यूपी में SP-BSP का गठबंधन, जानिए क्या है नेताओं की प्रतिक्रिया

दिल्ली के रामलीला मैदान में चल रही बीजेपी की राष्ट्रीय परिषद की बैठक में पीएम मोदी ने सपा-बसपा गठबंधन पर निशाना साधा. मोदी ने कहा कि आज वे दल एकजुट हो रहे हैं, जो भी कांग्रेस के तौर तरीको को सही नहीं मानते थे.

News18Hindi
Updated: January 12, 2019, 4:25 PM IST
यूपी में SP-BSP का गठबंधन, जानिए क्या है नेताओं की प्रतिक्रिया
मायावती और अखिलेश यादव
News18Hindi
Updated: January 12, 2019, 4:25 PM IST
2019 लोकसभा चुनाव के लिए शनिवार को सपा-बसपा के बीच गठबंधन का ऐलान हुआ. उत्तर प्रदेश की 80 सीटों में से दोनों पार्टियां 38-38 सीटों पर चुनाव लड़ेंगी. शनिवार को लखनऊ के गोमती नगर स्थित होटल ताज में मायावती और अखिलेश यादव ने संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस कर गठबंधन का ऐलान किया. केंद्र में सरकार बनाने के लिए यूपी की सीटें महत्वपूर्ण होती हैं इस लिहाज से सपा-बसपा गठबंधन को बीजेपी की टेंशन बढ़ाने वाला गठबंधन माना जा रहा है.

मोदी बोले मतदाताओं को धोखा देने का प्रयास

दिल्ली के रामलीला मैदान में चल रही बीजेपी की राष्ट्रीय परिषद की बैठक में पीएम मोदी ने सपा-बसपा गठबंधन पर निशाना साधा. मोदी ने कहा कि आज वे दल एकजुट हो रहे हैं, जो भी कांग्रेस के तौर तरीको को सही नहीं मानते थे. उन्होंने कहा कि जो राजनीतिक दल एक जमाने में कांग्रेस के तौर तरीकों को सही नहीं मानते थे वो आज एकजुट हो रहे हैं. जब कांग्रेस के बड़े-बड़े नेता जमानत पर हैं, तब ये दल कांग्रेस के सामने सरेंडर कर रहे हैं. ये देश के मतदाताओं को धोखा देने का प्रयास है.



योगी बोले- 2014 से ज्यादा सीटें जीतेंग

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सपा-बसपा गठबंधन पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, गठबंधन हो या महागठबंधन, हम 2014 से बेहतर प्रदर्शन करेंगे.’ मीडिया से बातचीत करते हुए योगी ने कहा, “जो पहले एक-दूसरे को फूटी आंख नहीं देखते थे, आज साथ आ रहे हैं. ऐसे में बीजेपी के खिलाफ इस तरह का कोई भी गठबंधन या महागठबंधन अराजकता और राजनीतिक अस्थिरता ही लाएगा.”

पूरे देश में हो गठबंधन- कमनलाथ

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमल नाथ ने गठबंधन पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, “आज पूरे देश में गठबंधन की जरूरत है. बीजेपी को 2014 के चुनाव में मात्र 31% वोट मिले और उन्होंने दावा किया कि ये जनमत है, ऐसा वोटों की बंटवारे की वजह से हुआ था.”
Loading...

ये भी पढ़ें: सपा-बसपा के बीच 38-38 सीटों पर बनी बात, बिना गठबंधन कांग्रेस को दी अमेठी-रायबरेली

ये मायावती और अखिलेश का गठबंधन- अमर सिंह

राज्य सभा सांसद अमर सिंह ने गठबंधन पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, “समाजवादी पार्टी के संस्थापक हमेशा मुलायम सिंह जी रहेंगे. इस कदम के साथ ही वह पूरी तरह अलग हो गए हैं. बैनर पर मुलायम, अखिलेश और मायावती साथ नहीं रह सकते हैं. ये केवल अखिलेश और मायवती ही होंगे. 'बुआ और बबुआ'

बीजेपी की हार की शुरुआत- तेजस्वी

आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने गठबंधन पर प्रतिक्रिया देते हुए इसे बिहार और यूपी में बीजेपी की हार की शुरुआत बताया.

राजनीतिक जमीन बचाने के लिए साथ आई हैं दोनों पार्टियां- सुधांशु त्रिवेदी

बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुंधाशु त्रिवेदी ने गठबंधन पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, “दोनों पार्टियां अपनी राजनीतिक जमीन बचाने के लिए साथ लड़ रही हैं. इन पार्टियों ने अतीत में एक-दूसरे पर हत्या का आरोप लगाया है. वैसे ये उनकी पसंद है. हम आश्वस्त हैं. अगर सभी पार्टियां एक साथ आती हैं तब भी हम जीतेंगे.”

ये भी पढ़ें: क्रिकेट होती राजनीति तो कैसा होता बुआ-बबुआ की जोड़ी का हाल?

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsAppअपडेट्स
Loading...

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...