Unlock 1.0: इस नियम के तहत मस्जिदों में पढ़नी होगी नमाज, धर्मगुरु ने जारी की एडवाइजरी
Lucknow News in Hindi

Unlock 1.0: इस नियम के तहत मस्जिदों में पढ़नी होगी नमाज, धर्मगुरु ने जारी की एडवाइजरी
मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली

बता दें कि कुछ दिन पहले ही ईदगाह के इमाम ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) को पत्र लिखकर सभी धार्मिक स्थलों को खोले जाने की मांग की थी.

  • Share this:
लखनऊ. लॉकडाउन (Lockdown) 5.0 के लागू होने के साथ बीते दो महीनों से बंद पड़ी जिंदगी को एक बार फिर रफ्तार मिलने वाली है. इसी कड़ी में अनलॉक 1(Unlock 1.0) के तहत 8 जून से धार्मिक स्थलों (Religious Places) को खोले जाने के लिए सरकार की तरफ से ऐलान कर दिया गया है. सरकारी फरमान के बाद अब जिम्मेदारी नमाज़ियों की है. ईदगाह के इमाम और इस्लामिक सेंटर ऑफ इंडिया के अध्यक्ष मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने मस्जिदों में कैसे नमाज़ को अदा किया जाए इसके लिए गाइडलाइन जारी की है. उन्होंने मुसलमानों और मस्जिद के कर्मचारियों से इस एडवाइजरी को पूरी जिम्मेदारी से लागू करने की अपील की है.

मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने कहा की 8 जून से मस्जिदों को खोला जाना है. लिहाजा मस्जिदों के जिम्मेदारों और नमाज़ियों पर बड़ी जिम्मेदारी है कि सरकारी फरमान के बाद अब सही तरीके से इसको अमली जामा पहनाया जाए. मौलाना खालिद रशीद ने कहा कि मस्जिद में 10 साल से कम उम्र के बच्चे और 65 साल से अधिक उम्र के बुजुर्ग नमाज पढ़ने ना जाए. वह अपने घरों में ही नमाज को अदा करें.जुमे की नमाज को लेकर के भी एहतियात बरतने की जरूरत है.

खालिद रशीद ने कहा जुम्मे के दौरान नमाज से पहले होने वाले खुतबे को छोटा रखा जाए और नमाज़ चार अलग-अलग जमातों में नमाज का एहतिमाम किया जाए. लोग अपने घरों से ही वजू कर करके आएं और मास्क लगाकर नमाज को अदा करे. नमाज पढ़ने में सोशल डिस्टेंस का खास ख्याल रखा जाए दो नमाज़ियों के बीच कम से कम 6 फीट का फासला जरूर हो.



मस्जिद में नमाज पढ़ने आने वाले नमाजियों से इस बात की अपील है कि वह मस्जिद में रखी हुई टोपियों का इस्तेमाल ना करें, अपनी टोपी खुद लेकर आए. मस्जिद में ना ही किसी से गले मिले और ना ही हाथ मिलाएं. मस्जिद में आते समय और बाहर जाते समय भीड़ न जमा करें, सभी मस्जिदों में जमीन पर बिछाने वाली चटाई और कालीन को भी हटा दिया जाए. नमाज से पहले और नमाज के बाद फर्श को डेटॉल से साफ किया जाए.



बता दें कि कुछ दिन पहले ही ईदगाह के इमाम ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर सभी धार्मिक स्थलों को खोले जाने की मांग की थी. उन्होंने ईदगाह में एक सर्वधर्म बैठक का आयोजन करके सभी धर्म गुरुओं से मुलाकात करने के बाद इस बात की मांग मुख्यमंत्री से की थी.

ये भी पढ़ें:

निराश्रितों की मदद के लिए CM योगी ने खोला खजाना, राशन के साथ 1000 रुपये भी देगी सरकार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading