लाइव टीवी

झारखंड चुनाव के नतीजे BJP के नीचे आने की शुरुआत: अखिलेश यादव
Lucknow News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: December 23, 2019, 1:45 PM IST
झारखंड चुनाव के नतीजे BJP के नीचे आने की शुरुआत: अखिलेश यादव
सरकार पोस्टमार्टम रिपोर्ट क्यों नहीं करती सार्वजनिक (फाइल फोटो)

शुरुआती रुझानों में बीजेपी और झारखंड मुक्ति मोर्चा गठबंधन एक-दूसरे को कांटे की टक्कर देता दिख रहा है. हालांकि अभी एक भी सीट के चुनाव नतीजे नहीं आए हैं.

  • Share this:
लखनऊ. झारखंड विधानसभा चुनाव (Jharkhand Assembly Election 2019) के नतीजे सोमवार को आने शुरू हो गए हैंं. इसी कड़ी सोमवर को झारखंड विधानसभा चुनाव के नतीजों पर समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने कहा बीजेपी के नीचे आने की शुरुआत हो चुकी है. उन्होंने कहा कि सरकार प्रदेश के किसानों को धोखा दे रही है. प्रदेश भर में धान नहीं ख़रीदा गया. अर्थव्यवस्था नीचे जा रही है. सपा किसानों के साथ है.

शुरुआती रुझानों में बीजेपी और झारखंड मुक्ति मोर्चा गठबंधन एक-दूसरे को कांटे की टक्कर देता दिख रहा है. हालांकि अभी एक भी सीट के चुनाव नतीजे नहीं आए हैं लेकिन राजधानी रांची (Ranchi) में जेएमएम (JMM) नेता और महागठबंधन (Grand Alliance) के मुख्यमंत्री उम्मीदवार हेमंत सोरेन (Hemant Soren) के समर्थन में पोस्टर लग गए हैं. इसमें लिखा है- 'झारखंड की पुकार है, गठबंधन की सरकार है. हेमंत अबकी बार है.'

हालांकि पोस्टर किसने लगाया है ये अभी स्पष्ट नहीं है लेकिन पोस्टर में महागठबंधन के तीनों सहयोगी- जेएमएम, कांग्रेस और आरजेडी का चुनाव सिंबल छपा है. पोस्टर के नीचे शांतनु मिश्रा का नाम लिखा है. दरअसल 20 दिसंबर को पांचवें और अंतिम चरण का चुनाव खत्म होने के बाद हेमंत सोरेन ने अपनी जीत का दावा किया था. उन्होंने कहा था कि महागठबंधन की जीत होगी और बीजेपी की करारी हार होगी.बता दें कि हेमंत सोरेन इस बार दो सीटों से चुनाव मैदान में हैं. वो दुमका और बरहेट सीट से ताल ठोक रहे हैं.



2014 के विधानसभा चुनाव में भी हेमंत ने इन दोनों सीटों से चुनाव लड़ा था. तब उन्हें केवल बरहेट सीट से जीत हासिल हुई थी. जबकि दुमका सीट पर उन्हें बीजेपी की लुईस मरांडी के हाथों हार मिली थी. झारखंड की 81 विधानसभा सीटों के लिए पांच चरणों में चुनाव कराए गए हैं. 30 नवंबर को सबसे पहला चरण का मतदान हुआ था जबकि 20 दिसंबर को पांचवें चरण का चुनाव हुआ था.



ये भी पढ़ें:

CAA बवाल: यूपी में उपद्रवियों पर एक्शन शुरू, मुजफ्फरनगर में 67 दुकानें सील

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 23, 2019, 1:45 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading