होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /देश में इमरजेंसी जैसे हालात, एक पार्टी, एक नेता की ओर बढ़ने के खतरनाक संकेत... पढ़ें सपा के अधिवेशन में पेश हुए 13 प्रस्ताव

देश में इमरजेंसी जैसे हालात, एक पार्टी, एक नेता की ओर बढ़ने के खतरनाक संकेत... पढ़ें सपा के अधिवेशन में पेश हुए 13 प्रस्ताव

Samajwadi party Executive Meet:  अधिवेशन में बीजेपी की नीतियों पर तीखा हमला

Samajwadi party Executive Meet: अधिवेशन में बीजेपी की नीतियों पर तीखा हमला

Samajwadi Party Executive Meet: अखिलेश यादव के राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने जाने के बाद सपा के अधिवेशन में कई आर्थिक और राजनी ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

2022 के विधानसभा चुनाव में जनता ने समाजवादियों को ही अपना वोट दिया
सपा के अधिवेशन में कई आर्थिक और राजनीतिक प्रस्ताव भी पेश किए गए
आर्थिक मुद्दे पर भी केंद्र और राज्य सरकार पर सवाल उठाए गए

लखनऊ. समाजवादी पार्टी के प्रांतीय और राष्ट्रीय अधिवेशन के आखिरी दिन गुरुवार को अखिलेश यादव को एकबार फिर सर्वसम्मति से पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष चुन लिया गया. जिसके बाद अखिलेश यादव ने बीजेपी पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि 2022 के विधानसभा चुनाव में जनता ने समाजवादियों को ही अपना वोट दिया था, लेकिन सरकारी मशीनरी ने आपसे यह अधिकार छीन लिया. हमारी शिकायतों पर निर्वाचन आयोग ने भी कोई ध्यान नहीं दिया.

अखिलेश यादव के राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने जाने के बाद सपा के अधिवेशन में कई आर्थिक और राजनीतिक प्रस्ताव भी पेश किए गए. सपा के कद्दावर नेता अंबिका चौधरी ने अधिवेशन में समाजवादी पार्टी के राजनैतिक-आर्थिक प्रस्ताव पेश किए, जिसमें कई बातों का जिक्र किया गया. जहां बीजेपी पर सीधा हमला बोला गया, वहीं आर्थिक मुद्दे पर भी केंद्र और राज्य सरकार पर सवाल उठाए गए.

इन मुद्दों पर हुई चर्चा
• चुनाव की निष्पक्षता को कलंकित करने में भाजपा आगे रही है

आपके शहर से (लखनऊ)

• सरकार के संरक्षण में नफ़रत का जहर फैलाया जा रहा है. लोकतांत्रिक प्रक्रिया को अप्रभावी बनाया जा रहा है. निरंकुशता जनतंत्र का गला घोट रही है. फासीवाद की राष्ट्र पर नियंत्रण करने की कोशिश चल रही है.

• देश में अघोषित आपातकाल जैसी स्थित है. ये स्थित वन लीडर, वन पार्टी की ओर आगे बढ़ने का खतरनाक संकेतक है.

• समाजवादी पार्टी विशेष अवसर के सिद्धांत के आधार पर आरक्षण व्यवस्था जारी रखने की पक्षधर है. भाजपा की मानसिकता इसे समाप्त करने की है.

• तीन साल में पहली बार बैंको के पास नकदी कम हुई, बैंक आरबीआई से लोन ले रहे हैं.

• आम जनता महंगाई, बेरोजगारी से परेशान है. केंद्र सरकार के दावे खोखले साबित हो रहे.

• दुनिया के सबसे अमीर आदमी की दौलत में 116 फीसद की बढ़ोत्तरी हुई और बाकी देश में गरीबी बढ़ गई.

• बिटकॉइन के जरिए कलाधन जुटाया जा रहा है, बहुराष्ट्रीय कंपनियों के मुकाबले भारतीय उद्योग को बढ़ावा देने की नीति होनी चाहिए.

• प्रधानमंत्री की सभी योजनाएं नमामि गंगे, स्किल इंडिया, स्मार्ट सिटी, बुलेट ट्रेन काशी को टोक्यो बनाने की योजना सब फेल.

•सरकार जमाखोरों और मुनाफाखोरों को संरक्षण दे रही.

• भाजपा सरकार ने मंडी व्यवस्था बर्बाद कर दी.

• नौजवानों को भ्रमित करने के लिए भाजपा सरकार ने अग्निवीर योजना भी शुरू करी, जिससे नौजवानों का भविष्य अंधकार में रहेगा.

• भाजपा के नेताओं के बिगड़े बोल से एक बड़ा समुदाय आहत हुआ है.

Tags: Akhilesh yadav, Samajwadi party, UP latest news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें