लाइव टीवी

पलायन पर बोली सपा- यूपी से वोट और गुजरात में पिटाई बर्दाश्त नहीं

News18Hindi
Updated: October 8, 2018, 1:52 PM IST
पलायन पर बोली सपा- यूपी से वोट और गुजरात में पिटाई बर्दाश्त नहीं
फाइल फोटो

समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता अनुराग भदौरिया ने कहा कि ऐसा सलूक उत्तर प्रदेश के लोगों के साथ गुजरात में होगा तो यूपी के लोग बर्दाश्त नहीं कर पाएंगे. हमारे पास इतना बड़ा दिल नहीं है कि एक भाई से आप वोट लें और दूसरे भाई को मारकर भगा दें.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 8, 2018, 1:52 PM IST
  • Share this:
गुजरात के साबरकांठा जिले में एक बच्ची से कथित तौर पर रेप के बाद वहां गैर गुजरातियों के खिलाफ हिंसा के बने माहौल और उत्तर प्रदेश, बिहार और मध्य प्रदेश के लोगों को निशाना बनाए जाने की घटना की समाजवादी पार्टी ने निंदा की है. समाजवादी पार्टी का कहना है कि यूपी, बिहार और मध्यप्रदेश के लोगों की गुजरात से पलायन की खबरें आ रही हैं. इसकी पूरी जिम्मेदारी गुजरात सरकार की बनती है. साथ ही यूपी के लोग भी अब इस बात को सोचेंगे कि गुजरात के लोगों को हम चुनाव नहीं जिता पाएंगे.

अनुराग भदौरिया कहते हैं कि गुजरात से कोई भी व्यक्ति आता है तो हम उसे संसद सदस्य बना देते हैं. देश के सर्वोच्च पदों पर बिठाने का काम करते हैं. ये उत्तर प्रदेश के लोगों का दिल है. लेकिन यूपी, बिहार और मध्यप्रदेश के लोग अगर गुजरात में जाएंगे तो वहां पर उन्हें मारकर भगा दिया जाए. उनके बच्चों को धमका कर भगा दिया जाए कि आप बाहरी हैं. उनका मकान खाली करवा दिया जाए. ​बेचारे किसी तरह से बसों, ट्रकों में अपनी जान बचाने के लिए गाड़ियों में भागें.

ऐसा सलूक उत्तर प्रदेश के लोगों के साथ गुजरात में होगा तो यूपी के लोग बर्दाश्त नहीं कर पाएंगे. हमारे पास इतना बड़ा दिल नहीं है कि एक भाई से आप वोट लें और दूसरे भाई को आप मारकर वहां से भगा दें. अनुराग भदौरिया ने कहा कि उत्तर प्रदेश के लोग इस बात को सोचेंगे कि गुजरात के लोगों को हम चुनाव नहीं जिता पाएंगे.  उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी की मांग है कि सभी लोगों का देश के किसी भी हिस्से में पूरा सम्मान होना चाहिए. इसमें पूरी जिम्मेदारी गुजरात सरकार की है.

 

पूरी जिम्मेदारी गुजरात सरकार की है: अनुराग भदौरिया


anurag bhadauria 1
समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता अनुराग भदौरिया. (File Photo)


 उन्होंने कहा कि जहां तक ये कहा जा रहा है कि छुट्टियों के कारण लोग जा रहे हैं तो ये गलत है. तर्क देने से काम नहीं चलेगा. त्यौहार हर साल आते हैं. उन्होंने कहा कि मीडिया में कई लोगों के बयान आए हैं कि वे परेशान होकर पलायन कर रहे हैं.

बता दें गुजरात के साबरकांठा जिले में 14 महीने की बच्ची से कथित तौर पर रेप के बाद वहां गैर गुजरातियों के खिलाफ हिंसा का माहौल बन गया है. एक रिपोर्ट के अनुसार हमलों के बाद यूपी-बिहार के पांच हजार लोग गुजरात छोड़ चुके हैं. इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद राजनीतिक हमले शुरू हो चुके हैं. रिपोर्ट के आधार पर कांग्रेस नेता संजय निरूपम ने प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधा है. निरुपम ने कहा, "बनारस के लोगों ने देखा भी नहीं कि मोदी गुजरात के हैं या महाराष्ट्र के. बनारस के लोगों ने उन्हें गले लगाया और पीएम बना दिया.''

उधर गुजरात के कई इलाकों में यूपी-बिहार के नागरिकों के साथ हुई मारपीट की घटना पर रविवार को गुजरात के डीजीपी शिवानंद झा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस ली. उन्होंने बताया कि इस मामले में अब तक 342 लोगों को हिरासत में लिया है. इसके साथ ही जिन इलाकों से मारपीट की खबरें ज्यादा आ रही हैं, उन इलाकों में पुलिस ने पेट्रोलिंग बढ़ा दी है.

डीजीपी के मुताबिक, गैर गुजरातियों-खासतौर पर उत्तर प्रदेश और बिहार के रहने वाले लोगों पर हमले पिछले एक हफ्ते में गांधीनगर, मेहसाना, साबरकांठा, पाटन और अहमदाबाद जिलों में हुए हैं. इन घटनाओं के संबंध में शनिवार देर शाम तक 180 लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

हालांकि, राज्य के कई हिस्सों से उत्तर भारतीयों के पलायन का कारण पूछने पर उन्होंने कहा कि लोग त्योहारों के कारण घर जा रहे हैं. उन्होंने कहा, "अगर लोग त्योहारों के कारण घर जा रहे हैं तो इसे गलत तरीके से नहीं देखा जाना चाहिए. मैंने अपने अधिकारियों को रिहायशी इलाकों के दौरे के लिए कहा है. ज़रूरत पड़ी तो बस स्टैंड और रेलवे स्टेशनों पर भी जाकर पूछताछ की जाएगी."

ये भी पढ़ें: 

सपा-बसपा से बढ़ती दूरी के बीच यूपी में राहुल गांधी साध रहे OBC वोटबैंक पर निशाना

फिर से विरोध-प्रदर्शन की तैयारी में यूपी के बागी पुलिस सिपाही, अलर्ट जारी

पुरानी पेंशन बहाली को लखनऊ में महारैली, एकजुट होंगे शिक्षक, इंजीनियर, अधिकारी-कर्मचारी

लखनऊ: केके हॉस्पिटल में डॉक्टर की पिटाई और तोड़फोड़, घटना CCTV में कैद

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 8, 2018, 1:52 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर