजे तक का समय दिया गया है. तब तक बसपा प्रत्याशी और निर्दलीय प्रत्याशी का नामांकन होल्ड पर रखा गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 28, 2020, 9:12 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश राज्यसभा चुनाव (Rajyasabha Election) में चुनाव आयोग पर सबकी नजरें टिकी हुई हैं. मंगलवार को 10 सीटों के लिए कुल 11 प्रत्याशियों ने नामांकन दाखिल कर दिया. इस नामाकंन की वैधता की जांच बुधवार को पूरी होनी है. फिलहाल जो जानकारी मिली है, उसके हिसाब से भाजपा के 8 और सपा के एकमात्र प्रत्याशी के नामांकन पत्र सही पाए गए हैं. वहीं आपत्ति दर्ज कराने वाले विधायकों को 4 बजे तक का समय दिया गया है. तब तक बसपा प्रत्याशी और निर्दलीय प्रत्याशी का नामांकन होल्ड पर रखा गया है.

इसके बाद नामांकन की स्क्रूटनी प्रक्रिया में नेता विधानसभा के सेंट्रल हॉल में पहुंच रहे हैं. बसपा से सतीश चंद्र मिश्रा, भाजपा के संसदीय कार्यमंत्री सुरेश खन्ना मौके पर मौजूद हैं, वहीं बसपा विधायक उमाशंकर सिंह, बसपा नेता विधान मंडल दल लालजी वर्मा भी पहुंच गए हैं. जल्द ही प्रत्याशियों के चयन पर फैसला सामने आने की उम्मीद की जा रही है.

नामांकन पत्र पर आपत्तियों में शुरू हुआ खेल



इसके बाद लालजी वर्मा और उमाशंकर सिंह ने बयान जारी कर कहा कि रामजी गौतम के नामांकन में हम लोगों ने 3 नामांकन पेपर दाखिल किया था, जिनमें 2 नामांकन पेपर पर आपत्ति दर्ज कराई है. सिग्नेचर का आरोप निराधार है. प्रकाश बजाज के नामांकन में कई आपत्ति हमने दर्ज कराई है. प्रकाश बजाज के नामांकन में प्रस्तावक के नाम पर आपत्ति है. 10 नाम जो प्रस्तावक में है, उसमें नवाब शाह नाम का कोई विधायक नहीं है.
उन्होंने कहा कि आरोप लगाने वाले विधयकों के आरोप निराधार हैं. वो सभी 13 विधायक नानांकन में मौजूद थे. विधायकों पर किसी दूसरी वजह का दबाव है. असलम राइनी, असलम चौधरी, हाकिम लाल बिंद, मुस्तफा सिद्दीकी के हस्ताक्षर पर्चे पर हैं. हमारा नामांकन पेपर सभी नियमों के अनुसार है. हमारे प्रत्याशी का पेपर रिजेक्ट नहीं होगा. लालजी वर्मा की अखिलेश यादव की मुलाकात पर बोले कि न मैं अखिलेश से मिला, न मैंने कभी उनसे मुलाकात की. दलित समाज का बेटा राज्यसभा में न जा पाए, इस लिए उद्योगपति को पर्चा भराया    गया.



सपा ने किया है प्रकाश बजाज का समर्थन

इस पूरे घटनाक्रम पर समाजवादी पार्टी के एमएलसी उदयवीर सिंह ने कहा कि राज्यसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी ने प्रकाश बजाज निर्दल प्रत्याशी का सपोर्ट किया है. अगर कुछ दूसरी पार्टी के विधायक भी सपोर्ट करने चाह रहे हैं तो उनका स्वागत है. कुल 6 विधायकों ने सपा अध्यक्ष से मुलाकात की है. बसपा विधायकों के भविष्य पर पूछे गए सवाल पर उदयवीर बोले कि विधायकों की मर्जी पर है कि वह किस पार्टी में जाने का निर्णय लेंगे. समाजवादी पार्टी में हर किसी का स्वागत है.

बसपा ने सपा पर किया हमला

उधर बसपा ने बागी विधायकों के मुद़्दे पर सपा पर हमला किया है. बसपा नेता उमाशंकर सिंह ने कहा कि समाजवादी पार्टी ने बसपा को नहीं एक दलित को आगे बढ़ने से रोका है. दलित समाज सपा को मुहतोड़ जवाब देगा. उन्होंने कहा कि सपा ने बसपा विधायको की खरीद-फरोख्त कराई है. सपा की इस हरकत से बसपा पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा. उमाशंकर सिंह ने इसके साथ ही मांग की कि सरकार बसपा विधायको के ठिकानों पर छापा मार जांच कराए. वहीं बीजेपी के राज्यसभा चुनाव में नवां प्रत्याशी नहीं उतारने के सवाल पर उमाशंकर सिंह ने कहा कि बीजेपी ने संख्या बल न होने की मजबूरी में प्रत्याशी नहीं उतारा.

बसपा के 7 बागी विधायक
1. असलम राइनी
2. असलम अली
3. मुजतबा सिद्दीकी
4. हाकिम लाल बिंद
5. हरगोविंद भार्गव
6. सुषमा पटेल
7. वंदना सिंह
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज