Home /News /uttar-pradesh /

Happy Birthday मायावती: बसपा सुप्रीमो के भाषण की 10 बड़ी बातें

Happy Birthday मायावती: बसपा सुप्रीमो के भाषण की 10 बड़ी बातें

बसपा सुप्रीमो मायावती

बसपा सुप्रीमो मायावती

मायावती ने अपने भाषण की शुरुआत बसपा कार्यकर्ताओं का आभार प्रकट कर किया. उन्होंने कहा कि इस बार सपा और बसपा के कार्यकर्ता आपसी मतभेद को भुलाकर लोकसभा चुनाव में गठबंधन को जीत दिलाएं. यही मेरा बर्थडे गिफ्ट होगा.

    अपने 63वें जन्मदिन के मौके पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने लोकसभा चुनाव के लिए गठबंधन के मुद्दों को सेट कर दिया. मायावती ने जहां एक ओर बीजेपी और कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा. वहीं गठबंधन को लोकसभा चुनाव में जिताने की अपील भी कर दी. पढ़िए उनके भाषण की 10 बड़ी बातें.

    सपा-बसपा कार्यकर्ताओं को एकजुट होने का अनुरोध
    मायावती ने अपने भाषण की शुरुआत बसपा कार्यकर्ताओं का आभार प्रकट कर किया. उन्होंने कहा कि बसपा कार्यकर्ता हर साल उनके जन्मदिन को जनकल्याणकारी दिवस के रूप में मनाते हैं. इस बार सपा और बसपा के कार्यकर्ता आपसी मतभेद को भुलाकर लोकसभा चुनाव में गठबंधन को जीत दिलाएं. यही मेरा बर्थडे गिफ्ट होगा.

    गठबंधन से बीजेपी के रातों की नींद उड़ी
    बसपा सुप्रीमो ने सपा के साथ गठबंधन को मजबूत बताते हुए कहा कि इससे बीजेपी के रातों की नींद उड़ी हुई है. उन्होंने कहा कि यही वजह है कि बीजेपी सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग कर रही है. हाल में सीबीआई का इस्तेमाल अखिलेश यादव के लिए किया गया.

    मुस्लिमों को साधने की कोशिश
    उन्होंने कहा कि आजादी के बाद से सरकारी नौकरियों में मुस्लिमों की भागीदारी का औसत करीब 33 प्रतिशत था जो कि अब घटकर 2 से 3 प्रतिशत ही रह गया है. मायावती ने कहा आर्थिक रूप से पिछड़े सवर्णों को 10 फ़ीसदी आरक्षण का वह समर्थन करती है. साथ ही वह मांग करती हैं कि सरकार मुसलमानों को भी 10 फ़ीसदी आरक्षण दे.

    किसानों का पूरा 'कर्ज' माफ करे केंद्र सरकार
    मायावती ने कहा केंद्र सरकार को 100% कृषि ऋण माफी देनी चाहिए अन्यथा किसानों की आत्महत्याएं जारी रहेंगी. उन्होंने सरकार से एक मजबूत कृषि ऋण माफी नीति बनाए जाने की सलाह दी. मायावती ने कहा कि थोड़ा कर्ज माफ करने से किसानों का भला नहीं होगा. किसानों की पूरी कर्जमाफी होनी चाहिए.

    चुनाव में कांग्रेस एंड पार्टी को सिखाएंगे सबक
    मायावती ने कहा कि देश में सबसे ज्यादा राज कांग्रेस पार्टी ने किया है. लेकिन इस दौरान गरीबों, पिछड़ों और अल्पसंख्यकों का विकास नहीं हो सका. जिसके बाद 1984 में अपनी पार्टी बनानी पड़ी. हमारे बाद भी कई पार्टियां बनी, लेकिन उनकी सोच कांग्रेस पार्टी से कुछ अलग नहीं है. इस चुनाव में कांग्रेस एंड कंपनी को सबक सिखाएंगे.

    राहुल गांधी की इस रणनीति में सेंध लगाने की कोशिश
    देश के तीन राज्यों में किसान मुद्दे को लेकर कांग्रेस की जीत के बाद बसपा सुप्रीमो मायावती ने भी अपनी रणनीति किसानों पर केंद्रित कर ली है. लोकसभा चुनाव में मायावती ने किसान कर्जमाफी का मुद्दा जोर-शोर से उठाने और केंद्र सरकार को घेरने की कोशिश शुरू कर दी है. इसकी तस्दीक उन्होंने जन्मदिन के मौके पर किसानों की शत प्रतिशत कर्जमाफी मुद्दे को उठाकर की. यही नहीं उन्होंने तीन राज्यों की कांग्रेस सरकार को भी किसानों को महज दो लाख की कर्जमाफी की बजाए शत प्रतिशत कर्जमाफी की बात कही.

    भगवान को अपनी-अपनी जाति का बनाने में लगे बीजेपी के नेता
    मायावती ने कहा कि बीजेपी भगवान को अपनी जाति का बनाने में लगी है. उन्होंने कहा कि बीजेपी ने घृणास्पद राजनीति कर भगवान को जातियों में बांट दिया. जिसका खामियां उन्हें उठाना पड़ेगा. उन्होने कहा कि बीजेपी का का विवादास्पद है. हनुमान की जाति को बताने के मुद्दे पर मायावती ने बीजेपी पर हमला बोला. मायावती ने कहा कि आज बीजेपी के लोग भगवान को अपनी-अपनी जाति का बताने में लगे हैं. इन्होंने तो मुसलामानों की जुम्मा की नमाज पर भी सरकारी मशीनरी का उपयोग करना शुरू कर दिया है.

    अखिलेश के खिलाफ सीबीआई का दुरूपयोग
    बसपा प्रमुख ने कहा कि बीजेपी सरकार संवैधानिक संस्थाओं का भी दुरूपयोग कर रही है, जिसका ताजा ताजा उदाहरण सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव हैं. बीजेपी की केंद्र सरकार सरकारी ऊर्जा का उपयोग ऐसी जगह कर रही है जहां जन कल्याण कम और भ्रष्टाचार ज्यादा है.

    यूपी में नहीं गलने वाली कांग्रेस की दाल
    बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने कांग्रेस पर किसानों की कर्जमाफी के मुद्दे को लेकर निशाना साधा है. मायावती ने कहा है कि कांग्रेस ने किसानों को धोखा दिया है. मायावती ने तीन राज्यों, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में किए गए किसानों की कर्जमाफी को छलावा बताया. उन्होंने कहा कि किसानों की कर्जमाफी की जगह ठोस नीति बनायी जानी चाहिए, उन्होंने कहा कि किसानों के लिए आयी स्वामीनाथन रिपोर्ट को लागू करना चाहिए.

    पीएम मोदी के चुनावी वादों को लेकर हमला
    मायावती ने अपने भाषण के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री बहुत बड़े-बड़े वादे कर रहे हैं. हमें लगता है कि एक बार फिर उनके वादे धोखे ही साबित न हों.

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    Tags: BSP, Lucknow news, Mayawati, Up news in hindi

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर