एक करोड़ नौकरी देने पर समाजवादी पार्टी का योगी सरकार पर तंज, किया ये Tweet

समाजवादी पार्टी (फाइल फोटो)
समाजवादी पार्टी (फाइल फोटो)

समाजवादी पार्टी का यह तंज 26 जून को यूपी में होने वाले मेगा रोजगार अभियान को लेकर आया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 24, 2020, 11:51 AM IST
  • Share this:
लखनऊ. 26 जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की मौजूदगी में यूपी में एक करोड़ नौकरी देने जा रही योगी सरकार (Yogi Government) पर समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) ने तंज कसा है. सरकार के मेगा रोजगार मेले पर चुटकी लेते हुए समाजवादी पार्टी ने कहा है कि एक करोड़ नौकरी देने का भ्रामक प्रचार किया जा रहा है. इतना ही नहीं समाजवादी पार्टी ने मुख्यमंत्री को झूठा भी करार दिया है.

समाजवादी पार्टी के ऑफिसियल ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर लिखा, " 'रोगी सरकार' ने सिर्फ युवाओं को ठगने का काम किया है! 2017 से 2020 तक एक भी नौकरी भर्ती बिना भ्रष्टाचार के पूरी ना कर सके यूपी में. झूठ बोलने में नंबर-1 CM इन्वेस्टमेंट मीट में अरबों रुपए फूंक कर एक सुई का कारखाना तक ना लगा सके. 1 करोड़ नौकरी देने का भ्रामक प्रचार करवा रहे."

दरअसल, समाजवादी पार्टी का यह तंज 26 जून को यूपी में होने वाले मेगा रोजगार अभियान को लेकर आया है. 26 जून को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक साथ एक करोड़ लोगों को रोजगार देकर नया रिकॉर्ड बनाएंगे. इतना ही नहीं उत्तर प्रदेश देश का पहला राज्य होगा जो एक साथ एक करोड़ लोगों को रोजगार देगा. सीएम योगी के 'मिशन रोजगार' का आगाज खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) करेंगे. लॉकडाउन के बाद यह पहला मौका होगा जब प्रधानमंत्री किसी राज्य से जुड़े कार्यक्रम में शिरकत करेंगे.



अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश अवस्थी ने बताया कि मंगलवार को मुख्यमंत्री ने अधिकारियों संग इसकी समीक्षा की. अवस्थी ने बताया कि 26 जून से प्रदेश में रोजगार का मेगा अभियान शुरू किया जाएगा. पीएम नरेंद्र मोदी इसकी शुरुआत करेंगे.
इन क्षेत्रों में मिलेगा रोजगार
गौरतलब है कि लॉकडाउन के दौरान यूपी लौट रहे प्रवासी श्रमिकों और कामगारों को रोजगार मुहैया करवाना सरकार के लिए सबसे बड़ी चुनौती थी. लेकिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि वापस लौट रहे प्रवासी कामगार हमारे लिए पूंजी हैं. साथ ही उन्होंने अधिकारीयों के साथ बैठक कर रोजगार के लिए कार्ययोजना पर काम शुरू किया. इसके लिए एक हाई लेवल कमेटी भी बनाई गई थी. गहन मंथन और संसाधनों के समन्वय के साथ अब इसे जमीन पर उतारने की तैयारी है. प्रदेश सरकार के पास 36 लाख प्रवासी कामगार का पूरा डेटा बैंक मैपिंग के साथ तैयार है. योगी सरकार इन कामगारों को एमएसएमई, एक्सप्रेस वे, हाइवे, यूपीडा, मनरेगा आदि क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर रोजगार से जोड़ भी चुकी है. अब ये आंकड़ा एक करोड़ के पार पहुंचने वाला है. प्रदेश में एमएसएमई इकाई से क्षमता बढ़ाने और खुद को तकनीकी रूप से अपग्रेड करने के लिए 5 मई को 57 हजार से अधिक इकाइयों को ऑनलाइन लोन दिया गया. 26 जून के कार्यक्रम में भी एमएसएमई को लोन दिया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज