UP Assembly By Election: देवरिया से सत्य प्रकाश मणि त्रिपाठी को मिला BJP का टिकट

यूपी विधानसभा उपचुनाव में देवरिया सीट से बीजेपी ने प्रत्याशी का ऐलान कर दिया है.  (सांकेतिक तस्वीर)
यूपी विधानसभा उपचुनाव में देवरिया सीट से बीजेपी ने प्रत्याशी का ऐलान कर दिया है. (सांकेतिक तस्वीर)

बीजेपी (BJP) के प्रदेश उपाध्यक्ष विजय बहादुर पाठक ने कहा कि सभी सीटों पर टिकट दावेदारों की फेहरिस्त लंबी थी, पार्टी ने कार्यकर्ताओं पर ही भरोसा जताया है.

  • Share this:
लखनऊ. भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने देवरिया सदर विधानसभा सीट (Deoria Sadar Assembly Seat) के उपचुनाव के लिए प्रत्याशी घोषित कर दिया है. पार्टी ने शिक्षण कार्य करने वाले अपने पुराने कार्यकर्ता सत्यप्रकाश मणि पर दांव लगाया है. इससे पहले बीजेपी ने 6 प्रत्याशियों की घोषणा की थी, जिसमें 4 सीटों पर कार्यकर्ताओं को तरजीह दी गई. वहीं, 2 सीटों पर दिवंगत नेताओं के पत्नियों को टिकट दिया गया.

नौगांव सादात से जहां कोरोना संक्रमण से दिवगंत हुए पूर्व मंत्री चेतन चौहान की पत्नी संगीता चौहान को पार्टी ने प्रत्याशी बनाया है, वहीं बुलंदशहर सीट से दिवंगत विधायक वीरेंद्र सिरोही की पत्नी उषा सिरोही को पार्टी ने टिकट दिया है, जबकि 5 सीटों पर पार्टी ने टुंडला में प्रेमपाल धनगर, बांगरमऊ से श्रीकांत कटियार, घाटमपुर से उपेंद्र पासवान और देवरिया मे सत्यप्रकाश मणि त्रिपाठी और मल्हनी से मनोज सिंह जैसे कार्यकर्ता पर दांव लगाया है.

पार्टी उपाध्‍यक्ष ने कही यह बात
पार्टी प्रदेश उपाध्यक्ष विजय बहादुर पाठक कहते हैं कि सभी सीटों पर टिकट दावेदारों की फेहरिस्त लंबी थी. पार्टी ने कार्यकर्ताओं पर भरोसा जताया है. दो सीटों पर टिकट परिवार को दिए जाने पर विजय बहादुर पाठक कहते हैं कि भारतीय जनता पार्टी ने पहले के उपचुनावों में भी कार्यकर्ताओं को ही प्राथमिकता दी थी. कई बार परिस्थितिवश दोनों प्रकार के निर्णय लेने पड़ते हैं. कार्यकर्ता प्राथमिकता में होते हैं और इस बार का टिकट वितरण उदाहरण है.
10 नवंबर काउंटिंग


बताते चलें कि 3 नवंबर को प्रदेश के सात सीटों पर मतदान होना है, जिसके लिए नामांकन चल रहा है. 16 अक्टूबर नामांकन की अंतिम तिथि है. 10 नवंबर को मतगणना होगी. 7 सीटों में से छह सीटें टुंडला, नौगांव सादात, बुलंदशहर, बांगरमऊ, घाटमपुर, देवरिया बीजेपी की रही हैं और मल्हनी समाजवादी पार्टी की रही है. टुंडला सीट एसपी बघेल के लोकसभी चुनाव जीतने और उनके विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा देने से खाली हुई है, वहीं नौगांव सादात, बुलंदशहर, घाटमपुर और देवरिया विधायकों के निधन से खाली हुआ है. बांगरमऊ सीट विधायक कुलदीप सेंगर की सदस्यता खत्म हो जाने के कारण खाली है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज