होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /यूपी में महागठबंधन: अखिलेश से मुलाकात कर बोले जयंत चौधरी- आगे की रणनीति पर हुई चर्चा

यूपी में महागठबंधन: अखिलेश से मुलाकात कर बोले जयंत चौधरी- आगे की रणनीति पर हुई चर्चा

अखिलेश यादव और जयंत चौधरी (File Photo)

अखिलेश यादव और जयंत चौधरी (File Photo)

उत्तर प्रदेश में महागठबंधन की कवायद को देखते हुए रालोद के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी और सपा प्रमुख अखिलेश यादव के बीच इस मुला ...अधिक पढ़ें

    उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ बन रहे गैर कांग्रेसी गठबंधन की कवायद मंगलवार को राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चौधरी लखनऊ पहुंचे हैं. यहां उनकी समाजवादी पार्टी कार्यालय पर अखिलेश यादव के साथ मुलाकात हुई. महागठबंधन की कवायद को देखते हुए इस मुलाकात को काफी अहम माना जा रहा है.

    यूपी में 37-37 सीटों पर लड़ेंगे सपा-बसपा, कांग्रेस को बस दो सीटें!

    बता दें समाजवादी पार्टी और बसपा के बीच हुए गठबंधन में राष्ट्रीय लोकदल भी अहम हिस्सा है. पिछले दिनों सपा प्रमुख अखिलेश यादव और बसपा सुप्रीमो मायावती के बीच मुलाकात हुई थी, जिसमें गठबंधन की सीटों के बंटवारे को लेकर खबरें आम हुई थीं. इसमें राष्ट्रीय लोकदल को गठबंधन में 2 से 3 सीटें दिए जाने की बात सामने आई थी.

    मुलाकात के बाद आरएलडी उपाध्यक्ष जयंत चौधरी ने कहा​ कि अखिलेश जी के साथ बातचीत अच्छी हुई. राजनीतिक परिस्थितियों पर चर्चा हुई. आगे क्या होना चाहिए इस पर भी चर्चा हुई. जयंत चौधरी ने कहा कि देश की दिशा और दशा पर चर्चा की. भारतीय जनता पार्टी की नाकामियों पर चर्चा हुई.

    सवर्ण आरक्षण का UP पर पड़ेगा बड़ा असर, लोकसभा की करीब 40 सीटों पर है दबदबा

    उन्होंने कहा कि बीजेपी का तो एजेंडा ही रहता है कि मुद्दों को छोड़ दें हल ना निकाले. किसी भी चीज का निष्कर्ष ना निकाले. कोई भी घोषणा का क्रियान्वयन नहीं होता है. शिगूफा छोड़ दिया है. सीबीआई, ज्यूडिशरी, मीडिया जो संस्थाओं का दायरा था, संस्थाओं को चलाने वाले की जो हिम्मत थी. लोकतंत्र के लिए आवश्यक था वह सब व्यवस्थाओं को ध्वस्त भारतीय जनता पार्टी ने कर दिया है. राजनीतिक हालात पर चर्चा किया हमारी अखिलेश यादव के साथ वार्ता हुई.

    सवर्ण आरक्षण का UP पर पड़ेगा बड़ा असर, लोकसभा की करीब 40 सीटों पर है दबदबा

    बता दें राष्ट्रीय लोकदल का पश्चिम उत्तर प्रदेश की कई सीटों पर अच्छी पकड़ मानी जाती है. महागठबंधन के पहले टेस्ट में लोकसभा उपचुनाव के दौरान रालोद की तबस्सुम हसन ने कैराना सीट बीजेपी से छीनी भी थी.

    मणिशंकर के बयान पर मचा बवाल, बीजेपी ने कसा तंज- उन्हें पता है वह किस कमरे में पैदा हुए

    सूत्रों के अनुसार मायावती के दिल्ली के त्यागराज मार्ग पर स्थित घर पर अखिलेश के साथ बैठक हुई. बैठक के दौरान सपा और बसपा सुप्रीमो के बीच गठबंधन पर मुहर लगाने के साथ ही सीटों की संख्‍या को भी मंजूरी दे दी. खबर है कि सपा और बसपा 37-37 सीटों पर अपने प्रत्याशी खड़े करेंगे. दो सीटें राष्ट्रीय लोकदल के लिए के लिए छोड़ी जाएगी.

    भड़काऊ भाषण देने का मामला, पूर्वांचल यूनिवर्सिटी के VC के खिलाफ परिवाद दाखिल

    दो सीटें महागठबंधन के अन्य साथियों के लिए छोड़ी जाएंगी. साथ ही अगर कांग्रेस साथ आती है तो उसे दो सीटें दी जाएंगी. इसके तहत राहुल गांधी के लिए अमेठी और सोनिया गांधी के लिए रायबरेली सीट छोड़ी जाएंगी. अन्य सीटों पर सपा और बसपा गठबंधन अपने उम्मीदवार उतारेंगे. सूत्रों ने बताया कि अन्य साथियों के महागठबंधन में नहीं जुड़ने की स्थिति में 1-1 सीटें सपा और बसपा आपस में बांट लेंगी.

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsAppअपडेट्स

    आपके शहर से (लखनऊ)

    Tags: Akhilesh yadav, Lucknow news, Rastriya lok dal, Samajwadi party, Up news in hindi, Uttarpradesh news, लखनऊ

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें