साध्वी प्राची ने लगाई अमित शाह और CM योगी से सुरक्षा की गुहार, बोलीं- ISI से मिल चुकी है धमकी
Lucknow News in Hindi

साध्वी प्राची ने लगाई अमित शाह और CM योगी से सुरक्षा की गुहार, बोलीं- ISI से मिल चुकी है धमकी
साध्वी प्राची ने गृहमंत्री और सीएम योगी से लगाई सुरक्षा की गुहार (फाइल फोटो)

प्राची ने बताया कि 23 अक्टूबर को वो लखनऊ में सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर सकती हैं. बता दें कि बीते 18 अक्टूबर को ही हिंदू समाज पार्टी (Hindu Samaj Party) के अध्यक्ष कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari) की हत्या (Murder) कर दी गई थी.

  • Share this:
लखनऊ. अपने विवादित बयानों (Controversial Statements) को लेकर चर्चा में रहने वाली फायरब्रांड नेता (Fire Brand Leader) साध्वी प्राची (Sadhvi Prachi) को अपनी सुरक्षा की फिक्र सता रही है. साध्वा प्राची ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (UP CM Yogi Adityanath) को पत्र लिखकर सुरक्षा की मांग की है. न्यूज़ 18 से बातचीत में साध्वी प्राची ने कहा कि इससे पहले उन्हें कई संगठनों द्वारा धमकी मिल चुकी है और हाल ही में हरिद्वार स्थित उनके आश्रम के आसपास संदिग्ध गतिविधियां देखी गई हैं. उन्होंने बताया कि मुझे कुछ दिनों पहले पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई (ISI) से भी धमकी मिल चुकी है. जिसके बाद उनपर जान का खतरा मंडरा रहा है. साध्वी ने बताया कि मुझे सरकार की तरफ से कोई सुरक्षा नहीं मिली हुई है.

CM योगी से मिल सकती हैं साध्वी प्राची

वहीं उन्होंने हिंदू समाज पार्टी (Hindu Samaj Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी की हत्या के बाद यूपी सरकार और पुलिस से सुरक्षा मुहैया कराने की मांग की है. साध्वी प्राची ने बताया कि 23 अक्टूबर को वो लखनऊ में सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर सकती हैं. बता दें कि बीते 18 अक्टूबर को ही हिंदू समाज पार्टी (Hindu Samaj Party) के अध्यक्ष कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari) की लखनऊ में उनके घर में घुसकर हत्या (Murder) कर दी गई थी.



इस हत्याकांड में गुजरात से तीन और यूपी से दो संदिग्ध लोगों को गिरफ्तार किया गया है. साथ ही यूपी के बिजनौर के दो मौलानाओं की भी भूमिका की जांच की जा रही है. वर्ष 2015 में इन दोनों मौलानाओं ने कमलेश तिवारी का सिर कलम करने वालों को डेढ़ करोड़ रुपये इनाम देने की घोषणा की थी. इस वारदात के मुख्य आरोपी शेख अशफाक हुसैन (Accused Sheikh Asfaq Hussain) और पठान मोइनुद्दीन अहमद (Pathan Moinuddin Ahamd) उर्फ फरीद अब भी पुलिस की गिरफ्तार से दूर है.
ये भी पढ़ें:

भोपाल फोरेंसिक लैब ने रिकवर किया चिन्मयानंद के मोबाइल का गायब डाटा

कमलेश तिवारी हत्याकांड: इस रूट से भाग रहे हैं हत्यारोपी, शाहजहांपुर के एक होटल में लगे CCTV में हुए कैद
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज