दिल्ली: पंचतत्व में विलीन हुए राज्यसभा सांसद अमर सिंह, दोनों बेटियों ने दी मुखाग्नि
Lucknow News in Hindi

दिल्ली: पंचतत्व में विलीन हुए राज्यसभा सांसद अमर सिंह, दोनों बेटियों ने दी मुखाग्नि
अमर सिंह के अंतिम संस्कार के समय श्मशान घाट पर उनके परिवार के साथ- साथ उनके समर्थक भी मौजूद थे.

काफी दिनों से अमर सिंह (Amar Singh) बीमार चल रहे थे. उनका किडनी ट्रांसप्लांट कराया गया था, जिसका इलाज वे पहले दिल्ली के साकेत अस्पताल में करा रहे थे. बाद में उनको सिंगापुर ले जाया गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 3, 2020, 1:43 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राज्यसभा सांसद अमर सिंह (Amar Singh) सोमवार को पंचतत्व में विलीन हो गए. दिल्ली के छतरपुर स्थित श्मशान घाट (Chhatarpur Crematorium) में उनका अंतिम संस्कार किया गया. उनकी दोनों बेटियों ने उनको नम आंखों से विदा किया और उन्हें मुखाग्नि दी. अमर सिंह के अंतिम संस्कार के समय श्मशान घाट पर उनके परिवार के साथ- साथ उनके समर्थक भी मौजूद थे. हालांकि कोरोना वायरस की वजह से कोई बड़ा चेहरा श्मशान घाट पर नजर नहीं आया. हां इतना जरूर था कि रविवार को सिंगापुर से जब अमर सिंह के पार्थिव शरीर को दिल्ली स्थित उनके आवास पर लाया गया था तो अंतिम दर्शन करने के लिए शिवपाल यादव (Shivpal Yadav) और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह पहुंचे थे.

बताते चलें कि काफी दिनों से अमर सिंह बीमार चल रहे थे. उनका किडनी ट्रांसप्लांट कराया गया था, जिसका इलाज वे पहले दिल्ली के साकेत अस्पताल में करा रहे थे. बाद में उनको सिंगापुर ले जाया गया था, जहां पिछले 6 महीने से उनका इलाज चल रहा था. बीते मार्च महीने से अमर सिंह लगातार बीमार चल रहे थे. उनकी हालत में कोई सुधार नहीं हो रहा था. वहीं मार्च महीने में कुछ लोगों ने उनकी मौत की अफवाह भी उड़ाई थी. इसपर अमर सिंह ने बेबाकी से ट्वीट करके अपना एक वीडियो जारी किया था. वीडियो के माध्यम से उन्होंने कहा था कि मैं अभी जिंदा हूं. मेरे दुश्मनों के लिए यह एक बुरी खबर है.


अमर सिंह को हमेशा से ही संकटमोचक कहा जाता था
अमर सिंह को हमेशा से ही संकटमोचक कहा जाता था. राजनीति के चाणक्य के तौर पर भी उनको हमेशा याद किया जाएगा. अमर सिंह राजनीतिक गलियारों में एक ऐसा नाम थे जिन्हें दोस्तों का दोस्त कहा जाता था. वह हमेशा दोस्तों की मदद करने के लिए तैयार रहते थे. इसका सबसे बड़ा उदाहरण यह है कि उन्होंने बॉलीवुड के कई एक्टर्स के साथ बिजनेस घरानों के कई लोगों की भी काफी मदद की थी. अमर सिंह ने अपने पिता की याद में आजमगढ़ स्थित अपने पुश्‍तैनी आलीशान बंगले को सेवा भारती को दान कर दिया था. अभी कुछ समय पहले ही उनके पिता की मौत के बाद या घर खाली हुआ था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज