लाइव टीवी

अलीगढ़ हिंसा पर यूपी विधानसभा में हंगामा, एसपी-कांग्रेस ने किया वाक आउट
Aligarh News in Hindi

News18Hindi
Updated: February 24, 2020, 1:49 PM IST
अलीगढ़ हिंसा पर यूपी विधानसभा में हंगामा, एसपी-कांग्रेस ने किया वाक आउट
विधानसभा की कार्यवाही की शुरूआत में यह मुद्दा उठा. (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश की विधानसभा (UP Assembly) में सोमवार को अलीगढ़ (Aligarh) में हुई हिंसा का मामला छाया रहा. विधानसभा की कार्यवाही की शुरूआत के बाद यह मुद्दा उठा. जिस पर चर्चा को लेकर तीखी नोकझोंक भी हुई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 24, 2020, 1:49 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश की विधानसभा (UP Assembly) में सोमवार को अलीगढ़ (Aligarh) में हुई हिंसा का मामला छाया रहा. विधानसभा की कार्यवाही की शुरूआत के बाद यह मुद्दा उठा. जिस पर चर्चा को लेकर तीखी नोकझोंक हुई. इसके बाद समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) और कांग्रेस ने सदन का बहिष्कार किया. दरअसल, विधानसभा की कार्यवाही शुरू होते ही नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी की तरफ से नियम 56 के तहत कानून व्यवस्था और अलीगढ़ के मुद्दे पर चर्चा की मांग की गई. जिस पर विधानसभा अध्यक्ष ने प्रश्नकाल के बाद इस मुद्दे पर चर्चा की बात कही. बता दें, रविवार को अलीगढ़ में संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान काफी हिंसा होने की खबर मिल रही है. घटना के बाद अलीगढ़ में इंटरनेट सेवाओं पर भी रोक लगा दी गई है.

शांतिपूर्ण आंदोलन पर लाठीचार्ज का आरोप
इस पर नाराजगी जाहिर करते हुए समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के विधायकों ने सदन का वर्क आउट किया. कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने समाजवादी पार्टी और बीजेपी पर शांतिपूर्ण चल रहे आंदोलनों को उकसाने का और लाठीचार्ज करने का आरोप लगाया.

सरकार अपना रही दमनकारी नीति



इस दौरान नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी ने कहा कि लोकतंत्र में प्रदर्शन करना सभी का अधिकार है. उनका कहना है कि प्रदेश सरकार प्रदर्शनकारियों पर दमनकारी नीति अपनाते हुए लाठीचार्ज नहीं कर सकती.

सदन का किया बहिष्कार, पूछे कई सवाल
इस मुद्दे पर सदन का बहिष्कार करते हुए कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय लल्लू ने सवाल पूछा कि आखिर भारतीय जनता पार्टी शांतिपूर्ण आंदोलन को दमन क्यों कर रही है? उन्होंने कहा कि पिछले दिनों जब महिलाएं धरने पर बैठने जा रही थी तो पहले वहां प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा पानी डाल दिया गया, उन्हें बैठने से मना कर दिया गया. फिर भी महिलाओं ने वहां धरने पर बैठ कर आंदोलन को चलाने का काम किया.

लोकतंत्र की हत्या का लगाया आरोप
उन्होंने कहा कि इस मामले में रविवार को डीएम ने कहा कि हम किसी भी तरह से इस आंदोलन को चलने नहीं देंगे. कांग्रेस प्रदेश अध्य़क्ष का आरोप है कि सरकार के स्तर पर आंदोलन को कुचलने का प्रयास किया जा रहा है. उन्होंने दबाव बनाकर लाठीचार्ज कराने की भी बात कही. इस मामले में उन्होंने कहा कि कुछ अराजक तत्वों ने गोली चलाई, उसका वीडियो फुटेज भी है. उन्होंने सरकार पर लोकतंत्र की हत्या करने का आरोप लगाया.

विपक्ष के पास नहीं है कोई मुद्दा
इस मामले में संसदीय कार्यमंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि विपक्ष के पास कोई मुद्दा नहीं है, इसलिए वे नियम के विरुद्ध खड़े हो जाते है और ये सड़क पर उपद्रव करते है. खन्ना का कहना है कि जनता के इस सवाल पर जब सरकार जवाब देती है, ये असंसदीय भाषा का प्रयोग करते है, अपने हित के लिए सड़क पर बवाल कराते हैं.

यूपी के अलीगढ़ में हुई है जमकर हिंसा
आपको बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में रविवार को यूपी के अलीगढ़ में जमकर हिंसा हुई. इस दौरान अलीगढ़ के ऊपरकोट, शाहजमाल और डेहलीगेट पर उपद्रव हुआ. प्रदर्शनकारियों की भीड़ में शामिल होकर कुछ उपद्रवियों ने धार्मिक स्थलों के पास पत्थरबाजी की. हालांकि हालात की संवदेनशीलता को देखते हुए शाम 6 बजे से इटंरनेट सेवाएं बाधित कर दी गई. वहीं अशांत माहौल को देखते हुए अलीगढ़ मुस्लिम युनिवर्सिटी में भी चौकसी बढ़ा दी गई है.

ये भी पढ़ें:

CAA Protest: जाफराबाद में सेना जैसी वर्दी में दिखी दिल्ली पुलिस, आर्मी ने कहा- हम लेंगे एक्शन

अलीगढ़ CAA बवाल: पुलिस ने करीब 300 लोगों पर दर्ज किया FIR, हालात सामान्य

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अलीगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 24, 2020, 1:49 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर