Assembly Banner 2021

Raksha Bandhan 2018 : जानिए राखी पर भाई के माथे पर कहां और कैसे लगाएं तिलक

सांकेतिक तस्वीर

सांकेतिक तस्वीर

Raksha Bandhan 2018 (रक्षाबंधन 2018): शास्त्रों में श्वेत चंदन , लाल चंदन , कुमकुम , भस्म आदि से तिलक लगाना शुभ माना गया है. तिलक के साथ चावल का प्रयोग किया जाता है, जिसका एक वैज्ञानिक कारण है.

  • Share this:
भाई-बहन के अटूट रिश्ते का त्योहार रक्षाबंधन रविवार (26 अगस्त) को मनाया जाएगा. रक्षा बंधन का पर्व सिर्फ राखी या धागे बांधने की रस्म तक ही सिमित नहीं है. यह इससे कहीं आगे भाई-बहन के रिश्ते पवित्रता और सुरक्षा के संकल्प से भी जुड़ा हुआ है. यही वजह है कि रक्षाबंधन पर शुभ मुहूर्त और राखी बांधने की सही तरीकों पर भी विशेष ध्यान दिया जाता है.

एक ऑनलाइन ज्योतिष पोर्टल के निदेशक अमित जैन बताते हैं कि श्रावण मास की पूर्णिमा को मनाए जाने वाले राखी के त्यौहार पर बहनें अपने भाई के माथे पर तिलक लगाती हैं. शास्त्रों में श्वेत चंदन , लाल चंदन , कुमकुम , भस्म आदि से तिलक लगाना शुभ माना गया है. तिलक के साथ चावल का प्रयोग किया जाता है, जिसका एक वैज्ञानिक कारण है. दरअसल, दोनों भौहों के बीच का भाग अग्नि चक्र कहलाता है और वहां तिलक लगाने से पूरे शरीर में शक्ति का संचार होता है और व्यक्ति का आत्मविश्वास बढ़ता है. इसके अलावा चावल को हवन में देवताओं को चढ़ाया जाने वाला शुद्ध अन्न माना जाता है.

मसलन भाई के माथे पर तिलक लगाना, मिठाई खिलाना और आरती उतारना भी त्यौहार की कुछ महत्वपूर्ण रस्में हैं. इसके लिए बाजार में रक्षाबंधन की थाली भी उपलब्ध है, जिसमें राखी के अलावा तिलक के लिए अक्षत और चावल, सिर पर रखने के लिए कपड़ा, छोटा सा दीपक, कपूर और मुंह मीठा करने के लिए इलायची और मिसरी के पैकेट उपलब्ध हैं.



दरअसल, आज की भागदौड़ की दुनिया में लोगों को राहत देने के लिए इस खास राखी की थाली को तैयार किया है. अपनी जरूरत का हर सामान ऑनलाइन मंगवाने वाले आज के युवा राखी के त्यौहार के लिए जरूरी सामान भी ऑनलाइन मंगा सकते हैं. इसके लिए कई ऑनलाइन शोपिंग पोर्टल भी मौजूद हैं.
 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज