सुन्नी बोर्ड के चेयरमैन चुनाव में क्रॉस वोटिंग से अखिलेश खफा, सपा विधायक को कारण बताओ नोटिस

UP: सुन्नी वक्फ बोर्ड के चुनाव में क्रॉस वोटिंग के बाद सपा ने अपने विधायक को नोटिस जारी किया है.  (File Photo: अखिलेश यादव)

UP: सुन्नी वक्फ बोर्ड के चुनाव में क्रॉस वोटिंग के बाद सपा ने अपने विधायक को नोटिस जारी किया है. (File Photo: अखिलेश यादव)

Lucknow News: सुन्नी वक्फ बोर्ड के चेयरमैन पद के लिए हुए चुनाव में सपा विधायक की क्रॉस वोटिंग के चलते जुफर फारुकी ने चौथी बार जीत हासिल कर ली. सपा ने अब विधायक अबरार अहमद को कारण बताओ नोटिस जारी किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 10, 2021, 7:45 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड (Sunni Central Waqf Board) के चेयरमैन चुनाव (Chairman Election) में काफी नजदीकी मुकाबले में पूर्व चेयरमैन जुफर फारूकी (Zufar Farooqui) ने जीत हासिल की. वह चौथी बार बोर्ड के चेयरमैन चुने गए. दिलचस्प बात ये रही कि जुफर फारूकी ने इमरान माबूद को महज एक वोट से मात दी. और ये वोट समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के विधायक अबरार अहमद (MLA Abrar Ahmad) के क्रॉस वोटिंग से सामने आई. उधर क्रॉस वोटिंग के बाद समाजवादी पार्टी हाईकमान की तरफ से विधायक अबरार अहमद को कार बताओ नोटिस (Show cause Notice) जारी कर दिया गया है. विधायक को एक सप्ताह में पार्टी को जवाब देना होगा. माना जा रहा है कि विधायक पर पार्टी की तरफ से कार्रवाई तय है.

बता दें सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड में 8 लोग निर्विरोध चुने गए, जबकि 3 लोगों को उत्तर प्रदेश सरकार ने नामित किया था. इन 11 लोगों की वोटिंग में जुफर फारूकी के पक्ष में 6 वोट पड़े, जबकि इमरान माबूद को 5 वोट मिले. अबरार अहमद के एक वोट ने पूरा खेल पलटकर रख दिया और इमरान माबूद को इसकी कीमत अदा करनी पड़ी.

Youtube Video

सपा-बसपा के समर्थन से इमरान माबूद थे तगड़े दावेदार

आगे पढ़ें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज