पत्नी की करतूतों से खौफ में थे रोहित शेखर, 7 महीने पहले ही जताया था हत्या का अंदेशा

घटना वाली रात 15 अप्रैल को रोहित के उत्तराखंड से घर लौटने पर पहले दोनों के बीच झगड़ा हुआ था. रोहित को कई बीमारियां थी और उन्होंने अत्यधिक शराब भी पी रखी थी, जिससे वह विरोध नहीं कर पाए.

News18 Uttarakhand
Updated: July 19, 2019, 6:49 PM IST
पत्नी की करतूतों से खौफ में थे रोहित शेखर, 7 महीने पहले ही जताया था हत्या का अंदेशा
पुलिस ने चार्जशीट में अपूर्वा को बनाया आरोपी (फाइल फोटो)
News18 Uttarakhand
Updated: July 19, 2019, 6:49 PM IST
उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के पूर्व सीएम दिवंगत एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर की हत्या के मामले में पुलिस की चार्जशीट के बाद एक नया खुलासा हुआ है. पुलिस ने का कहना है कि रोहित को अपनी हत्या के करीब 7 महीने पहले ही पत्नी अपूर्वा शुक्ला की हकीकत पता चल गई थी. रोहित को पता चल गया था कि अपूर्वा जल्द ही उसके साथ कुछ बहुत बुरा करने वाली है.

अपूर्वा ने रोहित को दी थी बर्बाद करने की धमकी
एक अंग्रेजी अखबार में छपी खबर के अनुसार पिछले साल सितंबर में रोहित की बाईपास सर्जरी हुई थी. मैक्स अस्पताल में सर्जरी के कुछ घंटों बाद रोहित ने अपने फोन में एक वीडियो रिकॉर्ड कर अपनी बीवी अपूर्वा से जान का खतरा बताया था.  वीडियो में रोहित ने कहा था, 'अपूर्वा ने मुझे बर्बाद करने की धमकी दी है और मेरे पास जो कुछ भी है वो उसे छीन लेगी. मेरी पत्नी अपूर्वा शुक्ला मुझे ब्लैकमेल कर रही है और मेरी संपत्ति हथियाने के लिए मुझे मानसिक रूप से प्रताड़ित कर रही है. अगर भविष्य में मुझे कुछ हो जाता है तो इस वीडियो को मेरा मृत्युकालिक कथन(डाइंग डिक्लेरेशन) माना जाए.'

भाभी के साथ शराब पीते देखकर अपूर्वा आगबबूला हो गई थी

यह वीडियो एक पेन ड्राइव में सेव था जिसे पुलिस ने जब्त कर लिया था और अब पुलिस की चार्जशीट में एक अहम सबूत के तौर पर दर्ज है. चार्जशीट में बताया गया है कि रोहित के साथ रिश्तों को लेकर अपूर्वा बेहद मानसिक तनाव में थी. घटना वाली रात 15 अप्रैल को रोहित के उत्तराखंड से घर लौटने पर पहले दोनों के बीच झगड़ा हुआ था. रोहित को कई बीमारियां थी और उन्होंने अत्यधिक शराब भी पी रखी थी, जिससे वह विरोध नहीं कर पाए. झगड़े के दौरान अपूर्वा ने गुस्से में आकर रोहित का गला दबा दिया था. चार्जशीट में यह भी है कि भाभी के साथ शराब पीते देखकर अपूर्वा आगबबूला हो गई थी.

15 अप्रैल की रात की हकीकत
रोहित शेखर तिवारी 15 अप्रैल की रात शराब के नशे में उत्तराखंड के कोटद्वार से वोट डालकर डिफेंस कॉलोनी स्थित घर लौटे थे। देर रात खाना-खाने के बाद वे अपने कमरे में सोने चले गए थे. अनबन रहने के कारण पत्नी अपूर्वा बराबर वाले कमरे में अकेले सोती थी. अगले दिन मंगलवार दोपहर चार बजे तक रोहित सोते रहे, लेकिन किसी ने भी उनकी सुध लेने की कोशिश नहीं की.
Loading...

अचानक घरेलू सहायक गोलू जब किसी काम से रोहित के कमरे में गया तो उनकी नजर रोहित के मुंह व नाक से खून निकलते हुए पड़ी. उसने अपूर्वा व घर में मौजूद अन्य लोगों को रोहित के बारे में जानकारी दी. फिर मां उज्ज्वला शर्मा को भी फोन कर सूचना दी. अस्पताल ले जाने पर डॉक्टर ने जांच के बाद रोहित को मृत घोषित कर दिया. शाम 4.41 बजे अस्पताल के गार्ड ने पुलिस को कॉल कर घटना के बारे में जानकारी दी.

ये भी पढ़ें:

प्रियंका को रोकने पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जताया विरोध

सोनभद्र नरसंहार: प्रियंका के पहुंचने से पहले धारा 144 लगाई

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 19, 2019, 5:16 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...