शासक केवल ‘प्रयागराज’ नाम बदलकर अपना काम दिखाना चाहते हैं: अखिलेश यादव

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सोमवार को किए अपने ट्वीट में लिखा है कि राजा हर्षवर्धन ने अपने दान से ‘प्रयाग कुम्भ’ का नाम किया था और आज के शासक केवल ‘प्रयागराज’ नाम बदलकर अपना काम दिखाना चाहते हैं.

Ajayendra Rajan | News18 Uttar Pradesh
Updated: October 15, 2018, 1:24 PM IST
शासक केवल ‘प्रयागराज’ नाम बदलकर अपना काम दिखाना चाहते हैं: अखिलेश यादव
अखिलेश यादव
Ajayendra Rajan
Ajayendra Rajan | News18 Uttar Pradesh
Updated: October 15, 2018, 1:24 PM IST
समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सोमवार को इलाहाबाद का नाम प्रयाग राज किए जाने पर योगी सरकार पर तंज कसा. इसके अलावा उन्होंने अर्ध कुंभ को भी कुंभ किए जाने के सरकार के कदम को परंपरा और आस्था से खिलवाड़ करार दिया.

अखिलेश यादव ने सोमवार को किए अपने ट्वीट में लिखा है कि राजा हर्षवर्धन ने अपने दान से ‘प्रयाग कुम्भ’ का नाम किया था और आज के शासक केवल ‘प्रयागराज’ नाम बदलकर अपना काम दिखाना चाहते हैं. इन्होंने तो ‘अर्ध कुम्भ’ का भी नाम बदलकर ‘कुम्भ’ कर दिया है. ये परम्परा और आस्था के साथ खिलवाड़ है.

 


Loading...

बता दें इससे पहले इलाहाबाद का नाम प्रयागराज किये जाने के सरकार के प्रस्ताव को समाजवादी पार्टी राजनैतिक फैसला करार दे चुकी है. समाजवादी पार्टी की प्रवक्ता निधि यादव का कहना है कि प्रदेश सरकार जनता को मुद्दों से भटकाने के लिये नाम बदलने की राजनीति कर रही है. वहीं समाजवादी पार्टी के एमएलसी वासुदेव यादव ने इसे जनता के असल मुद्दों से ध्यान भटकाने का एक राजनैतिक फैसला कहा है. उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार जनता का गरीबी और बेरोजगारी के मुद्दे से भटकाने के लिये, समय-समय पर नाम बदलने का काम करती है.

उधर फूलपुर लोकसभा सीट से सपा सांसद नागेन्द्र प्रताप सिंह पटेल ने इलाहाबाद शहर का नाम बदलकर प्रयाग राज किए जाने के फैसले के विरोध का ऐलान किया है. उन्होंने कहा है कि नाम बदलने से बेहतर कुंभ के नाम पर उजाड़े गए लोगों को बसाना जरूरी है. सपा सांसद ने आरोप लगाया है कि भाजपा ने जनता का विश्वास खो दिया है. इसलिए दोबारा विश्वास हासिल करने के लिए इस तरह के काम कर रही है. सपा सांसद ने इलाहाबाद का नाम बदलकर बीजेपी पर राजनीतिक फायदा लेने का भी आरोप लगाया है.

बता दें कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कुंभ मेले से पहले इलाहाबाद का नाम प्रयागराज करने का आश्वासन दिया है. सर्किट हाउस में पत्रकारों से बातचीत के दौरान सीएम योगी ने कहा कि इसके लिए प्रस्ताव आया है. राज्यपाल राम नाईक ने इस पर सहमति जताई है. प्रदेश सरकार इसके लिए जल्द ही प्रयास करेगी. बताया जा रहा है कि आगामी कैबिनेट बैठक में जिले के नाम को बदलने की मंजूरी सरकार दे सकती है.

सीएम योगी ने कहा, 'उत्तर प्रदेश सरकार ने भी इस प्रस्ताव को मान लिया है और जल्द ही इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज कर दिया जाएगा.' योगी ने कहा, 'गंगा और यमुना दो पवित्र नदियों के संगम का स्थल होने के नाते इलाहाबाद में सभी प्रयागों का राज है, इसलिए इलाहाबाद को प्रयागराज भी कहते हैं. अगर सब की सहमति होगी तो इलाहाबाद को प्रयागराज के रूप में ही जाना जाएगा.'

ये भी पढ़ें: 

कुंभ मेले से पहले इलाहाबाद का नाम बदलकर होगा 'प्रयागराज', राज्यपाल ने जताई सहमति

इलाहाबाद का नाम बदलने पर शुरू हुई सियासत, सपा सांसद ने जताया विरोध

इलाहाबाद का नाम प्रयागराज करना एक राजनैतिक फैसला: समाजवादी पार्टी

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 15, 2018, 11:38 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...