लाइव टीवी

COVID-19: अखिलेश यादव बोले, असंगठित क्षेत्र के गरीब मजदूरों की भी फिक्र करे योगी सरकार
Lucknow News in Hindi

Alauddin | News18 Uttar Pradesh
Updated: March 22, 2020, 9:01 AM IST
COVID-19: अखिलेश यादव बोले, असंगठित क्षेत्र के गरीब मजदूरों की भी फिक्र करे योगी सरकार
असंगठित क्षेत्र के गरीब मजदूरों की भी फिक्र करे सरकार (file photo).

अखिलेश ने यहां एक बयान में कहा कि कोरोना वायरस के इस संकट के वक्त उत्तर प्रदेश की बीजेपी सरकार ने फिलहाल राज्य के पंजीकृत मजदूरों को ही राहत देने का ऐलान किया है.

  • Share this:
लखनऊ. कोरोना (Covid-19) पॉजिटिव केस मिलने के बाद उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ (Lucknow) में हड़कंप मचा हुआ है. इसी कड़ी में समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने उत्तर प्रदेश सरकार से संगठित क्षेत्र के मजदूरों के साथ-साथ असंगठित क्षेत्र के मजदूरों, रिक्शा चालकों और रेहड़ी वालों की भी सुध लेने की मांग की है.

अखिलेश ने एक बयान में कहा कि कोरोना वायरस के इस संकट के वक्त उत्तर प्रदेश की बीजेपी सरकार ने फिलहाल राज्य के पंजीकृत मजदूरों को ही राहत देने का ऐलान किया है. मगर उसे रोज कुआं खोदकर पानी पीने वाले असंगठित क्षेत्र के मजदूरों, किसानों, रिक्शा चालकों, ऑटो चालकों और सड़क किनारे छोटे-मोटे सामान या खाद्य पदार्थ बेचने वालों की दशा पर भी संवेदना के साथ विचार करना चाहिए.

सपा अध्यक्ष ने कहा कि सरकार ने अस्पतालों में ओपीडी, जलपान गृह, ढाबे, होटल, मिठाई भंडार, फूड स्टाल, काफी हाउस, कैफे, रेस्‍तरां, बाजार, कार्यालयों और तमाम गतिविधियों पर आगामी 31 मार्च तक रोक लगाई है, फलस्वरूप बड़ी आबादी के सामने भुखमरी की स्थिति पैदा होने की आशंका है. पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि आधी अधूरी घोषणा से पूरा काम नहीं चलेगा. सरकार को यह सुनिश्चित भी करना होगा कि कोई वंचित और कमजोर समाज का व्यक्ति राहत से छूट न जाए अन्यथा उसके सामने जीने का संकट उत्पन्न हो जाएगा.

35 लाख मजदूराें के खाते में जाएंगे 1000 रुपए



इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना वायरस के चलते रोजगार में प्रभावित दिहाड़ी मजदूरों के लिए सीएम योगी 1000-1000 रुपये देने का फैसला किया हैं. सीएम योगी ने कहा- श्रम विभाग में 20 लाख 37 हजार पंजीकृत श्रमिकों, दैनिक सफाईकर्मी ढेले वाले 15 लाख लोगों को भी भरण-पोषण के तौर पर एक हजार रुपये उनके एकाउंट में ट्रांसफर किए जाएंगे. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि यूपी सरकार 1 करोड़ 65 लाख 31 हजार मनरेगा परिवारों को एक महीने का खाद्यान्न उपलब्ध कराएगी. जो भी परिवार किसी वजह से सूची में छूटे हैं, डीएम उनको तत्काल 1000 रुपए दिलाने की व्यवस्था करेंगे.

ये भी पढ़ें:

जनता कर्फ्यू का असर: अयोध्या में राम जन्मभूमि के अस्थाई मंदिर का भूमि पूजन हुआ स्थगित

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 22, 2020, 8:57 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर