Assembly Banner 2021

Rising UP 2021: सीएम योगी बोले- फ्लॉप हो चुके नेता किसान आंदोलन के पीछे, फैला रहे भ्रम

मुख्यमंत्री  योगी आदित्यनाथ ने किसान आंदोलन को लेकर विपक्ष को घेरा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किसान आंदोलन को लेकर विपक्ष को घेरा

Rising UP 2021 at CM Yogi Adityanath: राइजिंग यूपी के मंच से बोलते हुए मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने कहा कि 2014 की जीत के बाद से ही प्रधानमंत्री मोदी की छवि को ख़राब करने के लिए विपक्ष के साथ कुछ ताकतें लगी हुई हैं. इसकी शुरुआत बेमुला केस से शुरू ही.

  • Share this:
लखनऊ. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने बुधवार को कहा कि किसान आंदोलन (Kisan Andolan) को वो नेता तूल दे रहे और किसानों को बरगला रहे हैं, जो फ्लॉप हो चुके हैं. किसान आंदोलन के पीछे वे लोग ही हैं जिनका खेती किसानी से कोई लेना देना नहीं है. आज विपक्ष किसानों के कन्धों पर बन्दूक रखकर भ्रम फ़ैलाने में जुटा हैं. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कोशिशों से किसानों के जीवन में बदलाव आया है. आज यूपी में किसानों के लिए सबसे ज्यादा काम किया गया है.

राइजिंग यूपी के मंच से बोलते हुए मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने कहा कि 2014 की जीत के बाद से ही प्रधानमंत्री मोदी की छवि को ख़राब करने के लिए विपक्ष के साथ कुछ ताकतें लगी हुई हैं. इसकी शुरुआत बेमुला केस से शुरू ही. इसके बाद जो भी आंदोलन हुए या आज हो रहे हैं उनमें वही लोग शामिल हैं और उन्हें उकसाने का काम विपक्ष कर रहा है. लेकिन इसके बावजूद देश-विदेश में पीएम मोदी की लोकप्रियता कम नहीं हुई बल्कि और ज्यादा बढ़ी है.

किसान आज भी बीजेपी के साथ 
किसान आंदोलन पर सीएम योगी ने कहा, "किसान आज भी बीजेपी के साथ में हैं. पिछले 6 साल में मोदी सरकार ने किसानों के लिए कई बड़े फैसले लिए हैं. पिछले 6 वर्षों का यह पहला आंदोलन नहीं है. मोदी सरकार को बदनाम करने के लिए कुछ लोग काम कर रहे हैं. जो लोग हर क्षेत्र में फेल हो चुके हैं, वो किसानों के कंधों पर बंदूक रखकर अपने हित साध रहे हैं."
कोरोना काल में क्वारंटाइन ही रहे अखिलेश 


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 2022 में भी प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में आएगी। इसमें किसी को कोई संकोच नहीं होना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि 2022 में भी कोई प्रतिद्वंदी नहीं है. उन्होंने सपा और कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि कोरोना काल में मौका था. जब विपक्ष सरकार के साथ काम करता, लेकिन कोई कहीं नहीं दिखा, अखिलेश यादव तो क्वारंटाइन ही रहे. अच्छा हुआ वे क्वारंटाइन रहकर जनता का ही भला किया. प्रियंका गांधी ने फर्जी एक हजार गाड़ियों  की लिस्ट भेजकर जनता को छलने का काम किया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज