Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    अयोध्या में बनने वाली मस्जिद के लिए सबसे पहले रोहित ने दिया 21 हजार का दान, पेश की एकता की मिसाल

    रोहित श्रीवास्तव लखनऊ यूनिवर्सिटी के लॉ डिपार्टमेंट के इम्प्लॉई हैं.
    रोहित श्रीवास्तव लखनऊ यूनिवर्सिटी के लॉ डिपार्टमेंट के इम्प्लॉई हैं.

    अतहर हुसैन (Athar Hussain) ने कहा की हिंदुस्तान हमेशा से ही अपनी गंगा जमुनी तहज़ीब के लिए पहचाना जाता है. शनिवार को राजधानी लखनऊ में एक बार फिर इसकी बेहतरीन मिसाल देखने को मिली.

    • Share this:
    लखनऊ. अयोध्या (Ayodhya) में भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए राम मंदिर ट्रस्ट को जहां देश-विदेश से भारी लोगों का समर्थन मिल रहा है, वहीं अब अयोध्या के रौनाही में बनने वाली मस्जिद निर्माण के लिए इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन (Indo Islamic Cultural Foundation) को भी पहली आर्थिक मदद (Financial aid) प्राप्त हुई. शनिवार को मस्जिद निर्माण ट्रस्ट को लखनऊ यूनिवर्सिटी के लॉ डिपार्टमेंट के रोहित श्रीवास्तव (Rohit Srivastava) ने 21 हज़ार रुपये दान कर हिन्दू- मुस्लिम एकता (Hindu-Muslim unity) की मिसाल पेश की. इंडो इस्लामिक कल्चर फाउंडेशन के प्रवक्ता अतहर हुसैन ने आज रोहित श्रीवास्तव के 21 हज़ार के चेक को ट्रस्ट ले खाते में जमा करवाया.

    अतहर हुसैन ने कहा की हिंदुस्तान हमेशा से ही अपनी गंगा जमुनी तहज़ीब के लिए पहचाना जाता है. शनिवार को राजधानी लखनऊ में एक बार फिर इसकी बेहतरीन मिसाल देखने को मिली. सुप्रीम कोर्ट के आदेश के तहत ट्रस्ट को अयोध्या के रौनाही में मिली 5 एकड़ जमीन पर मस्जिद और अस्पताल के साथ कई भवनों के निर्माण होने हैं. इन भवनों के निर्माण के लिए सुन्नी वक्फ बोर्ड ने इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन नामक ट्रस्ट के गठन किया है. IICF ने अयोध्या में मिली 5 एकड़ जमीन पर निर्माण के लिए देश और दुनिया से दान जुटाने के लिए 2 बैंक अकाउंट खोले हैं और शनिवार को मस्जिद निर्माण ट्रस्ट को अपना पहला दान प्राप्त हुआ है.

    मुस्लिम नहीं बल्कि दूसरे धर्म से आने वाले रोहित श्रीवास्तव हैं
    बता दें कि इस दान को देने वाला कोई मुस्लिम नहीं बल्कि दूसरे धर्म से आने वाले रोहित श्रीवास्तव हैं. रोहित श्रीवास्तव लखनऊ यूनिवर्सिटी के लॉ डिपार्टमेंट के इम्प्लॉई हैं, जिन्होंने शनिवार को लखनऊ स्तिथ इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन के दफ्तर में जाकर 21 हज़ार रुपये का चेक दान किया. इस दौरान इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन के सचिव और प्रवक्ता अतहर हुसैन और ट्रस्टी मोहम्मद राशीद मौजूद रहे. अतहर हुसैन ने खुशी का इज़हार करते हुए रोहित के इस कदम को गंगा जमुनी तहजीब का बेहतरीन उदहारण बताया.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज