खुलासा: जमीनी विवाद में मारी गई ज्वैलर को गोली, 1 आरोपी गिरफ्तार, लापरवाही में इंस्पेक्टर निलंबित

अभिषेक केसरवानी को घायल अवस्था में ट्रामा सेंटर में एडमिट कराया गया है.
अभिषेक केसरवानी को घायल अवस्था में ट्रामा सेंटर में एडमिट कराया गया है.

लखनऊ (Lucknow) के पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडे ने बताया कि घायल के पिता ने अपने भाई और अष्टभुजा पाठक के खिलाफ एफआईआर कराई है. ज़मीन विवाद में हमले का आरोप लगाया है. अष्टभुजा पाठक को हिरासत में लेकर पूछताछ हो रही है. घायल अभिषेक खतरे से बाहर हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 12, 2020, 2:23 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. राजधानी लखनऊ (Lucknow) के नामचीन बद्री ज्वैलर्स (Badri Jwellers) के मालिक अभिषेक केसरवानी (Abhishek Kesarwani) पर जानलेवा हमला मामले में खुलासा हुआ है. पुलिस ने हमले के पीछे जमीनी विवाद को कारण बताया है. मामले में एक आरोपी अष्टभुजा पाठक को गिरफ्तार किया गया है. उधर कमिश्नर सुजीत पांडे ने इस घटना पर कड़ी नाराजगी जाहिर करते हुए लापरवाही में इंस्पेक्टर, विकास नगर ऋषभदेव सिंह को निलंबित कर दिया है. इसके साथ ही लखनऊ के सभी थानेदारों को अतिरिक्त चौकसी बरतने के निर्देश दिए गए हैं.

आरोपी अष्टभुजा पाठक ने मोबाइल रिकॉर्ड मिटाया

जांच में पता चला कि केसरवानी परिवार और अष्टभुजा पाठक में जमीनी विवाद चल रहा है. यही नहीं पुलिस गौर किया कि अष्टभुजा पाठक ने अपने मोबाइल का रिकॉर्ड मिटाया था.  पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडे ने बताया कि घायल के पिता ने अपने भाई और अष्टभुजा पाठक के खिलाफ एफआईआर कराई है. ज़मीन विवाद में हमले का आरोप लगाया है. अष्टभुजा पाठक को हिरासत में लेकर पूछताछ हो रही है. घायल अभिषेक खतरे से बाहर हैं.



बता दें घटना के बाद अभिषेक के पिता ने कहा था कि मोहनलालगंज की एक ज़मीन के विवाद में हमला हो सकता है. उन्होंने कहा कि मोहनलालगंज केअष्टभुजा पाठक से ज़मीन का विवाद चल रहा है. पिता ने यह भी कहा कि उनके  बड़े भाई से भी ज़मीन का विवाद है.
अभिषेक खतरे से बाहर

मामले में जेसीपी क्राईम नीलाब्जा चौधरी ने बताया कि डॉक्टर्स के मुताबिक अभिषेक खतरे से बाहर हैं. लूट का कोई प्रयास नहीं हुआ है. मोहनलालगंज की एक ज़मीन के विवाद में हमले का शक है.

इनपुट: ऋषभ मणि त्रिपाठी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज