Rising UP 2021: सीएम योगी आदित्यनाथ का अखिलेश यादव पर निशाना, बोले- आज यूपी में बहरूपिया समाजवाद

राइजिंग यूपी के मंच से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अखिलेश यादव को दिया करारा जवाब

CM yogi Adityanath at Rising UP 2021: राइजिंग यूपी के मंच से बोलते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले जाति और समुदाय विशेष को देख कर नौकरी या योजनाओं में लाभ मिलता था. हमारी सरकार ने इस व्यवस्था को ख़त्म किया.

  • Share this:
    लखनऊ. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने राइजिंग यूपी के मंच से समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के मुखिया अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि आज प्रदेश में समाजवाद के कई बहरूपिया ब्रांड हैं. कहीं परिवारवाद का समाजवाद है तो कहीं जातिवाद का समाजवाद है. जिस समय समाजवादी आंदोलन शुरू हुआ उस वक्त वाकई में सच्चे समाजवादी नेता थे. चाहे वाे आचार्य नरेंद्र देव हों, राम मनोहर लोहिया, जय प्रकाश नारायण या फिर चंद्रशेखर। आज यह आंदोलन कहां पहुंच गया है उसे देखकर आश्चर्य होता है. राम मनोहर लोहिया ने कहा था सच्चा समाजवादी वही है जिसे संपत्ति और संतति की लालच नहीं होती थी.

    राइजिंग यूपी के मंच से बोलते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले जाति और समुदाय विशेष को देख कर नौकरी या योजनाओं  में लाभ मिलता था. हमारी सरकार ने इस व्यवस्था को ख़त्म किया. जितनी भी भर्तियां हुई किसी के साथ भेदभाव नहीं किया. प्रदेश या केंद्र की कोई भी योजना रही हो किसी के साथ भेदभाव नहीं किया गया. एक पैमाना निर्धारित किया गया और उसी के अनुसार लाभ पहुंचाया गया. सीएम योगी आदित्यनाथ उस सवाल का जवाब दे रहे थे जिसमें उनसे पूछा गया था कि अखिलेश यादव ने कहा है कि कार्यक्रम में जब सीएम योगी आदित्यनाथ आएं तो उनसे ये पूछा जाना चाहिए कि संकल्प पत्र पर उन्होंने कितना काम किया है. इस सवाल का जवाब देते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि दूसरी पार्टियों का घोषणा पत्र होता है, हमारा संकल्प पत्र होता है. संकल्प पत्र को धरातल पर उतारा गया है और जो काम बाकी रह गए हैं उन्हें जल्द पूरा किया जाएगा



    प्रति व्यक्ति आय बढ़ी 
    सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आजादी के बाद से प्रदेश की प्रति व्यक्ति घाट रही थी. लेकिन हमारी सरकार के चार साल के कार्यकाल में 95 हजार प्रति व्यक्ति आय हो गई. पहले यूपी में प्रति व्यक्ति आय 43 हजार थी. इतना ही नहीं यूपी की अर्थव्यवस्था देश की सबसे बड़ी है. पिछले चार साल में यूपी का बजट ढाई गुना बढ़ा है. हमने आगामी पांच साल का भी रोडमैप तैयार कर लिया है.

    आज यूपी में पांच एक्सप्रेसवे का निर्माण 
    अखिलेश यादव के सवालों पर बोलते हुए कहा कि जब मार्च 2017 में हमारी सरकार आई उस वक्त प्रदेश में दो ही सरकार थी. यमुना एक्सप्रेसवे पर गाड़ियां दौड़ रही थी. दूसरे एक्सप्रेसवे का 30 अधूरा काम हमारी सरकार ने करवाया. ये बात अलग है कि अखिलेश यादव ने दिसंबर में ही उसका उद्घाटन कर दिया था. जिस पूर्वांचल एक्सप्रेसवे की बात वो कर रहे हैं. उसका जमीन अधिग्रहण भी नहीं हुआ था. इतना ही नहीं हमने दो साल बाद काम शुरू किया और उनकी लगत से काफी काम में काम हो रहा है. इतना ही नहीं 10 मीटर अधिक चौड़ी सड़क बन रही है. इसके साथ ही बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे, गंगा एक्सप्रेसवे सहित सभी अन्य पर एक साथ काम हो रहा है.