अपना शहर चुनें

States

बर्ड फ्लू को लेकर सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने योगी सरकार को दिया ये सुझाव

सपा प्रमुख अखिलेश यादव (File Photo)
सपा प्रमुख अखिलेश यादव (File Photo)

सपा प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने ट्वीट कर कहा है कि सरकार बर्ड फ्लू (Bird Flu) से बचने के लिए अग्रिम तैयारी करे. जनता इससे कैसे बचे, इसका प्रचार-प्रसार करे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 7, 2021, 1:07 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश सरकार (UP Government) ने बर्ड फ्लू (Bird Flu) को लेकर एडवाइजरी जारी की है. इसमें जिलों के अधिकारियों को सुरक्षा के उपाय और अफवाहों से निपटने के लिए तैयार रहने का कहा गया है. इस बीच समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने बर्ड फ्लू को लेकर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार को सलाह दी है. अखिलेश ने ट्वीट कर कहा है कि सरकार बर्ड फ्लू से बचने के लिए अग्रिम तैयारी करे. जनता इससे कैसे बचे, इसका प्रचार-प्रसार करे.

अखिलेश ने ट्वीट किया है, “उप्र की सरकार देश के कई राज्यों में फैल चुके ‘बर्ड फ्लू’ से बचने के लिए अग्रिम तैयारी करे व जनता इसके दुष्प्रभाव से कैसे बचे इसका प्रचार-प्रसार करे. कोरोना के साथ बर्ड फ्लू का अतिरिक्त बोझ उठाना पहले से ही दिन-रात काम कर रहे चिकित्सकों व मेडिकल स्टाफ़ के लिए बड़ी चुनौती होगा.”

akhilesh on brid flu
सप प्रमुख अखिलेश यादव का ट्वीट




ये है यूपी सरकार की एडवाइजरी
केरल के अलपुज्जा से शुरू हुए बर्ड फ़्लू के ख़तरे को देखते हुए यूपी के पशुधन विभाग ने पूरे प्रदेश के लिए एडवाइज़री जारी कर दी है, इसमें सभी ज़िलों को निर्देश दिए गए हैं कि पक्षियों के पानी पीने के जलाशयों पर नज़र रखा जाए.  अगर कोई बाहरी पक्षियों का झुंड पानी पीने के लिए आता है तो उस पर नज़र रखी जाए. जलाशयों में पानी पीने के बाद अगर कोई पक्षी मृत पाया जाता है तो फ़ौरन उसकी फॉरेंसिक जांच के लिए लैब में भेजा जाये.

बाहर के राज्यों से आनेवाले पक्षियों खासकर कुक्कुट यानि मुर्गियों को लेकर आने वाली गाड़ियों की जांच की जाए. अगर कोई पक्षी बीमार या मृत पाया जाता है तो उसे प्रदेश की सीमा में प्रवेश न दिया जाए. मुर्ग़ा मंडियों को हफ्ते में एक दिन बंद रखा जाए और उस दिन मंडी की पूरी साफ़ सफ़ाई की जाए.

सभी बर्ड सैंक्चुरी और पक्षी पार्कों की सूची बनायी जाये जहां पर प्रवासी पक्षी आते है. वहीं पर भारत सरकार की संक्रमण को लेकर गाइडलाइन्स को पूरी तरह से पालन कराया जाये और संक्रमण रोकने के तरीक़ों को इस्तेमाल किया जाये.

सभी ज़िलाधिकारी ये सुनिश्चित करें कि उनके ज़िलों में फेसमास्क और पीपीई किट की कमी ना हो. इसका ज़रूरत पड़ने पर इस्तेमाल किया जाये.

सभी ज़िलों में मुर्ग़ा और उसके उत्पादों के इस्तेमाल के लिये जन जागरण अभियान चलाया जाये. किसी भी तरह की अफ़वाह को ना फैलने दिया जाये.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज