होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /महागठबंधन में सीट बंटवारे से संतुष्ट नहीं RLD, जयंत चौधरी ने अखिलेश से मांगीं ये 5 सीटें

महागठबंधन में सीट बंटवारे से संतुष्ट नहीं RLD, जयंत चौधरी ने अखिलेश से मांगीं ये 5 सीटें

File Photo

File Photo

सूत्रों के अनुसार रालोद ने महागठबंधन में 5 सीटों की मांग की. इनमें बुलंदशहर या हाथरस, कैराना की जगह मुज़फ्फरनगर, बागपत, ...अधिक पढ़ें

    उत्तर प्रदेश में बीजेपी के खिलाफ बन रहे सपा बसपा गठबंधन में सीट बंटवारे से राष्ट्रीय लोकदल संतुष्ट नजर नहीं आ रह है. जानकारी के अनुसार, राष्ट्रीय लोकदल ने मामले में 5 सीटों की मांग रखी है.
    दरअसल मंगलवार को राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चौधरी लखनऊ पहुंचे. यहां उनकी समाजवादी पार्टी कार्यालय पर अखिलेश यादव के साथ मुलाकात हुई. इस मुलाकात को महागठबंधन की कवायद को देखते हुए काफी अहम माना जा रहा था.

    हुआ भी यही. राष्ट्रीय लोकदल गठबंधन की तरफ से दी जा रही सीटों पर संतुष्ट नहीं दिखी. सूत्रों के अनुसार, रालोद ने महागठबंधन में 5 सीटों की मांग की. इनमें बुलंदशहर या हाथरस, कैराना की जगह मुज़फ्फरनगर, बागपत, मथुरा, अमरोहा की सीटें प्रमुख हैं.

    यूपी में महागठबंधन: अखिलेश से मुलाकात कर बोले जयंत चौधरी- आगे की रणनीति पर हुई चर्चा

    जयंत चौधरी और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के बीच करीब दो घंटे चली मुलाकात में सीट शेयरिंग पर बातचीत केंद्र में रही. रालोद ने यहां 5 सीटों की मांग की, वहीं फिलहाल गठबंधन रालोद को 3 सीटें देने को तैयार दिखा. माना जा रहा है कि सीटों के बंटवारे को लेकर जल्द ही फाइनल बातचीत होगी.बात दें 15 जनवरी के बाद यूपी में महागठबंधन का ऐलान कभी भी हो सकता है.

    उधर मुलाकात के बाद आरएलडी उपाध्यक्ष जयंत चौधरी ने सीट शे​यरिंग पर खुलासा नहीं किया. बस इतना कहा कि अखिलेश जी के साथ बातचीत अच्छी हुई. राजनीतिक परिस्थितियों पर चर्चा हुई. आगे क्या होना चाहिए इस पर भी चर्चा हुई. जयंत चौधरी ने कहा कि देश की दिशा और दशा पर चर्चा की. भारतीय जनता पार्टी की नाकामियों पर चर्चा हुई.

    यूपी में 37-37 सीटों पर लड़ेंगे सपा-बसपा, कांग्रेस को बस दो सीटें!

    उन्होंने कहा कि बीजेपी का तो एजेंडा ही रहता है कि मुद्दों को छोड़ दें हल ना निकाले. किसी भी चीज का निष्कर्ष ना निकाले. कोई भी घोषणा का क्रियान्वयन नहीं होता है. शिगूफा छोड़ दिया है. सीबीआई, ज्यूडिशरी, मीडिया जो संस्थाओं का दायरा था, संस्थाओं को चलाने वाले की जो हिम्मत थी. लोकतंत्र के लिए आवश्यक था वह सब व्यवस्थाओं को ध्वस्त भारतीय जनता पार्टी ने कर दिया है. राजनीतिक हालात पर चर्चा किया हमारी अखिलेश यादव के साथ वार्ता हुई.

    आगरा में पीएम नरेंद्र मोदी की रैली से पहले समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता नजरबंद

    बता दें राष्ट्रीय लोकदल का पश्चिम उत्तर प्रदेश की कई सीटों पर अच्छी पकड़ मानी जाती है. महागठबंधन के पहले टेस्ट में लोकसभा उपचुनाव के दौरान रालोद की तबस्सुम हसन ने कैराना सीट बीजेपी से छीनी भी थी.

    (रिपोर्ट: अजीत सिंह)

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsAppअपडेट्स

    आपके शहर से (लखनऊ)

    Tags: Lucknow news, Rastriya lok dal, Up news in hindi, Uttar Pradesh Politics, Uttarpradesh news, लखनऊ

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें