सवर्णों के आरक्षण पर राम गोपाल यादव ने कहा, सरकार ने लांघी लक्ष्मण रेखा

दरअसल आरक्षण के जिन्न ने राजनीतिक दलों को ऐसे जकड़ लिया है कि कोई भी इससे उपर नहीं उठ सकता. संविधान बनने के साथ ही एससी-एसटी आरक्षण से इसकी शुरुआत हुई. उसके बाद मंडल कमीशन आ गया. और अब आर्थिक रुप से कमजोर आरक्षण की बात सामने आ गई.

News18Hindi
Updated: January 8, 2019, 3:02 PM IST
सवर्णों के आरक्षण पर राम गोपाल यादव ने कहा, सरकार ने लांघी लक्ष्मण रेखा
राम गोपाल यादव
News18Hindi
Updated: January 8, 2019, 3:02 PM IST
केंद्र की बीजेपी सरकार ने आर्थिक रूप से कमजोर सवर्णों के लिए आरक्षण का पासा फेंक कर मास्टरस्ट्रोक दांव खेला है. इसी कड़ी में  समाजवादी पार्टी के नेता राम गोपाल यादव ने मंगलवार को कहा कि अगर केंद्र सरकार लक्ष्मण रेखा लांघ कर ये आरक्षण ला रहा है, तो हम सरकार का समर्थन करते हैं. उन्होंने आरक्षण का समर्थन करते हुए मांग की है कि ओबीसी का उनकी आबादी के हिसाब से 54 प्रतिशत आरक्षण होना चाहिए.

बता दें, सवर्ण आरक्षण के फैसले से एससी, एसटी और ओबीसी के लिए आरक्षण की पुरानी व्यवस्था प्रभावित नहीं होगी. दरअसल, सरकार ने 10 फीसदी ईबीसी (आर्थिक रूप से पिछड़ा) कोटा का प्रस्ताव पेश किया है. मौजूदा समय में सरकारी नौकरियों में फिलहाल 49.5 फीसदी आरक्षण की व्यवस्था है. इससे अधिक आरक्षण के लिए सरकार को मौजूदा आरक्षण कानून में संशोधन करना पड़ेगा. सुप्रीम कोर्ट ने 50 फीसदी से अधिक आरक्षण पर रोक लगाई है.

कैबिनेट के सवर्णों को 10 फीसदी आरक्षण देने के फैसले से पहले अनुसूचित जाति (एससी) को 15 फीसदी, अनुसूचित जनजाति (एसटी) को 7.5 फीसदी और अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) को 27 फीसदी आरक्षण की व्यवस्था है. कैबिनेट के इस ऐतिहासिक फैसले का लाभ राजपूत, ब्राह्मण, भूमिहार, बनिया सहित आर्थिक रूप से पिछड़े वर्गों को मिलेगा.


Loading...

दरअसल आरक्षण के जिन्न ने राजनीतिक दलों को ऐसे जकड़ लिया है कि कोई भी इससे उपर नहीं उठ सकता. संविधान बनने के साथ ही एससी-एसटी आरक्षण से इसकी शुरुआत हुई. उसके बाद मंडल कमीशन आ गया. और अब आर्थिक रुप से कमजोर आरक्षण की बात सामने आ गई. यही वजह है कि यूपी की राजनीति में रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया ने अपनी पार्टी की नींव ही इसी पर रख डाली. तो क्या ऐसे में बीजेपी की केंद्र सरकार का ये मास्टरस्ट्रोक विपक्षियों पर भारी पड़ेगा. अब यह आने वाला वक्त ही बताएगा.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsAppअपडेट्स

ये भी पढ़ें:

सवर्ण आरक्षण का UP पर पड़ेगा बड़ा असर, लोकसभा की करीब 40 सीटों पर है दबदबा

भड़काऊ भाषण देने का मामला, पूर्वांचल यूनिवर्सिटी के VC के खिलाफ परिवाद दाखिल

पीलीभीत: जहरीला दूध पीने से एक ही परिवार के 5 लोगों की मौत, मचा हड़कंप

गाजियाबाद में ताबड़तोड़ एनकाउंटर, हत्थे चढ़ा इनामी बदमाश सौरव

बहराइच: तेज रफ्तार ट्रक ने बाइक सवार को रौंदा, 3 की मौत

 

 
First published: January 8, 2019, 3:01 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...