Air Pollution: दुनिया के प्रदूषित शहरों में यूपी का बोलबाला, अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर कसा तंज

समाजवादी पार्टी के मुख‍िया अखिलेश यादव

समाजवादी पार्टी के मुख‍िया अखिलेश यादव

समाजवादी पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्यक्षअखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने यूपी बढ़ते प्रदूषण को लेकर योगी सरकार को घेरा है. उन्‍होंने स्विस संगठन आईक्यूएयर (Swiss Organization IQAir) द्वारा तैयार वर्ल्ड एयर क्वालिटी रिपोर्ट 2020 का जिक्र करते हुए कहा कि अगर भाजपा सरकार पूर्ववर्ती सरकार में शुरू हुए काम बंद नहीं करती तो यह नौबत नहीं आती.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 18, 2021, 10:57 AM IST
  • Share this:
लखनऊ. समाजवादी पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्यक्ष और यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने स्विस संगठन आईक्यूएयर (Swiss Organization IQAir) द्वारा तैयार वर्ल्ड एयर क्वालिटी रिपोर्ट 2020 के आधार पर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार (Yogi Adityanath Government)को घेरा है. उन्‍होंने गुरुवार को ट्वीट किया कि अगर प्रदेश की भाजपा सरकार उनकी पूर्ववर्ती सरकार में शुरू किए गए पर्यावरण संरक्षण में योगदान करने वाले कार्यों को नहीं रोकती तो आज उसे यह दिन नहीं देखना पड़ता.

इसके अलावा यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने कहा, ‘दुनिया के 30 सबसे प्रदूषित शहरों में 10 शहर उत्तर प्रदेश के हैं और राजधानी लखनऊ दुनिया में नौवें नंबर पर है. अगर सपा सरकार के सार्वजनिक परिवहन मेट्रो, साइकिल ट्रैक, गोमती रिवर फ्रंट, पार्क और सफारी जैसे पर्यावरणीय काम न रोके होते तो आज भाजपा सरकार को यह दिन नहीं देखना पड़ता.’

यूपी के इन शहरों को है बुरा हाल

गौरतलब है कि स्विस संगठन आईक्यू एयर की ओर से मंगलवार को जारी ‘विश्व वायु गुणवत्ता रिपोर्ट 2020’ के मुताबिक, दुनिया के सबसे प्रदूषित 30 शहरों में से 22 भारत में हैं. इनमें लखनऊ नौवें स्थान पर है. जबकि रिपोर्ट में कहा गया है कि दुनिया के सबसे प्रदूषित शहरों की सूची में भारत प्रमुखता से दिख रहा है और विश्व के सबसे प्रदूषित 30 शहरों में से 22 भारत के हैं.
रिपोर्ट के अनुसार, चीन का शिनजियांग दुनिया में सबसे ज्यादा प्रदूषित शहर है. उसके बाद शीर्ष 10 में से नौ शहर भारत के हैं. दुनिया के सबसे प्रदूषित शहरों की सूची में गाजियाबाद दूसरे स्थान पर है. उसके बाद बुलंदशहर, बिसरख जलालपुर, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, कानपुर, लखनऊ और भिवाड़ी का नंबर आता है. बता दें कि इन शहरों में प्रदूषण का स्तर पीएम2.5 के आधार पर मापा गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज