Home /News /uttar-pradesh /

RPN Singh Profile: कौन हैं पडरौना के राजा आरपीएन सिंह, 'हाथ' से जाते ही कांग्रेस को कर गए 'बेघर'

RPN Singh Profile: कौन हैं पडरौना के राजा आरपीएन सिंह, 'हाथ' से जाते ही कांग्रेस को कर गए 'बेघर'

RPN Singh Joins BJP: कौन हैं पडरौना के राजा आरपीएन सिंह

RPN Singh Joins BJP: कौन हैं पडरौना के राजा आरपीएन सिंह

RPN Singh News: कांग्रेस के दिग्गज नेता और यूपीए सरकार में मंत्री रह चुके आरपीएन सिंह (RPN Singh News) कांग्रेस से भाजपाई हो गए. कुशीनगर में पडरौना के राजा कहे जाने वाले कुंवर रतनजीत प्रताप नारायण सिंह यानी आरपीएन सिंह (RPN Singh Joins BJP) दशकों से कांग्रेस में थे. मगर अब यूपी की बदलती सियासी तस्वीर में भाजपा का दामन थाम चुके हैं. माना जा रहा है कि वह खुद पडरौना सीट से विधानसभा चुनाव लड़ सकते हैं. पडरौना विधानसभा सीट से ही सपा के टिकट पर स्वामी प्रसाद मौर्य की दावेदारी है, मगर अब यहां मुकाबला दिलचस्प हो गया है. इतना ही नहीं, आरपीएन सिंह के भाजपा में जाने से कुशीनगर में कांग्रेस बेघर हो गई है. आरपीएन सिंह के छोड़ने पर कांग्रेस के पास बैठने को जगह नहीं है, क्योंकि आरपीएन सिंह (RPN Singh) के घर में ही कांग्रेस का कार्यालय चल रहा था. मगर अब कुशीनगर जिला कांग्रेस कमेटी बिना कार्यालय के हो गई है.

अधिक पढ़ें ...

लखनऊ: कांग्रेस के दिग्गज नेता और यूपीए सरकार में मंत्री रह चुके आरपीएन सिंह (RPN Singh News) कांग्रेस से भाजपाई हो गए. कुशीनगर में पडरौना के राजा कहे जाने वाले कुंवर रतनजीत प्रताप नारायण सिंह यानी आरपीएन सिंह (RPN Singh Joins BJP) दशकों से कांग्रेस में थे. मगर अब यूपी की बदलती सियासी तस्वीर में भाजपा का दामन थाम चुके हैं. माना जा रहा है कि वह खुद पडरौना सीट से विधानसभा चुनाव लड़ सकते हैं. पडरौना विधानसभा सीट से ही सपा के टिकट पर स्वामी प्रसाद मौर्य की दावेदारी है, मगर अब यहां मुकाबला दिलचस्प हो गया है. इतना ही नहीं, आरपीएन सिंह के भाजपा में जाने से कुशीनगर में कांग्रेस बेघर हो गई है. आरपीएन सिंह के छोड़ने पर कांग्रेस के पास बैठने तक को जगह नहीं है, क्योंकि आरपीएन सिंह (RPN Singh) के घर में ही कांग्रेस का कार्यालय चल रहा था. मगर अब आरपीएन सिंह के पाला बदलने से कुशीनगर जिला कांग्रेस कमेटी बिना कार्यालय के हो गई है.

कौन हैं आरपीएन सिंह
दरअसल, आरपीएन सिंह कांग्रेस के कद्दावर नेता रह चुके हैं. आरपीएन सिंह के पिता सीपीएन सिंह इंदिरा गांधी की सरकार में रक्षा मंत्री भी रह चुके हैं. आरपीएन सिंह पडरौना विधानसभा से तीन बार विधायक रहे हैं. मनमोहन सिंह की सरकार में केंद्रीय पेट्रोलियम, प्राकृतिक गैस, कॉरपोरेट मामला, सड़क परिवहन एवं राजमार्ग और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जैसे महत्वपूर्ण मंत्रालयों की जिम्मेदारी संभाल चुके हैं. ओबीसी जाति से आने के कारण अच्छी पकड़ है. इनता ही नहीं, सभी जाति के वर्ग में उनकी अच्छी पकड़ है.

आरपीएन सिंह का सियासी सफर
-पिता सीपीएन सिंह की हत्या के बाद राजनीति में आए और लगातार तीन बार विधायक रहे.
– 1996 , 2002 और 2007 में लगातार तीन बार पडरौना विधानसभा से कांग्रेस पार्टी से विधायक रहे.
– 2009 में पहली बार लोकसभा का चुनाव लड़े और तत्कालीन बीएसपी सरकार के दिग्गज नेता स्वामी प्रसाद मौर्य को हराकर सांसद बने.
-2011 की कांग्रेस सरकार में केंद्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री राज्य मंत्री रहे.
-2012 में केंद्रीय सड़क परिवहन राजमार्ग और कॉरपोरेट मामलों के राज्यमंत्री रहे.
-2013 से 2014 तक केंद्रीय गृह राज्य मंत्री रहे. पिछले दो लोकसभा चुनाव में भाजपा के कैंडिडेट से उनकी हार हुई है.

कांग्रेस संगठन में भी बड़े पदों पर रहे
– 1997 से 1999 तक उत्तर प्रदेश युवा कांग्रेस के अध्यक्ष रहे
– 2003 से 2006 तक AICC के सचिव रहे.
-आरपीएन सिंह को झारखंड राज्य के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस में प्रदेश प्रभारी बनाया था, जिनकी अगुवाई में कांग्रेस का प्रदर्शन काफी अच्छा रहा और वहां गठबंधन की सरकार बनी.
– वर्तमान समय में झारखंड के प्रभारी थे.

Tags: Assembly elections, RPN Singh, Uttar Pradesh Assembly Elections, ​​Uttar Pradesh News

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर